चौंकाने वाला सर्वे: यूपी वाले रहें सावधान, ये लोग ज्यादा हो रहे कोरोना संक्रमित

कोरोना संक्रमण को लेकर अब तक की रिपोर्ट के आधार पर प्रदेश में 0-20 आयु वर्ग के 16 प्रतिशत, 21-40 आयु वर्ग के 44 प्रतिशत, 41-60 आयुवर्ग के 27 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 13 प्रतिशत कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिले हैं।

Published by Vidushi Mishra Published: April 9, 2020 | 12:38 pm
Modified: April 9, 2020 | 12:48 pm

चौंकाने वाला सर्वे: यूपी वाले रहें सावधान, ये लोग ज्यादा हो रहे कोरोना संक्रमित

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: प्रदेश में कोरोना से प्रभावित लोगों में सबसे अधिक २१ से ४० आयु वर्ग के लोग हैं। कोरोना संक्रमण को लेकर अब तक की रिपोर्ट के आधार पर प्रदेश में 0-20 आयु वर्ग के 16 प्रतिशत, 21-40 आयु वर्ग के 44 प्रतिशत, 41-60 आयुवर्ग के 27 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 13 प्रतिशत कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिले हैं। जिन जनपदों में एक भी केस उजागर नहीं हुआ है वहां भी निरन्तर सेनेटाइजेशन की कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। सभी कोविड अस्पतालों एवं मेडिकल काॅलेजों में दवाओं, रक्षा रसायन एवं सुरक्षा उपकरणों की आपूर्ति सुनिश्चित कर दी गई है, कहीं भी संसाधनों की कोई कमी नहीं है।

ये भी पढ़ें…अभिशाप बना ये इंसान: पूरी दुनिया में मचाया हाहाकार, इन गलतियों से फैली महामारी

हाॅट स्पाॅट क्षेत्र में मकानों की सूची तैयार

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया किकोरोना से संक्रमित 15 जनपदों के चिन्हित हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों को इन्टेंसिव लाॅक डाउन में रखा जायेगा। हाॅट स्पाॅट क्षेत्र में फायर इंजन से सेनेटाइजेशन किया जायेगा। इसके अतिरिक्त हाॅट स्पाॅट क्षेत्र में मकानों की सूची तैयार की जायेगी।

आवश्यक सेवाओं में लगे हुए व्यक्तियों को छोड़कर शेष सभी व्यक्तियों के पास निरस्त करते हुए सघन पेट्रोलिंग तथा 112 की सेवा वाहनों की विशेष ड्यूटी लगाई जायेगी।

उन्होंने बताया कि आवश्यकता पड़ने पर अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस का प्रयोग किया जायेगा तथा किसी भी दशा में निजी वाहन-प्रयोग की अनुमति नहीं दी जायेगी। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक प्रदेश के 37 जिलों से 343 कोरोना पाॅजिटिव के मामले सामने आए हैं इनमें से 26 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। 14 नये मेडिकल काॅलेजों में भी टेस्टिंग सुविधा शुरू की जायेगी।

ये भी पढ़ें…कोरोनाः अपना फर्ज निभाएं, इसमें कोताही न करें, इतना भय, समझ से परे है

पाॅजिटिव पाये गये मरीजों में 187 मरीज तब्लीगी जमात के

उन्होंने बताया कि कुल पाॅजिटिव पाये गये मरीजों में 187 मरीज तब्लीगी जमात के हैं। प्रदेश में कोरोना मरीजों के लिए 10 हजार आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की गई है। एसिम्प्टोमैटिक मरीजों को जिनमें स्पष्ट लक्षण नहीं मिले हैं, उनके उपचार के लिए 1ः1 अनुपात में ‘‘एल-1 अटैच्ड फैसिलिटी’’ की व्यवस्था की जा रही है।

मरकज में रोजना जुटते थे इतने हजार लोग, जांच में जुटा क्राइम ब्रांच

इसके लिए कोविड अस्पताल के पास ही लाॅज, गेस्ट हाउस आदि स्थान को लिया जायेगा। इससे हमारे पास मरीजों के उपचार के लिए बेड की संख्या लगभग 20 हजार हो जायेगी।

उन्होंने कहा कि अलग-अलग जनपदों के कोविड मरीजों की पूलिंग करके मण्डल स्तर पर किसी एक ही चिकित्सालय पर उनका उपचार कराया जाय जिससे मरीजों के उपचार में लगे चिकित्सकों एवं अन्य संसाधनों का समुचित सदुपयोग सुनिश्चित किया जा सके।

ये भी पढ़ें…कोरोना से दुनिया में आएगी ऐसी तबाही, न पहले किसी ने देखी और न सुनी होगी