×

Sonbhadra News: तीन दिन के भीतर पुलिस को मिली कामयाबी, 25 लाख की हेरोइन सहित ड्रग क्वीन व साथी गिरफ्तार

Sonbhadra News: पुलिस ने तीन दिन के भीतर हेरोइन की दूसरी बड़ी खेप बरामद करने में कामयाबी पाई है। पुलिस ने 25 लाख की हेरोइन के साथ ड्रग क्वीन व उसके एक अन्य साथी को गिरफ्तार किया है।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 10 Aug 2022 1:10 PM GMT
Sonbhadra News In Hindi
X

पुलिस के साथ पकड़े गए आरोपी। 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: क्राइम ब्रांच और राबटर्सगंज पुलिस ने तीन दिन के भीतर जहां हेरोइन की दूसरी बड़ी खेप बरामद करने में कामयाबी पाई है। वहीं ड्रग क्वीन के रूप में आरती उफ मौसी का नाम सामने आया है। उसके पास से लगभग 25 लाख 250 ग्राम की हेरोइन बरामद करने के साथ ही, उसके एक अन्य साथी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुगलसराय से जिस कार के जरिए खेप लाई गई थी, उसे भी जब्त कर, हेरोइन तस्करी से जुड़े रैकेट की छानबीन और इसमें संलिप्त लोगों की तलाश जारी है। बुधवार को दोपहर बाद एएसपी विनोद कुमार (ASP Vinod Kumar) ने राबर्ट्सगंज कोतवाली (Robertsganj Kotwali) में इस कामयाबी का खुलासा किया। कहा कि आगे भी मादक पदार्थोें के खिलाफ तस्करी का अभियान जारी रहेगा।

अर्टिगा कार को लेकर मिली सटीक सूचना ने दिलाई कामयाबी

अपर पुलिस अधीक्षक मुख्यालय विनोद कुमार (ASP Vinod Kumar) के निर्देशन में मादक पदार्थों के तस्करी का चेन खंगालने में जुटी क्राइम ब्रांच और राबर्ट्सगंज पुलिस को मंगलवार की देर रात सूचना मिली कि मुगलसराय से एक कार हेरोइन की खेप लेकर राबटर्सगंज पहुंच रही है। इस सूचना पर, निरीक्षक देवेंद्र प्रताप सिंह प्रभारी एसओजी, निरीक्षक अमित सिंह प्रभारी सर्विलांस, कुंवर सिंह चैकी प्रभारी हिंदुआरी की अगुवाई वाली पुलिस टीम ने अर्धरात्रि के करीब चंडी तिराहे के पास घेरेबंदी कर आने वाले वाहनों की निगरानी शुरू कर दी। जैसे ही बताए गए नंबर वाली कार पहुंची, उसे रोक लिया गया।

कांशीराम आवास काॅलोनी को बनाया तस्करी का अड्डा

कार में सवार 32 वर्षीय आरती देवी उर्फ मौसी पत्नी दिनेश निवासी ऐलाही, थाना पन्नूगंज और उसके 20 वर्षीय साथी अजय पासवान पुत्र सीताराम पासवान निवासी बेठिगांव, थाना रॉबर्ट्सगंज से जरूरी पूछताछ के बाद हिरासत में ले लिया गया। तलाशी मेंउ नके पास से क्रमशः 140 ग्राम और 10 ग्राम हेरोइन (कुल 250 ग्राम हेरोइन, कीमत लगभग 25 लाख रुपये) बरामद की गई। अधिकारियों को इसकी जानकारी देने के बाद दोनों को कोतवाली ले आया गया, जहां कड़ी पूछताछ के साथ ही, दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 8/21 एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर बुधवार को चालान कर दिया गया। जिस कार से खेप लाई गई थी, उसे भी सीज करने की कार्रवाई की गई।

मुगलसराय रेलवे क्रासिंग पर उपलब्ध होती है हेरोइन की खेप

एएसपी विनोद कुमार ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया है कि उन्हें हेरोइन की खेप मुगलसराय, चंदौली में रेलवे क्रासिंग के पास एक व्यक्ति द्वारा थमाई जाती है। खेप उपलब्ध कराने वाले व्यक्ति की पहचान उजागर नहीं की जाती। वहां से मिले मादक पदार्थ को लोकर रॉबर्ट्सगंज और आस-पास में बेचा जाता है। एएसपी ने बताया कि जिले में जहां कहीं से भी आरती उर्फ मौसी के पास इसकी मांग आती है, वह उसे उपलब्ध कराती है। इससे पहले 2019 और 2021 में भी पुलिस मादक पदार्थों के खेप के साथ गिरफ्तार कर चुकी है।

रेलवे साइडिंग एरिया बनी मादक पदार्थों की तस्करी का जोन

बता दें कि इससे पहले दो दिन पूर्व दो व्यक्तियों को 15 लाख की हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया गया था। तीन दिन के भीतर दूसरी बरामदगी, जहां हेरोइन तस्करी के सिंडीकेट पर बड़ी चोट मानी जा रही हैं। वहीं दोनों मामलों में रेलवे स्टेशन के पास पहुंचने पर अनजान व्यक्ति द्वारा थमाई जाती खेप को देखते हुए, एक बार फिर से रेलवे साइडिंग एरिया को तस्करी के लिए इस्तेमाल किए जाने की बात सामने आने लगी है। इससे पहले ट्रेनों के जरिए तस्करी का खुलासा होता रहा है। वहीं मुगलसराय स्टेशन पर भी कई बार करोड़ों की खेप पकड़ी जा चुकी है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story