×

Sonbhadra News: सोनभद्र में डायरिया का बरपा कहर, एक की मौत, अलर्ट हुई स्वास्थ्य टीम

Sonbhadra News: जिले में डायरिया का प्रकोप गहराने लगा है। घोरावल थाना क्षेत्र के कनेटी गांव की दलित बस्ती में बुधवार की रात एक बुजुर्ग महिला की इसकी चपेट में आकर मौत हो गई।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 25 Aug 2022 11:17 AM GMT
Diarrhea wreaked havoc in Sonbhadra, one dead, many in the grip, health team distributed medicines
X

सोनभद्र: डायरिया से एक की मौत स्वास्थ्य टीम ने बांटी दवाएं

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: जिले में डायरिया (diarrhea) का प्रकोप गहराने लगा है। रायपुर थाना क्षेत्र (Raipur Police Station Area) में सप्ताह पूर्व डायरिया के चलते हुई एक मौत को अभी लोग भुला भी नहीं पाए थे कि घोरावल थाना क्षेत्र (Ghorawal Police Station Area) के कनेटी गांव की दलित बस्ती (Dalit Basti) में बुधवार की रात एक बुजुर्ग महिला की इसकी चपेट में आकर मौत हो गई। वहीं लगभग डेढ़ दर्जन लोग इसकी चपेट में बताए जा रहे हैं। बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य महकमे की टीम ने पहुंचकर पीड़ितों का उपचार किया। गांव के अन्य लोगों को भी जरूरी एहतियात बरतने की सलाह दी गई।

घोरावल थाना क्षेत्र (Ghorawal Police Station Area) के कनेटी गांव के बुधवार की रात डायरिया की चपेट में आने से बुजुर्ग महिला के मौत की खबर मिली तो स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गर्या। बताया गया कि बुधवार की सुबह ही डायरिया पीड़ित जगवंता देवी 65 पत्नी पंचू और मोहरी 67 पत्नी भोला को घोरावल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था। वहां से दोनों को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया था। रात में पता चला कि जगवंता देवी की मौत हो गई है।

बस्ती में कैंप लगाकर पीड़ितों का उपचार किया जा रहा

उधर, मौत की खबर के बाद बृहस्पतिवार की सुबह घोरावल सीएचसी अधीक्षक डॉ. मुन्नाप्रसाद के नेतृत्व में डॉ. देवेश पांडेय, अमित कुमार और आरबीएसके की टीम कनेटी गांव पहुंची। प्रभावित बस्ती में कैंप लगाकर पीड़ितों को उपचार किया।


वहीं शेष ग्रामीणों को भी इससे बचाव और उपचार को लेकर जरूरी जानकारियां दी। बताया गया कि अनूप 2 पुत्र जीऊत, रमावती 38 पत्नी चंद्रशेखर, लक्ष्मीना 50 पत्नी श्यामजीत, निर्मला 35 पत्नी दीपचंद, लीलावती 46 पत्नी लक्षनधारी, विक्रम 12, कलावती 48 पत्नी तौलन, भूलन 52 पुत्र श्रीनाथ, प्रीतम 18 पुत्री चंद्रशेखर, जयराम 55 पुत्र डंगर, मघनी 65 पत्नी हरिहर, रामविलास 52 पुत्र श्रीनाथ, चंद्रमा 27 पुत्र सीताराम, संगीता 15 पुत्री जीत, प्रेमशीला 18 व धर्मशीला 14 पुत्री श्यामजीत को डायरिया से पीड़ित बताया गया।

बुजुर्ग महिला की डायरिया से मौत

सभी का उपचार करने के साथ ही उन्हें दवाएं और जरूरी सलाह दी गई। कहा गया कि कनेटी गांव को डायरिया मुक्त होने तक टीम की नजर बनी रहेगी। बताते चलें कि सप्ताह भर पूर्व रायपुर थाना क्षेत्र में भी एक बुजुर्ग महिला की डायरिया से मौत हो गई थी और दर्जन भर से अधिक लोगों को उपचार उपलब्ध कराना पड़ा था। बता दें जिले में इस बार बारिश कम होने के चलते जलजनित बीमारियों का भी प्रकोप थमा हुआ था। इसका परिणाम यह हुआ कि संचारी रोग माह के दौरान भी मौसमी बीमारियों के नियंत्रण के नाम पर भी कागजी कवायदें ज्यादा की गई।

मौसम के उतार-चढ़ाव की स्थिति सामने आ रही है

अब जब इधर बीच बारिश के साथ ही मौसम के उतार-चढ़ाव की स्थिति सामने आ रही है तो वायरल बुखार और डायरिया ने पूरे जिले में पांव पसारना शुरू कर दिया है। वायरल बुखार की स्थिति यह है कि शायद ही कोई परिवार बच पा रहा है।

वहीं डायरिया के भी केस तेजी से सामने आने लगे हैं। दूसरे जगहों को कौन कहे, जिला मुख्यालय पर ही इस तरह की लापरवाही बरती गई है कि बृहस्पतिवार की रात हुई मजे की बारिश ने गलियों में गंदगी और कीचड़ का साम्राज्य कायम कर रही हैं। वहीं जगह-जगह बनी जल जमाव की स्थिति, लोगों को तेेजी से संक्रामक बीमारियां फैलने की आशंका को लेकर डराने लगी है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story