Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

शिवपाल यादव बोले- बीजेपी को हटाना ही है जनाक्रोश रैली का मकसद, देखें तस्वीरें

शिवपाल यादव की जनाक्रोश रैली में मुलायम सिंह यादव और उनके छोटे बेटे आदित्य यादव और बहू अपर्णा यादव ने शिरकत की। इस दौरान तमाम दिग्गज नेताओं ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 9 Dec 2018 7:00 AM GMT

शिवपाल यादव बोले- बीजेपी को हटाना ही है जनाक्रोश रैली का मकसद, देखें तस्वीरें
X
शिवपाल की जनाक्रोश रैली में पहुंचे मुलायम सिंह यादव, देखें तस्वीरें
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: शिवपाल यादव की जनाक्रोश रैली में मुलायम सिंह यादव और उनके छोटे बेटे आदित्य यादव और बहू अपर्णा यादव ने शिरकत की। इस दौरान तमाम दिग्गज नेताओं ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला। बता दें, शिवपाल ने बड़े भाई मुलायम को जनाक्रोश में आने का न्योता भेजा था। मगर पहले ये कयास लगाए जा रहे थे कि नेता जी इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे लेकिन वह यहां पहुंच गए।

यह भी पढ़ें: टीवी के बाद अब विवादों से गोपी बहू ने जोड़ा नाता, पुलिस कर रही पूछताछ

बीजेपी पर बरसे अंसार रजा

मंच पर पहुंचकर अंसार रजा ने कहा कि जिस मंच पर नेताजी जैसा लौह पुरुष मौजूद हों, उसको कैसे बीजेपी से जोड़ा जा सकता है।बीजेपी से जोड़ने की कोशिश हुई है। नेताजी जैसा शख्स कभी बीजेपी का साथ नहीं दे सकता। मजबूर होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया गया है। नेहरू से लेकर नेताजी तक मुसलमानों ने अपना नेता माना लेकिन अपनी क़ौम के किसी को नेता नहीं माना।

अपर्णा यादव ने भी दिया बयान

इस दौरान मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने कहा कि आज का जन सैलाब ये प्रमाण है कि शेर को चोट नही देना चाहिए क्योंकि जब वो जाग खड़ा होता है तो सभी जानते हैं कि जंगल में उसी का राज चलता है। लोहिया को चोट पहुंची तो समाजवाद आया। नेताजी को चोट पहुंची तो सबको बराबरी का दर्जा मिला।

यह भी पढ़ें: रामपुर में भीषण सड़क हादसे के बाद कार में लगी, 4 की मौत, 4 घायल

अब चाचा जी को चोट पहुंची है तो आप खुद समझ सकते हैं कि क्या होना वाला है। कम्पनी राज चल रहा है। बड़ी कंपनियों के हाथ मे सरकार खेल रही है। जीएसटी कठिन नियम बनाया गया है। व्यापारी परेशान हैं। गढ्ढा मुक्त सड़क आज तक नही हो पाई है। प्रदेश में किसी की सुनवाई नही हो रही है।

यह भी पढ़ें: रिटायर्ड IG के डॉक्टर बेटी ने 14वीं मंजिल से कूदकर की आत्महत्या, कल IAS से होनी थी शादी

परिवर्तन का मौका है 2019 में हमारे साथ कुच कीजिये। चाचा जी ने बुलाया है और बोलने का मौका भी दिया। जिस तरह से करना होगा तन-मन-धन से साथ दूंगी।

साम्प्रदायिक शक्तियां फिर उठा रहीं सिर: मुलायम

शिवपाल सिंह यादव के जनाक्रोश में पहुंचे मुलायम सिंह यादव ने कहा कि कल दिल्ली में सर्वदलीय बैठक है, उसमें जाना अनिवार्य है इसलिए ज़्यादा लंबा भाषण नही देंगे। एक बात कहेंगे कि आज देश के सामने गंभीर समस्या है। कुछ साम्प्रदायिक शक्तियां फिर सर उठा रही हैं। जिसके लिए मुझे संघर्ष करना पड़ा था।

अब लगता हैं ज़िन्दगी भर संघर्ष करना पड़ेगा। चीन और पाकिस्तान मिल कर सीमा पर क़ब्ज़ा कर रहे हैं। हमने लोकसभा मे भाषण दिया था। सभी दिलों ने सराहा था पीएम ने बुलाया था। हिन्दू-मुसलमान सब बराबर हैं। एक सवाल ये है कि देश की सीमा के लिए नौजवान शहीद भी हो गए। हमारी सेना दुनिया की सब से बहादुर सेना है।

दुश्मन के सामने झुकेंगे नही, लड़ेंगे। मुक़ाबला किसान और नौजवान कर सकते हैं। जवानों को रोजगार दिया जाए और किसानों सुविधा मील तो हालात बदल जायेगा। पाकिस्तान या चीन से मुकाबला है। समाजवादी पार्टी सबको बराबर मानती है। देश को मज़बूत करना है। इस सभा में 80 फीसदी नौजवान हैं। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को मजबूत करना है। यही पार्टी लड़ेगी। देश को मजबूत यही पार्टी करेगी।

बीजेपी को हटाने है मकसद: शिवपाल यादव

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि यह रैली इस देश से बीजेपी को हटाने के लिए है। इस रैली में किसान, मजदूर, अल्पसंख्यक, मुसलमान से लेकर युवा दलित सब मौजूद हैं। यह पहला मौका है जब रमाबाई मैदान में दलित, पिछड़े, गरीब और किसान सब यहां उपस्थित हैं।

यहां से संदेश जाना है। यही से परिवर्तन होना है। रैली का नाम जनाक्रोश रैली इसलिए रखा था कि देश और प्रदेश में जब बीजेपी की सरकार बनी है सब दुखी हैं। देश विषम परिस्थितियों से गुज़र रहा है। देश पर संकट है। बीजेपी की सरकार जब-जब आई है, तब इन्होंने ने भाई को भाई से लड़ने का काम किया। देश को कमज़ोर करने का काम किया।

देश क़ब्ज़ा और क़र्ज़ा मुक्त होना चाहिए। देश पर बड़ा क़र्ज़ा है। एक हज़ार छियासी वर्गमील पर पाकिस्तान का क़ब्ज़ा है। चीन ने भी सीमा पर क़ब्ज़ा कर रखा है। देश पर क़र्ज़ा और क़ब्ज़ा बढ़ रहा है। आप का सीना 56 इंच का होगा लेकिन दम नही है। आप के रहते क़र्ज़ा और क़ब्ज़ा दोनों बढ़ा है।

एक के बदले दस सर लाने का वादा था, क्या हुआ। रोज़ सीमा पर जवान शहीद हो रहे हैं। भ्रष्टाचार कितना खत्म हुआ है। जिलाधिकारी के यहां भी लेकिन सुनवाई नही हो रही। विदेशों से काला धन लाने का वादा किया था। हर किसी को 15 लाख देने का वादा था लेकिन क्या हुआ। पाकिस्तान और चीन लगातार क़ब्ज़ा कर रहा है। हमारे साथ छोटे-छोटे दल हैं। हमारे साथ 44 छोटे दल हैं। नेताजी साथ हैं। 40 साल उनके साथ काम किया है।

हम हमेशा नेताजी के साथ और समाजवादी पार्टी के सतह रहना चाहते थे। मैंने कभी कोई पद नहीं माँगा। सीएम, मंत्री किसी का पद भी नही माँगा। नेताजी का आदेश हमेशा माना। अपने परिवार में भी छोटे और बड़े का आदेश माना है। हमने भी प्रयास किया आप ने भी प्रयास किया। जिन की वजह से चुगलखोरों की वजह से जिन के पास कोई जनाधार नही था उन के कहने पर सब हुआ।

हम ने आप की इजाज़त से पार्टी बनाई। भगवती सिंह,राम नरेश, राम सेवक यादव बैठे हैं। सबके सामने आपने इजाज़त दी थी। एक दिन बाद फिर पूछा तब पार्टी बनाई है। किसान और गरीब परेशान है। उत्पीडन हो रहा है लड़कियां जो स्कूल जाटी है वो भी खतरे में हैं। हर कोई तनाव में है। छोटा-बड़ा वयापारी हर कोई तनाव में है। हर कोई परेशान है।

1989 अक्टूबर में जब आप सीएम थे। आपने बाबरी मस्जिद बचाई थी। देश मे दंगे को रोका था। 1992 में क्या हुआ बाबरी मस्जिद गिराई गई। बावजूद इसके की सरकार ने एफिडेविड लगाया था। लोग मुसलमानों का नाम लेने में घबराने लगे हैं। हम 25 नवम्बर को सड़कों पर निकल पड़े थे कि अयोध्या में दंगे नही होने देंगे।

धारा 144 का उल्लंघन होता है, तो राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए। संविधान की रक्षा के लिए हमारी पार्टी सड़कों पर उतरी। ईवीएम से बेमानी हो सकती है। बैलेट पेपर से वोटिंग होनी चाहिए।

आदित्य यादव ने की हिन्दू-मुस्लिम डिबेट की बात

आदित्य यादव ने कहा कि आज के समय सरकार हिन्दू-मुस्लिम डिबेट को बढ़ावा दे रही केंद्र और राज्य सरकार विकास का कोई काम नहीं कर रही है। संविधान सब से बड़ी ताकत देता है। आज बहुत सारी दिक़्क़त आ रही हैं।

आदित्य ने कहा कि हम सबको मज़बूती से लड़ना है। 2019 के चुनाव में हम देशभर में संदेश देंगे। प्रदेश का जो माहौल हौ वो डरावना है, ऐसे में समाजवाद के लिए काम करना होगा। भगवती सिंह जी, नेताजी और शिवपाल सिंह यादव ने समाजवाद के लिए काम किया।

हम सुरक्षा की बात करेंगे। हिन्दू-मुस्लिम की बात नहीं करेंगे। हम विकास की बात करेंगे। विकास के लिए बहुत काम हो सकता है लेकिन यहां जाति धर्म की बात हो रही। शहरों के नाम बदल जाए रहे हैं। अगर करना ही तो नया शहर बनाइए वो विकास होगा।

बीजेपी पर हमलावर हुए बहुजन मुक्ति मोर्चा अध्यक्ष वीएल मातंग

बहुजन मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष वीएल मातंग ने कहा कि आज मुझे वो दिन याद आ रहा है, जब कांशीराम और नेताजी साथ आये थे तो प्रदेश की राजनीति बदल दिया था। आज से 25 साल पहले का वक़्त याद आ गया। अब हम लोग देश की राजनीति बदल सकते हैं। देश की फिजा बदलने वाली है। 2019 में माहौल बदल जाएगा।

जनता में जो आक्रोश है, उसकी सब से बड़ी वजह ईवीएम है। 8 अक्टूबर 2013 को सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ईवीएम से पारदर्शी चुनाव नही हो सकता। इसके बाद भी 2014 के अलावा कई राज्यों में चुनाव हो गया। तीन तलाक़ पर पीएम कहते हैं कि पाबन्दी होनी चाहिए क्योंकि कई देशों में पाबंदी है। फिर 130 देशों में ईवीएम पर पाबन्दी है, तो हमारे देश मे क्यों नही।

25 हज़ार लोगों के लिए अयोध्या में 75 हज़ार फोर्स लगाई गई। उन्हें सफलता नही मिली तो बुलंदशहर में गौ हत्या के नाम पर साज़िश शुरू कर दिया। दलितों को भ्रमित करने की कोशिश की जाती है। डीएनए कार्ड जारी करना चाहिए। सरदार पटेल का पुतला चीन से, बुलेट ट्रेन जापान से, राफेल फ्रांस से तो यहां सिर्फ पकोड़ा ही बनाना है क्या।

विदेशी मानसिकता के लोगों को सत्ता से उखाड़ फेंकना चाहिए। 56 इंच का सीना झूठ बोलकर जी रहा है। जीना ही उनका कार्यक्रम है। 4।5 साल में कोई काम मोदी सरकार ने काम नही किया। लाख से ज़्यादा महिलाओं से बलात्कार हुआ। छोटी-छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार हुआ। हज़ारों किसानों ने आत्महत्या की।

बेटी बचाव बेटी पढ़ाओ और किसानों के लिए, मुसलमानों को माब लॉन्चिंग के नाम पर टारगेट किया जा रहा है। एससी/एसटी को टारगेट बनाया का रहा है। कलेक्टर का बच्चा और गरीब का बच्चा एक स्कूल में पढ़ना चाहिए तब पता चलेगा कौन क़ाबिल है। अब तुम देवी-देवताओं को बाँट रहे हो। क्या अब देवी-देवताओं के भी प्रमाणपत्र जारी करोगे क्या।

12 जनवरी से हर मण्डल पर रैली करेंगे। बिहार में भी रैली करेंगे। 2019 की दिशा बदल देंगे। 80 सीटों पर लड़ेंगे। हमारा इरादा भाजपा को हराना है। आपके घर मे चौकीदार हो और चोरी हो जाये तो क्या करोगे 2019 में चौकीदार बदलना ज़रूरी है। हम भाजपा के लिए काम नही कर रहें हैं। जहां नेताजी हों वहां भाजपा पहुँच ही नही सकती हैं।

शादाब फ़ातिमा ने समाजवाद को ज़िंदा रखने की बात कही

पूर्व मंत्री शादाब फ़ातिमा ने कहा कि शिवपाल सिंह यादव ने खून के एक क़तरे को जलाकर समाजवाद को ज़िंदा रखा है। बीजेपी के लोग शिवपाल को मिटाना चाहते हैं। साल 2019 शिवपाल सिंह यादव और मुलायम सिंह यादव जी का है।

यहां देखें तस्वीरें

शिवपाल की जनाक्रोश रैली में पहुंचे मुलायम सिंह यादव, देखें तस्वीरें

शिवपाल यादव की जनाक्रोश रैली की यहां देखें ख़ास तस्वीरें

शिवपाल यादव की जनाक्रोश रैली की यहां देखें ख़ास तस्वीरें

शिवपाल यादव की जनाक्रोश रैली की यहां देखें ख़ास तस्वीरें

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story