×

Sonbhadra: मेरा प्लास्टिक मेरी जिम्मेदारी अभियान की केंद्र स्तर पर सराहना, DM ने की लोगों से अपील

सोनभद्र को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए शुरू किए गए मेरा प्लास्टिक मेरी जिम्मेदारी अभियान को केंद्र स्तर से भी सराहना मिलनी शुरू हो गई है।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 30 Jun 2022 3:37 PM GMT
Sonbhadra News
X

सोनभद्र में मेरा प्लास्टिक मेरी जिम्मेदारी अभियान। 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra: डीएम चंद्रविजय सिंह (DM Chandravijay Singh) की अगुवाई में सोनभद्र को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त (single use plastic free) बनाने के लिए शुरू किए गए मेरा प्लास्टिक मेरी जिम्मेदारी अभियान.. को केंद्र स्तर से भी सराहना मिलनी शुरू हो गई है। केंद्रीय पेयजल और स्वच्छता विभाग ने न केवल इसे एक अनूठे अभियान का दर्जा दिया है बल्कि उसे अपने पेज पर जगह देकर, दूसरों को भी इस तरह का अभियान चलाए जाने के लिए प्रेरित किया है।

अभियान के जरिए डीएम ने लोगों से की ये अपील

बताते चलें कि माह भर पूर्व शुरू हुए अभियान के जरिए डीएम ने जहां लोगों से अपील की कि सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रबंधन के लिए अपने घर पर एक बोरी लगाकर जो भी प्लास्टिक घर में आता है उसको बाहर फेंकने की बजाय उस बोरी में डालें। वहीं प्रदेश सरकार के मंत्री, विधायक सहित अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद कर, इस अभियान में उनकी भी सहभागिता दर्ज कराई। उसका परिणाम यह हुआ कि चंद दिनों में ही यह अभियान, धीरे-धीरे जनअभियान का रूप लेने लगा है।


इसके जरिए जहां लोगों से अपील की जा रही है कि वह अपने घर के प्लास्टिक उसी बोरी में डालें एवं बाहर न फेंके। वहीं अब गांव में लोग भी इस पर उत्साह दिखाते हुए बिखरे हुए प्लास्टिक को एकत्रित कर एक जगह इकट्ठा करने लगे हैं। केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता अभियान (Central Drinking Water and Sanitation Campaign) की तरफ से भी अभियान में दिलचस्पी दिखाए जाने के बाद सोनभद्र का यह अभियान अन्य जिलों को भी प्लास्टिक प्रबंधन के लिए नया रास्ता दिखाने लगा है।

अभी तक 3000 किलो से अधिक प्लास्टिक ग्राम पंचायतों में इकट्ठा हो चुका है:DPRO

उधर, जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह (District Panchayat Raj Officer Vishal Singh) ने बताया कि यह अभियान जिले के सभी 629 ग्राम पंचायतों में सतत रूप से चलाया जा रहा है। अभी तक 3000 किलो से अधिक प्लास्टिक ग्राम पंचायतों में इकट्ठा हो चुका है, जिसको डाला स्थित सीमेंट फैक्ट्री में निस्तारण के लिए दिया जाएगा। कहा कि अभियान के सतत संचालन के लिए जिले से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक टीम बनाई गई है और उसके जरिए लगातार गांवों में लोगों को समझाया जा रहा है कि लोग प्लास्टिक बाहर न फेंके ताकि प्लास्टिक से होने वाले नुकसान से बचा जा सके।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story