×

CM अखिलेश बोले- चुनाव जीता तो मुफ्त मोबाइल फोन बांटेगी सपा सरकार

aman

amanBy aman

Published on 31 Aug 2016 3:16 PM GMT

CM अखिलेश बोले- चुनाव जीता तो मुफ्त मोबाइल फोन बांटेगी सपा सरकार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: यूपी की समाजवादी पार्टी सरकार ने चुनाव जीतने के बाद जनता के बीच मोबाइल फोन बांटने की बात कही है। बुधवार को प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव ने ये घोषणा की। उन्होंने कहा, कि साल 2017 में होने वाले विधान सभा चुनाव में जीत के बाद प्रदेश के लोगों के हाथों में मोबाइल फोन देने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। गौरतलब है कि साल 2012 के चुनाव में बड़ी जीत हासिल करने के बाद सपा सरकार ने प्रदेश में लैपटॉप बांटा था।

4जी नेटवर्क की लांचिंग में गए थे सीएम

ये बातें सीएम अखिलेश यादव ने बुधवार को एक मोबाइल कंपनी के 4जी नेटवर्क की लांचिंग के दौरान कही। उन्होंने कहा, 'देश में तकनीकी का तेजी से विस्तार हो रहा है। 4जी के आने से इस विस्तार में और तेजी आएगी। सीएम ने कहा कि लोग कहते थे कि 'समाजवादी पार्टी तकनीकी के विरोध में है लेकिन लैपटॉप बांटने के बाद सब कुछ गलत साबित हुआ।' इसी बात को आगे बढ़ाते हुए सीएम ने कहा, यूपी जल्द ही मोबाइल फोन निर्माण का केन्द्र बन जाएगा।

4जी से थानों-तहसीलों को जोड़ा जाएगा

सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी सरकार के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश मोबाइल कंपनियों के बड़े बाजार के तौर पर उभरा है। इसी कार्यक्रम में यूपी सरकार में मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने कहा, कि 4जी आने के बाद इससे प्रदेश के थानों, तहसीलों आदि को जोड़ा जाएगा।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story