Top

फिर भड़के आजम, कहा- राजभवन के दरवाजे हिस्ट्रीशीटरों के लिए खुलते हैं

By

Published on 15 July 2016 4:56 PM GMT

फिर भड़के आजम, कहा- राजभवन के दरवाजे हिस्ट्रीशीटरों के लिए खुलते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और अक्सर विवादों में रहने वाले आजम खान ने एक बार फिर राजभवन पर निशाना साधा है। इस बार उन्होंने राजभवन पर सीधे हमला बोलते हुए कहा, वहां (राजभवन) के दरवाजे हिस्ट्रीशीटर के लिए खुलते हैं।

आजम के मुताबिक राज्यपाल को हर वह हिस्ट्रीशीटर पसंद है जिसने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। तंज के लहजे में आजम बोले, 'वह महामहिम हैं, मुझे मंत्री पद से बर्खास्त कर देंगे तो क्या होगा? इसलिए उनसे डरना तो पड़ेगा ही।'

...तो लगाएं पांच सितारा होटलों पर प्रतिबंध

आजम खान ने ये बातें शुक्रवार को शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड की वेबसाइट के उद्घाटन मौके पर बोल रहे थे। केंद्र पर निशाना साधते हुए आजम ने कहा कि कैराना का मामला 'बैक फायर' हो गया। दादरी पर दो रिपोर्ट क्यों? यह मान भी लिया जाए कि अखलाक के घर में मांस का टुकड़ा मिला तो क्या इस बात के लिए किसी की जान ले लेना सही है। दिल्ली के कई पांच सितारा होटलों में गाय का पका मांस मिलता है। तो केंद्र सरकार उन पर क्यों नहीं प्रतिबंध लगाती?

हमें 'म्लेच्छ' कहते हैं

इस मौके पर सपा नेता ने गुजरात में खाल बेचने वालों के साथ हुई घटना की निंदा की। कहा, हिंदुस्तान में हमें बोझ समझा जाता है। कुछ लोग हमें 'म्लेच्छ' कहते हैं। मेरे गुजरने पर बीजेपी वाले गंगाजल से सड़क को शुद्ध करते हैं। जिन्हें मेरी बात बुरी लगे, वे अगले साल रोजा रख लें।

बुखारी भी रहे निशाने पर

इस दौरान आजम के निशाने पर दिल्ली के शाही इमाम बुखारी भी रहे। बुखारी को आड़े हाथों लेते हुए आजम ने कहा, दिल्ली की मस्जिद में सीढ़ी पर भीख मांगने वालों से भी वहां के इमाम पैसे लेते हैं।

Next Story