×

Sonbhadra News: ऑफिसर बन करता था ठगी, गिरफ्तार, दर्ज है धोखाधड़ी के 24 मुकदमे

Sonbhadra News: पुलिस ने अधिकारी बन कर ठगी करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। आरोपी 24 मुकदमें पहले से दर्ज हैं।

Kaushlendra Pandey
Published on: 20 May 2024 4:26 PM GMT
Sonbhadra News
X

गिरफ्तार आरोपी। (Pic: Newstrack)

Sonbhadra News: जिले में सोमवार को म्योरपुर पुलिस ने एक ऐसे नटवरलाल को पकड़ने में कामयाबी हासिल की जो आफिसर बनकर लोगों को ठगने का काम करता है। म्योरपुर थाना क्षेत्र के जामपानी गांव में मृतक के परिवार वालों को सरकार से मदद दिलाने का भरोसा देकर सवा लाख की ठगी मामले की जांच कर रही पुलिस ने आरोपी राजेंद्र पटेल को सोमवार को दबोचने में कामयाबी पाई तो सामने आई जानकारियों ने एकबारगी पुलिस के भी होश उड़ाकर रख दिया। जांच में पता चला कि 18 साल से ठगी का रैकेट चला रहे राजेंद्र पटेल पर एक-दो नहीं, जिले के विभिन्न थानों में धोखाधड़ी, ठगी, कूटरचना, डकैती, गैंगस्टर आदि मामलों के कुल 24 मुकदमे दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस ने आरोपी का धारा 386, 411, 419, 420, 504, 506 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर चालान कर दिया है। दर्ज मामलों के अलावा उसने और कौन से ठगी के कारनामे अंजाम दिए हैं, इसकी छानबीन जारी है।

मदद करने का झांसा देकर की ठगी

म्योरपुर थाना क्षेत्र के जामपानी निवासी रमाशंकर गोंड ने रविवार को म्योरपुर थाने पहुंचकर तहरीर दी कि गत 27 अप्रैल 2024 को एक व्यक्ति उसके घर पहुंचा। उसने बताया कि वह चोपन ब्लाक का फील्ड अफसर है। तुम्हारे भाई की टीबी की बीमारी के चलते मौत हुई थी। उनका पैसा उनको मिला कि नही, इसकी जांच करने आए हैं। अनभिज्ञता जताने पर कहा कि पांच लाख 62 हजार आया है। स्वयं का नाम राजेंद्र पटेल बताते हुए उसकी भाभी फूलमती को बुलवाकर कहा कि चोपन ब्लाक में पैसा आ चुका है, आकर ले जाओ। इसके बाद फोन पर भी उसने बताया कि 5 से 6 हजार लेकर आना, कुछ खर्चा लगेगा। वह जब 28 अप्रैल को भाभी के साथ राजेंद्र पटेल के बताए पते चोपन बस स्टैंड पर पहुंचा तो वह वहां मौजूद मिला। बाइक से लेकर चोपन ब्लाक पहुंचा। वहां उसकी भाभी का आधार कार्ड, पास बुक की फोटो कापी और आठ हजार रुपया लेकर कहा। आज साहब नहीं हैं, कल आओ। शाम को घर पहुंचने पर फिर से राजेंद्र का फोन आया कि साहब लोग उतने मे काम नही कर रहे हैं।

हड़प लिए एक लाख 72 हजार

पांच लाख 62 हजार का मामला है और पैसा लगेगा। अगले दिन किसी तरह रूपये की व्यवस्था कर चोपन पहुंचे तो वह सब्जी मंडी रोड पर मिला और 47 हजार लेकर कहा कि शाम हो गया है, घर चले जाइए। जब हो जायेगा तो बता देंगे। गत 30 अप्रैल को फोन कर कहा कि कागज में कुछ गड़बड़ हो गया है। उसमें 50 हजार खर्चा लग रहा है लखनऊ भेजना है बड़े साहब को। पहली मई को नकदी की व्यवस्था करके पहुंचा तो 50 हजार के साथ 500 रुपया अपना खर्चा बताकर अलग से लिया। अपना खर्चा बताकर लिया। तीन मई को फोन कर कहा कि दुद्धी आकर, डीएम साहब से दस्तखत कराना होगा। इसके लिए 20 हजार और मांगे। दुद्धी पहुंचने पर कहा कि डीएम साहब नहीं बैठे हैं, चोपन आ जाओ। ठगी का संदेह होन पर जब दिए गए रूपयों को वापस करने की मांग की तो चोपन बुलाकर जबरिया 20 हजार ले लिए गए और जानमाल की धमकी दी गई।

इन थानों पर दर्ज है मुकदमा

म्योरपुर में दर्ज मामले के अलावा करमा थाने में 2007 में धारा 406, 419, 420, 504, 506 आईपीसी, वर्ष 2009 में धारा 3,4 गुण्डा एक्ट, राबटर्सगंज कोतवाली में 2009 में धारा 419, 420, 411 आईपीसी, धारा 3 (1) गैंगेस्टर एक्ट, शाहगंज थाने में वर्ष 2012 में धारा 3(1) गुण्डा एक्ट, रायपुर थाने में वर्ष 2014 में धारा 376, 419, 420, 504 आईपीसी और 3(2)(5) एससी-एसटी एक्ट, राबटर्सगंज कोतवाली में वर्ष 2015 में धारा 406, 419, 420 आईपीसी, वर्ष 2016 में धारा 406, 416, 420 आईपीसी, दुद्धी कोतवाली में वर्ष 2017 में धारा 323, 325, 342, 504, 506 आईपीसी, एससी-एसटी एक्ट के मुकदमे दर्ज हैं। इसी तरह वर्ष 2018 में शाहगंज थाने में धारा 323, 341, 389, 392, 411, 506 आईपीसी, करमा थाने में धारा 392, 411 आईपीसी, धारा 34, 392, 411, 419, 420, 467, 468, 471 आईपीसी, राबटर्सगंज कोतवाली में धारा 392, धारा 392,411, वर्ष 2019 में करमा थाने में गैंगेस्टर एक्ट, वर्ष 2020 में राबटर्सगंज में धारा 406, 419, 420, 504, 506 आईपीसी, वर्ष 2021 में शाहगंज थाने में एनडीपीएस एक्ट, राबटर्सगंज में धारा 419, 420, धारा 419, 420, 506, धारा-419,420, वर्ष 2022में ओबरा थाने में धारा 406, 419, 420, धारा 406,419,420 आईपीसी और गैंगस्टर एक्ट के मामले दर्ज हैं।

Sidheshwar Nath Pandey

Sidheshwar Nath Pandey

Content Writer

मेरा नाम सिद्धेश्वर नाथ पांडे है। मैंने इलाहाबाद विश्विद्यालय से मीडिया स्टडीज से स्नातक की पढ़ाई की है। फ्रीलांस राइटिंग में करीब एक साल के अनुभव के साथ अभी मैं NewsTrack में हिंदी कंटेंट राइटर के रूप में काम करता हूं। पत्रकारिता के अलावा किताबें पढ़ना और घूमना मेरी हॉबी हैं।

Next Story