Top

बॉर्डर पर है मेरा भाई, लेकिन सूनी नहीं रहेगी देश के रखवाले की कलाई

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 3 Aug 2016 10:09 AM GMT

बॉर्डर पर है मेरा भाई, लेकिन सूनी नहीं रहेगी देश के रखवाले की कलाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: कच्चे धागों से बनी पक्की डोर है राखी, प्यार और मीठी शरारतों की होड़ है राखी। भाई की लंबी उम्र की दुआ है राखी, बहन के प्यार का कभी ना टूटने वाला पवित्र बंधन है राखी। जी हां हम बात कर रहे हैं भाई-बहन के प्यार के अटूट बंधन रक्षा बंधन की। इसमें भाई-बहन से राखी बंधवाकर ताउम्र उसकी रक्षा का बीड़ा उठाता है तो बहन भी अपने भाई की सलामती की दुआ मांगती है। चाहे वो बहन की रक्षा हो या फिर हमारे देश की सुरक्षा।

gorakhpur-rakhi

हम बात कर रहे हैं देश की सीमा पर तैनात जवानों की जो किसी का बेटा, किसी का भाई है और हर मुश्किलों से लड़ते हुए धूप, गर्मी या बरसात से 24 घंटे परिवार से दूर देश की सुरक्षा में लगे रहते हैं।

gorakhpur2

गोरखपुर में हजारों बहनों ने सीमा पर तैनात इन्हीं भाइयों को राखी के पवित्र धागे के साथ उनकी सलामती के लिए दुआ की है। यहां की महापौर डॉ सत्या पांडेय के नेतृत्व में स्कूलों की छात्राओं ने सीमा पर तैनात सैनिकों के लिए राखी भेजने का काम किया।

gorakhpur

इनमें कुछ राखियां बाजार की और कुछ को इन छात्राओं ने खुद बनाया है और इन राखियों के साथ सैनिकों के लिए संदेश भी दिया है कि वे अपनी और देश की सुरक्षा करें। हम बहनों की दुआएं उनके साथ है। इन छात्राओं ने जो किया, वो काबिले तारीफ है।

Newstrack

Newstrack

Next Story