×

Sonbhadra News: झारखंड की चिटफंड कंपनी ने हड़प ली लाखों की रकम, आक्रोशितों ने किया हंगामा

Sonbhadra News: झारखंड की चिट फंड कंपनी जनता की गाढ़ी कमाई लेकर फरार हो गई।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 28 Sep 2022 3:39 PM GMT
Sonbhadra News
X

आक्रोशितों ने किया हंगामा

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: दुद्धी कोतवाली क्षेत्र के झारोखुर्द गांव में एक कथित चिट फंड कंपनी जनता की गाढ़ी कमाई लेकर फरार हो गई। बुधवार को जब ग्रामीण अंचल के निवेशकों को इस बात की जानकारी हुई तो उनके होश उड़ गए। संबंधित कंपनी के दफ्तर पहुंचे तो वहां ताला लटकता मिला। इस पर वहां जमकर हंगामा करने के साथ ही, कोतवाली पहुंचकर तहरीर दी। थाने के पास भी हंगामे जैसी स्थिति बनी रही। पुलिस ने मामले में कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया और संबंधित कंपनी के खिलाफ झारखंड में सीबीआई जांच चलने की जानकारी दी, तब जाकर आक्रोश जता रहे लोग शांत हुए।

पूर्व प्रधान धर्मेंद्र पाल, मोती अग्रहरि, अविनाश सहित अन्य ग्रामीणों का कहना था कि झारोखुद निवासी सरोज कुमार भारती और संतलेस कुमार भारती, झारखंड के धनबाद से संचालित होने वाली रेनबो मल्टी स्टेट क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड, हेड ऑफिस बालाजी मैजिस्टिक मिट्ठू रोड बैंक मोड़ धनबाद के एजेंट के रूप में काम कर रहे थे और लोगों को कंपनी की योजनाएं बनाकर धनराशि जमा कराने में लगे हुए थे। जिन लोगों ने अपनी जमा पूंजी, उनके कंपनी में जमा की, उन्हें रसीद भी दी गई। ग्रामीणों का दावा था कि इसको लेकर झारोखुद में एक कथित दफ्तर भी संचालित किया जा रहा था। बुधवार को पता चला कि कंपनी, अपने यहां निवेश करने वाली ग्रामीणों की जमा पूंजी लेकर रफूचक्कर हो गई है।

आक्रोश जता रहे पवन कुमार, माधुरी देवी, मान कुंवर, निकेश, बाबूलाल, सुनील कुमार, मुंशी राम, राकेश कुमार, रमेश, धर्मदेव, लक्ष्मण, चंद्रावती, भगवंती, विद्यावती, राजकुमारी, सीता देवी आदि का कहना था कि एक तो कथित कंपनी उनकी जमा पूंजी लेकर गायब हो गई है वहीं जिन एजेंटों ने धनराशि जमा करवाई थी, वह भी जमा धन मांगने पर धमकी दे रहे हैं। प्रभारी निरीक्षक श्रीकांत रॉय ने मामले में कार्रवाई का भरोसा देकर ग्रामीणों को शांत कराया। उन्हें बताया कि धनबाद के जिस कथित बैंक-चिट फंड कंपनी में धनराशि जमा किए जाने की बात बताई जा रही है। सीबीआई की तरफ से वर्ष 2018 से ही उसकी जांच की जा रही है। संबंधित बैंक/कंपनी के अधिकारियों से वार्ता किया गया है। ग्रामीणों की जमापूंजी वापस मिल जाए, इसको लेकर हर संभव पहल की जाएगी।

Jugul Kishor

Jugul Kishor

Next Story