कोरोना से दुनिया में आएगी ऐसी तबाही, न पहले किसी ने देखी और न सुनी होगी

विश्व व्यापार संगठन के प्रमुख रोबर्टों ऐजेवेदो ने बुधवार को आगाह करते हुए कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया भीषण वैश्विक मंदी की चपेट में आ सकती है।

Published by Aditya Mishra Published: April 9, 2020 | 12:10 pm
Modified: April 9, 2020 | 12:14 pm

जिनेवा: विश्व व्यापार संगठन के प्रमुख रोबर्टों ऐजेवेदो ने बुधवार को आगाह करते हुए कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया भीषण वैश्विक मंदी की चपेट में आ सकती है।

उन्होंने कहा कि यह मंदी ऐसी होगी जिसे अबतक हमने न सुना है और न पढ़ा है। उन्होंने जिनेवा में एक तरह से संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम आज जो सामना कर रहे हैं, उससे विश्व भीषण आर्थिक मंदी में जा सकता है। यह मंदी ऐसी होगी जिसके बारे में हमने अबतक न पढ़ा है और न सुना है।’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा यह लक्ष्य होना चाहिए कि सतत आर्थिक वृद्धि के लिये जो भी उपाय हैं, उसका इस्तेमाल करे ताकि स्थिति में बदलाव लाया जा सके।’’ विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण वैश्विक व्यापार में 2020 में एक तिहाई तक की गिरावट आने की आशंका है। संगठन ने कहा कि आंकड़े भयावह होंगे।

ये भी पढ़ें…कोरोना से मौत होने पर कब करना चाहिए अंतिम संस्कार, किन बातों का रखें ध्यान

32% तक घट सकता है वैश्विक व्यापार

WTO ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण वैश्विक व्यापार के 2020 में एक तिहाई तक घटने की आशंका है। संगठन ने एक बयान में कहा, ‘विश्व व्यापार में 2020 में 13 फीसदी से लेकर 32 फीसदी तक की गिरावट आने की आशंका है।

इसका कारण कोरोना वायरस के कारण सामान्य आर्थिक गतिविधियां और जीवन बुरी तरीके से प्रभावित होना है।’संगठन ने यह भी कहा कि 2021 में विश्व व्यापार में 20-24 पर्सेंट के रीबाउंड की उम्मीद है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि कोरोना वायरस कितने समय तक रहता है। बहरहाल इस रिकवरी को लेकर जो अनुमान हैं वे भी अनिश्चित हैं।

 

कोविड-19 केस: इन 8 राज्यों की बढ़ी मुश्किलें, यहां कोरोना के मरीजों की संख्या हुई दोगुनी

मिलकर करना होगा काम

WTO प्रमुख ने कहा कि इस संकट से निपटने में किसी देश के अकेले काम करने से बेहतर नतीजे मिलकर काम करने में सामने आएंगे। एक्सपर्ट्स का मानना है कि ऐसे हालात में तकरीब हर रीजन में ट्रेड की गिरावट दोहरे अंकों में होगी। खासतौर से उत्तरी अमेरिका और एशिया ज्यादा प्रभावित होंगे, इनके एक्सपोर्ट को बड़ी चोट लग सकती है।

कोरोना से लड़ाई: केंद्र ने राज्यों के लिए खोला खजाना, दिए इतने करोड़

इलेक्ट्रॉनिक और ऑटोमोटिव प्रॉडक्ट्स पर गहरा असर

तकरीबन सभई सेक्टरों पर कोरोना का असर देखने को मिलेगा लेकिन सबसे ज्यादा असर इलेक्ट्रॉनिक और ऑटोमोटिव प्रॉडक्ट्स पर दिखाई देगा। इनके व्यापार में तेजी से गिरावट आएगी। सर्विस ट्रेड पर असर डायरेक्ट नजर आएगा क्योंकि ट्रांसपोर्ट और ट्रैवल तकरीबन पूरी तरह से ठप हैं।