×

Sonbhadra: सोनभद्र में गंभीर हीटवेव की स्थिति, मई ने तोड़ा तपिश का रिकार्ड, 45.2 डिग्री तक पहुंचा पारा

Sonbhadra News: शनिवार को यहां अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री रिकार्ड किया गया। जिसे जिले के रिकॉर्ड में अब तक का सर्वाधिक बताया जा रहा है।

Kaushlendra Pandey
Published on 14 May 2022 3:01 PM GMT
Sonbhadra: सोनभद्र में गंभीर हीटवेव की स्थिति, मई ने तोड़ा तपिश का रिकार्ड, 45.2 डिग्री तक पहुंचा पारा
X

सोनभद्र में पारा पहुंचा 45 के पार (फोटो- आशुतोष त्रिपाठी, न्यूजट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra Heat Wave: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र (Sonbhadra) में लगातार हीटवेव (Heat Wave) की स्थिति जहां लोगों को बीमार बनाती जा रही है। वहीं, मई की तपिश ने पहले पखवाड़े में ही तापमान (Sonbhadra Temperature) का एक नया रिकार्ड बना डाला है। शनिवार को यहां अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री रिकार्ड किया गया। जिसे जिले के रिकॉर्ड में अब तक का सर्वाधिक बताया जा रहा है। तपिश की मार जहां घरों से बाहर निकले लोगों का बदन झुलसाती रही। वहीं घर के अंदर मौजूद लोग भी गर्मी और उमस से परेशान रहे। वहीं तमाम लोग सर्दी-जुकाम, बदन दर्द, सिरदर्द, बुखार की शिकायत लेकर चिकित्सकों के यहां पहुंचे रहे।

जिले में अप्रैल से ही गंभीर हीटवेव की स्थिति बनी हुई है। अप्रैल के आखिरी सप्ताह में पारे ने 45 डिग्री का पारा छूकर सभी को बेचैन कर दिया। हालांकि उसके बाद से तापमान में गिरावट का क्रम शुरू हुआ लेकिन उतार-चढ़ाव का क्रम बने रहने के चलते गर्मी के साथ भारी उमस की स्थिति बनी रही। शुक्रवार से एक बार फिर से पारे ने उछाल मारना शुरू कर दिया। शुक्रवार को जहां अधिकतम पारा 44.6 डिग्री रिकार्ड किया गया। वहीं शनिवार को यह 45.2 डिग्री पहुंच गया। यह आंकड़ा जहां इस सीजन का सर्वाधिक है। वहीं सोनभद्र में 14 मई तक रिकार्ड किए गए तापमान में भी सर्वाधिक बताया जा रहा है।

सूर्योदय के साथ ही चुभने लग रही हैं सूरज की किरणें

आसमान से बरसती आग की स्थिति यह है कि सुबह सूर्योदय के कुछ मिनट बाद से ही सूरज की किरणें चुभने लग रही है। नौ बजते-बजते तेज धूप बदन झुलसाना शुरू कर दे रहे है। गर्म हवाओं के थपेड़े अलग जनजीवन बेहाल किए हुए हैं। शनिवार को भी सुबह से ही तपिश की मार लोगों को बेहाल किए रही।

हालत यह हुई कि दस बजते-बजते तमाम लोगों ने अपने को घरों में कैद कर लिया। जिनको अति आवश्यक काम था, वहीं बाहर निकले। यात्रा कर रहे लोगों को भी काफी परेशानी उठानी पड़ी। तेज धूप की स्थिति यह थी कि धूप में महज दस से 20 मिनट का सफर बीमारों वाली हालत बनाए रहा। खुश्क होता गला भी कामकाज के लिए निकले लोगों को तड़पाता रहा।

आवश्यक होने पर ही बाहर निकलें, बरतें पूरी एहतियात

एमडी होम्योपैथ डा. संजय कुमार सिंह कहते हैं कि सोनभद्र इन दिनों गंभीर हीटवेव की चपेट में है। ऐसे में धूप निकलने के बाद अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले। बाहर निकलते से पहले भरपेट पानी पिएं। पूरे बदन को कपड़े से ढंके रहे। सिर पर गमछा या टोपी जरूर लगाएं। यात्रा कर रहे हों तो पानी की बोतल साथ रखें और थोड़े-थोड़े अंतराल पर उसे पीते रहे। बासी भोजन, बाहर के तले-गले खाद्य पदार्थों से परहेज करें। किसी तरह की दिक्कत समझ में आने पर तत्काल चिकित्सकों से संपर्क करें।

निजी स्कूलों में कक्षा पांच तक के बच्चों को दी गई छुट्टी

सामान्यतया ग्रीष्मावकाश की शुरूआत 20 मई से होती है लेकिन जिले में लगातार हीटवेव की स्थिति देखते हुए, कई निजी स्कूलों में शनिवार को पढ़ाई कराने के बाद कक्षा पांच तक के बच्चों को ग्रीष्मावकाश दे दिया गया हैं। अब उन्हें एक जुलाई को विद्यालय जाना होगा। वहीं परिषदीय विद्यालयों में कक्षा एक से पांच के बच्चों के लिए अभी कक्षाओं का संचालन जारी है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story