Top

अब मार्केट में नहीं मिलेंगी चांदी का वर्क लगी मिठाइयां, चमड़े का होता था प्रयाेग

By

Published on 17 Aug 2016 10:43 AM GMT

अब मार्केट में नहीं मिलेंगी चांदी का वर्क लगी मिठाइयां, चमड़े का होता था प्रयाेग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: अब दुकानदार चांदी का वर्क लगी मिठाईयों को नहीं बेच सकेंगे। अगर किसी दुकानदार के पास वर्क लगी मिठाई पाई गई तो एफडीए उसके खिलाफ सख्ती से पेश आएगा। चांदी का वर्क लगी मिठाई मिलने पर एफडीए एफआईआर भी दर्ज करा सकता है। ये कदम भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसआई) द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइन के तहत उठाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें... बाजारों में बिक रहीं जहरीली मिठाइयां, खाली मकानों में चल रहा गोरखधंधा

क्‍यों लगा बैन

-बताया जा रहा है कि मिठाई में लगने वाला वर्क को चमड़े के बीच में चांदी को रखकर पीटा जाता है।

-इसको लेकर कुछ संगठनों ने आपत्ति जताई थी।

-इसके बाद एफएसएसआई ने इस पर रोक लगा दी है।

दुकानदारों को दिए गए निर्देश

-वर्क लगी मिठाईयों के मिलने पर अब दुकानदारों पर एफआईआर दर्ज हो सकती है।

-उच्च अधिकारियों ने इसके निर्देश जारी करते हुए दुकानदारों को वर्क नहीं लगाने का कहा है।

-मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी जेपी सिंह ने बताया कि इस संबध में कोई नोटिफिकेशन नही जारी किया गया है।

-उच्च अधिकारियों द्वारा जारी निर्देशों के तहत चांदी के वर्क पर रोक लगा दी गई है।

-सभी दुकानदारों को व्यापारियों के माध्यम से यह जानकारी दे दी गई है।

शिकायतों पर की थी छापेमारी

-खाद्य एवं औषधि सुरक्षा (एफडीए) ने मंगलवार को मिली शिकायतों पर शहर के कई इलाकों में छापेमारी की थी।

-कमिश्नर खाद्य सुरक्षा विभाग ने अभियान चलाने के निर्देश दिए थे।

-गढ़ रोड से लेकर शास्त्रीनगर आदि कई इलाकों में मिठाईयों के सैंपल भरे गए।

-मेडिकल कॉलेज कैपस स्थित खाद्य सुरक्षा विभाग के दफ्तर में पहुंची शिकायतों पर टीम ने छापेमारी की।

-मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी जेपी सिंह के नेतृत्व में बनी टीम ने भारत स्वीट्स, बालाजी स्वीट्स, सलूजा पंजाबी ढाबा, अमृत ब्रांड पैकेज्ड आदि पर सैंपलिंग की।

Next Story