×

Sonbhadra: उज्ज्वला के डिस्ट्रीब्यूटर ने पूर्व MLA व गैस एजेंसी मालिक पर लगाया पैसे न देने का आरोप

Sonbhadra: उज्ज्वला योजना के डिस्ट्रीब्यूटर संदीप केशरवानी ने एजेंसी के प्रोपराइटर अवधेश कुमार दुबे और पूर्व विधायक रमेशचंद्र दुबे पर 2.81 लाख रुपये न देने और मांगने पर धमकाने का आरोप लगाया है।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 2022-06-30T20:49:50+05:30
Sonbhadra News
X

पैसे के लेने-देन का लगाया आरोप। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra: जिला मुख्यालय स्थित मेसर्स विंध्य इंडियन गैस सर्विस (M/s Vindhya Indian Gas Service) और प्रयागराज स्थित उज्ज्वला योजना (Ujjwala Yojana) के डिस्ट्रीब्यूटर के बीच लेन-देन को लेकर गहराया विवाद अब पुलिस के पास जा पहुंचा है। डिस्ट्रीब्यूटर संदीप केशरवानी (Distributor Sandeep Kesharwani) की तरफ से एजेंसी के प्रोपराइटर अवधेश कुमार दुबे (Agency proprietor Awadhesh Kumar Dubey) और पूर्व विधायक रमेशचंद्र दुबे (Former MLA Ramesh Chandra Dubey) पर, ली गई आपूर्ति का 2.81 लाख रुपये न देने और मांगने पर धमकाने का आरोप लगाकर सनसनी फैला दी है।

शिकायती पत्र भेज एसपी सहित अन्य से हस्तक्षेप की लगाई गुहार

वहीं, इस मामले में ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराने के साथ ही डाक के जरिए शिकायती पत्र भेज एसपी सहित अन्य से हस्तक्षेप की गुहार लगाई है। वहीं, पुलिस की तरफ से दोनों पक्षों के बीच लेन-देन का विवाद बताते हुए भेजी गई आख्या में पूर्व विधायक से वार्ता होने और उनके द्वारा जल्द हिसाब कर बकाए पैसों का भुगतान कर देने की जानकारी दी गई है।

अभी उसे इस तरह का कोई आश्वासन नहीं मिला: पीड़ित पक्ष

पीड़ित पक्ष का कहना है कि अभी उसे इस तरह का कोई आश्वासन नहीं मिला है। वह अभी भी अधिकारियों के यहां गुहार लगा रहा है। गैस एजेंसी संचालक का कहना है कि कहीं कोई विवाद नहीं है। अनावश्यक मामले को तूल दिया जा रहा है।

उधर, पूर्व विधायक रमेश दूबे का कहना है कि मै़ न तो गैस चूल्हा बेचता हूं, न मैंने उनसे कभी चूल्हा खरीदा ही है,न ही मैं उसको जानता ही हूं, न ही आज तक मैंने कथित शिकायतकर्ता से कभी वार्ता ही किया है।

ये है मामला

घंटा चौराहा, प्रयागराज निवासी संदीप केशरवानी ने एसपी सहित अन्य को भेजी शिकायत में कहा है कि वह भारत सरकार (Indian Government) द्वारा चलाई गई उज्ज्वला योजना (Ujjwala Yojana) का डिस्ट्रीब्यूटर है। उसके द्वारा गैस चूल्हा, पाइप व अन्य सामान गैस एजेंसी मालिकों को दिया जाता है। आरोप लगाया गया है कि मेसर्स विंध्य इंडियन गैस सर्विस के प्रोपराइटर अवधेश कुमार दूबे अैर पूर्व विधायक रमेशचंद्र द्विवेदी द्वारा वर्ष 2017 से अब तक 2,81,400 रुपये का सामान लिए हैं, जिसे वापस नहीं कर रहे हैं। इस आपूर्ति के एवज में उसने अपनी फर्म का जीएसटी बिल भी दिया था, जिस पर लिखा था कि समय से पैसा वापस नहीं किया गया तो 18 प्रतिशत प्रतिवर्ष ब्याज देना होगा। लेकिन अब तक पैसा नहीं मिला।

पैसा वापस न करने को लेकर उभयपक्षों के मध्य विवाद: एसआई

उधर, इस मामले में प्रभारी निरीक्षक राबटर्सगंज और एसआई बृजेश कुमार दुबे (SI Brijesh Kumar Dubey) की तरफ से गत 25 जून को एसपी को भेजी गई आख्या में कहा गया है कि पैसा वापस न करने को लेकर उभयपक्षों के मध्य विवाद है।

जल्द ही डिस्ट्रीब्यूटर को दे दिए जाएंगे पैसे: प्रतिपक्षी

प्रतिपक्षी रमेशचंद्र दुबे से वार्ता की गई तो उन्होंने बताया कि वह जल्द ही पैसों का हिसाब कर, डिस्ट्रीब्यूटर का पैसा दें देंगे। मामले में प्रकरण की गहनता से जांच चलने की भी जानकारी दी गई है। उधर, शिकायतकर्ता संदीप केशरवानी का कहना है कि अभी उन्हें बकाए रूपये के वापसी के बाबत कोई आश्वासन नहीं मिला है, न ही किसी ने उनसे इस बाबत संपर्क किया है। वहीं गैस एजेंसी संचालक का सेलफोन पर कहना था कि धंधे में लेन-देन लगा रहता है। बेवजह मामले को तूल दिया जा रहा है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story