×

मायावती न नेता जी की और न मेरी बहन, फिर कैसे बनीं अखिलेश की बुआ?: शिवपाल

शिवपाल यादव ने मंच से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती पर जमकर निशाना साधा। शिवपाल ने निशाना साधते हुए कहा कि न तो उन्होंने और न ही कभी मुलायम सिंह यादव ने मायावती को बहन जी बनाया तो आखिर अखिलेश यादव की बुआ वह कैसे बन गईं?।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 27 Jan 2019 7:14 AM GMT

मायावती न नेता जी की और न मेरी बहन, फिर कैसे बनीं अखिलेश की बुआ?: शिवपाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

इटावा: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने उत्तर प्रदेश की फिरोजाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा की है। शिवपाल की इस घोषणा के बाद एक बार फिर चाचा-भतीजे के बीच जंग देखने को मिल सकती है। इटावा एक सम्मान समारोह में पहुंचे शिवपाल ने यह ऐलान किया।

यह भी पढ़ें.....ऑक्सफोर्ड ने ‘नारी शक्ति’ को चुना साल 2018 का हिन्दी ‘वर्ड ऑफ द ईयर’

फिरोजाबाद से अक्षय यादव हैं सासद

इटावा के नगला हरजु में मंच से शिकाहाबाद से सपा विधायक हरिओम यादव ने शिवपाल सिंह यादव के फिराजबाद से लोकसभा चुनाव लड़ने का प्रस्ताव रखा था। बता दें कि इस समय फिरोजाबाद से सपा के राज्यसभा सांसद रामगोपाल यादव के पुत्र अक्षय यादव हैं।

यह भी पढ़ें.....पीएम मोदी का तमिलनाडु और केरल दौरा आज, करेंगे चुनावी आगाज

'अखिलेश यादव की मायावती कैसे बनीं बुआ?'

शिवपाल यादव ने मंच से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती पर जमकर निशाना साधा। शिवपाल ने निशाना साधते हुए कहा कि न तो उन्होंने और न ही कभी मुलायम सिंह यादव ने मायावती को बहन जी बनाया तो आखिर अखिलेश यादव की बुआ वह कैसे बन गईं?। और बताओ, बुआ का कोई भरोसा है, कहां चली जाएं?'

यह भी पढ़ें.....ऋषि कपूर ने खुद अपनी सेहत को लेकर कही ये बात, धैर्य दें उनको भगवान

'ऐसे लोगों पर कैसे भरोसा किया जाये?'

उन्होंने कहा कि बहन जी ने अब अखिलेश को बबुआ बना लिया है, बबुआ ने अपने बाप को धोखा दिया और बुआ ने अपने भाइयों (कलराज मिश्र और मोदी राखी बांधी कर) को धोखा दिया। चाचा शिवपाल यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि मैंने अखिलेश के लिए पढ़ाई से लेकर क्या क्या नहीं किया, लेकिन ऐसे लोगों पर कैसे भरोसा किया जाये? जिसने बाप को बाप नहीं समझा और मुझे चाचा, इसलिए मैंने नई पार्टी बनाई हमारा यह सफर मुश्किलों से भरा है, लेकिन मुझे इस आग के दरिया में जाना है और तप कर निकलना है।

यह भी पढ़ें.....24 घंटे में सुलझा सकते हैं अयोध्या विवाद: योगी आदित्यनाथ

उन्होंने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इटावा में थाने बिक रहे हैं, तहसील में बिना पैसा कोई काम नहीं होता कितनी लूट मची है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story