×

'जब से भाजपा सत्ता में आई है, उसने विपक्ष को अपमानित करने का कोई मौका नहीं छोड़ा': सपा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि भाजपा को अब यह एहसास हो चला है कि वह दुबारा सत्ता में आने वाली नहीं है। उसके झूठ और फरेब का पर्दाफाश हो चुका है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 6 Feb 2019 2:21 PM GMT

जब से भाजपा सत्ता में आई है, उसने विपक्ष को अपमानित करने का कोई मौका नहीं छोड़ा: सपा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि भाजपा को अब यह एहसास हो चला है कि वह दुबारा सत्ता में आने वाली नहीं है। उसके झूठ और फरेब का पर्दाफाश हो चुका है। लोगों में गहरा असंतोष और आक्रोश है। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन से भाजपा नेतृत्व में बौखलाहट है जो अब उनके आचरण, व्यवहार और भाषा में प्रदर्शित हो रहा है। यह कहावत सच के करीब है कि झूठ के पैर नहीं होते है।

ये भी पढ़ें...UP में अराजकता का माहौल, कानून व्यवस्था पर BJP सरकार का नियंत्रण नहीं: सपा

श्री चौधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार में संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्तियों से मर्यादित और संयमित आचरण तथा भाषा की अपेक्षा की जाती है किन्तु जिस तरह भाजपा सरकार अपने प्रदर्शन में विफल है वैसे ही अपने पद की गरिमा और संविधान की शपथ के अनुपालन में भी सरकार विफल हैं। उसकी ‘ठोको‘ भाषा की वजह से कितने ही निर्दोष लोग फर्जी एनकाउण्टर में मारे गए है और पुलिस वाले भी उसके शिकार हुए हैं।

ये भी पढ़ें...लोक शक्ति पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सैकड़ों साथियों के साथ ली सपा की सदस्यता

उन्होंने आगे कहा लोकतंत्र में राजनीतिक दलों की अपनी सशक्त भूमिका होती है। सत्तादल जितना ही विपक्ष भी महत्वपूर्ण अंग होता है। किसी दूसरे दल के कार्यकर्ताओं को गुण्डा कहना अशोभनीय और अनुचित है। उन्होंने इसी शब्दावली का प्रयोग कल राज्य विधानसभा में उन्होंने इसी तरह के सतही आक्षेप मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी पर लगाए है।

भाजपा की यह मानसिकता आरएसएस की फासिस्ट वृत्तियों से प्रेरित है। उसके मूल में असहिष्णुता और संवेदनशून्यता है। जबसे भाजपा सत्ता में आई है उसने विपक्ष को उपेक्षित और अपमानित करने का कोई मौका नहीं छोड़ा है। संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने के साथ नए-नए विवाद भी पैदा किए जा रहे हैं। यह अघोषित इमरजेंसी जैसी स्थिति है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संवैधानिक मूल्यों पर आघात करने वाली भाजपा की ढाई आदमियों की टीम से देश को सावधान रहने के लिए कहा है। देश को अंधेरी गुफा में जाने से बचाने के लिए जनता की एकजुटता से ही लोकतांत्रिक संस्थान सुरक्षित रह सकेंगे।

ये भी पढ़ें...कानपुर: सपा प्रदेश अध्यक्ष कार्यकताओं की लगाएंगे पाठशाला, देंगे जीत का मंत्र

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story