×

Shrikant Tyagi Case: नोएडा पुलिस ने नहीं दिखाई दूरदर्शिता, मिसहैंडलिंग से बेकाबू हुए हालात

Shrikant Tyagi Case: नोएडा के ओमैक्स सोसाइटी केस के मुख्य आरोपी तथाकथित भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी पर अब सरकार का फंदा कसता जा रहा है।

Krishna Chaudhary
Published on: 8 Aug 2022 11:43 AM GMT
Shrikant Tyagi BJP
X

श्रीकांत त्यागी (photo: social media ) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Shrikant Tyagi Case: नोएडा के ओमैक्स सोसाइटी केस (Omaxe Society Case of Noida) के मुख्य आरोपी तथाकथित भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी (Accused BJP leader Shrikant Tyagi) पर अब सरकार का फंदा कसता जा रहा है। शनिवार से फरार त्यागी अब तक पुलिस के गिरफ्त में नहीं आया है। पुलिस की कुल 12 टीमें जिसमें एसटीएफ (STF) भी शामिल है, उसकी गिरफ्तारी के पीछे लगी हुई है। हालांकि, सवाल पुलिस पर भी उठ रहे हैं। सोसाइटी वालों का आरोप है कि पुलिस ने शुरू में वो सख्ती और सक्रियता नहीं दिखाई, जिसकी जरूरत थी।

पीड़िता महिला ने बताया कि आरोप भाजपा नेता के खिलाफ पहले भी कई मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। लेकिन उसके सियासी रसूख के कारण पुलिस उसपर हाथ डालने से परहेज करती थी। ऐसे में सवाल उठता है क्या सच में पुलिस त्यागी के खिलाफ सख्त एक्शन लेने से शुरू में हिचक रही थी। पुलिस की कार्यशैली पर न केवल सोसाइटी के लोग सवाल उठा रहे हैं बल्कि सत्ताधारी दल का एक बड़ा नेता जोकि वहां का सांसद भी है, पूरी घटना के लिए उसे जिम्मेदार ठहरा रहा है।

पुलिस की मौजूदगी में गुंडों ने मचाया था तांडव

रविवार रात को ओमैक्स सोसाइटी (Omaxe Society Case of Noida) में हुई घटना को लेकर नोएडा पुलिस (Noida Police) की काफी आलोचना हो रही है। शनिवार को ये मामला सामने आने के बाद ही सोसाइटी में पुलिस की तैनाती कर दी गई थी। इसके बाद भी रात को 12-15 युवक जोकि त्यागी के गुंडे बताया जाते हैं, लाठी – डंडे लेकर सोसाइटी के अंदर जा घुसे। इतनी ही नहीं वहां उन्होंने लोगों को आतंकित करने की भी कोशिश की, उनपर पत्थर फेंके। आपको बता दें कि ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी शहर के बीचों बीच स्थित है। ऐसे में पुलिस की मौजूदगी में 15 की संख्या में लाठी – डंडों से लैस गुंडों की टोली उस जगह कैसे घुस गई, ये बड़ा सवाल है।

इस घटना से नोएडा सांसद महेश शर्मा (Noida MP Mahesh Sharma) भी खासे गुस्से में दिखे और सारे फसाद का ठीकरा नोएडा पुलिस (Noida Police) के सिर मढ़ दिया। उन्होंने एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (होम) अवनीश अवस्थी (Additional Chief Secretary Home Avnish Awasthi) को फोन लगाया और तल्ख लहजे में कहा – मेरे कहने पर पुलिस आई है। 15-20 लड़के सोसाइटी में कैसे घुस आए ? हमें ये कहते हुए शर्मिंदगी महसूस हो रही है कि हमारी यहां सरकार है। उनके इस बयान पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बीजेपी पर तंज कसा है।

पुलिस ने भी मानी लापरवाही

नोएडा पुलिस ने भी इस मामले में लापरवाही मानी है। घटना के बाद पुलिस कमिश्नर ने थाना फेस – 2 के प्रभारी सुजीत उपाध्याय को निलंबित कर दिया है। उनकी जगह परमहंस तिवारी को लाया गया है। नोएडा पुलिस ने शुरू में सख्ती से घटना का संज्ञान लिया होता तो मामला इतना तूल नहीं पकड़ता और सरकारी की भी किरकिरी इतनी नहीं होती।

जानकारी के मुताबिक, सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने त्यागी की ज्वाइनिंग बीजेपी में किसके कहने पर हुई थी, इसकी जानकारी मंगवाई है। बताया जा रहा कि श्रीकांत त्यागी को सुरक्षा देने वालों और इसकी पैरवी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story