Top

सपा पार्षद ने दहेज़ के लिए पत्नी को दिया जहर, पुलिस ने नही की कार्रवाई

Admin

AdminBy Admin

Published on 13 March 2016 6:19 AM GMT

सपा पार्षद ने दहेज़ के लिए पत्नी को दिया जहर, पुलिस ने नही की कार्रवाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: शनिवार को समाजवादी पार्टी के पार्षद गौरव सक्सेना ने अपने परिवार वालों के साथ मिलकर अपनी पत्नी की दहेज़ के लिए ह्त्या कर दी। सत्ता पक्ष के दबाव में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। पीड़ित परिवार का आरोप है कि गौरव ने अपनी पत्नी को परिवार के साथ मिलकर जहरीला पदार्थ खिलाया था।

क्या है मामला ?

-घटना बरेली के प्रेमनगर थाने की है।

-सपा पार्षद गौरव सक्सेना की शादी समृद्धि जौहरी से फरवरी 2015 में हुई थी।

-समृद्धि के परिवार ने गौरव को शादी में दहेज़ भी दिया था।

-गौरव और उसका परिवार समृद्धि को दहेज के लिए शारीरिक व मानसिक रुप से प्रताडित करता था।

-प्रताडना के बारे में समृद्धि फोन पर अपनी मां को बताती थी।

-समृद्धि की मां सुषमा जौहरी उसे शांत करा देती थी।

-शादी के बाद समृद्धि को किसी से मिलने नही दिया जाता था।

पार्षद ने दिया परिजनों के साथ मिलकर जहर

-पीड़ित परिवार का आरोप है कि सपा पार्षद के अन्य महिला से भी संबंध हैं।

-30 जून 2015 की रात गौरव ने अपने परिवार के साथ मिलकर समृद्धि को जहरीला पदार्थ खिलाया था।

-31 जून की सुबह 5 बजे गौरव ने सुषमा को फोन किया।

-उसने बताया कि उनकी बेटी की तबीयत खराब है।

-सुषमा जब हॉस्पिटल पहुंची, तो उनकी बेटी होश में थी।

-समृद्धि ने मां को बताया कि गौरव ने अपने परिवार के साथ मिलकर उसे जहरीला पदार्थ खिला दिया है।

अपने दोस्तों संग खड़ा सपा पार्षद गौरव सक्सेना (काले घेरे में)

दबाव बनाकर करवाए कागजों पर हस्ताक्षर

-समृद्धि ने मां को बताया कि गौरव ने दबाव बनाकर उससे कई कागजों पर हस्ताक्षर करवाए थे।

-जिसमें एक पर यह भी लिखा लिया था वह पोस्टमार्टम नही चाहती थी।

पुलिस ने दर्ज नही की रिपोर्ट

-सत्ता पक्ष के दबाव में पुलिस ने भी कार्रवाई नही की थी।

- इसके बाद आरोपियों ने साक्ष्य मिटाने के लिए रात में ही अंतिम संस्कार कर दिया था।

-पीडित परिवार का आरोप है कि 10 जुलाई को वो प्रेमनगर थाने में रिपोर्ट लिखाने गए थे।

-लेकिन पुलिस ने उनकी रिपोर्ट दर्ज नही की थी।

-पीडित ने आलाधिकारियों के पास कई बार शिकायत दर्ज कराई, लेकिन कार्रवाई नही हुई।

पार्षद ने पीड़ित परिवार को धमकाया

-आरोप है कि जब गौरव ने उन्हे रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए अधिकारियों से संपर्क करते हुए देखा।

-तो उन्हे घर पर आकर धमकाया भी गया था।

कोर्ट में दर्ज करवाया मुकद्दमा

-प्रेमनगर थाने में मुकदमा नही लिखे जाने पर पीडित ने कोर्ट के जरिए मुकदमा दर्ज कराया है।

-पीड़ित परिवार ने सपा पार्षद गौरव और उसके परिवार वालों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है।

Admin

Admin

Next Story