×

संघ अध्यक्ष की हत्या पर गरमाई सियासत, सपा विधायक बोले- गूंगी और बहरी सरकार

जिले के शाहगढ़ ब्लाक के प्रधान संघ के अध्यक्ष की हत्या का मामला आरोपियों की गिरफ्तारी न होने और सरकार से 5 सूत्रीय मांग पूरी नहीं होने के चलते राजनैतिक रूप ले चुका है। उक्त हत्याकांड के 20 दिनों के बाद पीड़ित परिवार इंसाफ की गुहार लगाता हुआ सैकड़ों लो

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 6 Feb 2018 7:35 AM GMT

संघ अध्यक्ष की हत्या पर गरमाई सियासत, सपा विधायक बोले- गूंगी और बहरी सरकार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अमेठी: जिले के शाहगढ़ ब्लाक के प्रधान संघ के अध्यक्ष की हत्या का मामला आरोपियों की गिरफ्तारी न होने और सरकार से 5 सूत्रीय मांग पूरी नहीं होने के चलते राजनैतिक रूप ले चुका है। उक्त हत्याकांड के 20 दिनों के बाद पीड़ित परिवार इंसाफ की गुहार लगाता हुआ सैकड़ों लोगों के साथ कलेक्ट्रेट में धरना देने पर मजबूर हुआ है। वहीँ पीड़ित परिवार को स्थानीय सपा विधायक का समर्थन भी मिला है। विधायक ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि हम गूंगी और बहरी सरकार जगाने के लिये बैठे हैं।

विधायक ने कहा लड़ाई सदन में भी होगी शुरु

- हफ्ते भर पहले दी गई चेतावनी के बावजूद शासन से लेकर प्रशासन तक ने शाहगढ़ के प्रधान संघ अध्यक्ष की हत्या के मामले में कोई सुध नही ली तो सोमवार 5 फरवरी को मृतक प्रधान की पत्नी अनीता सैक़डों ग्रामिणों के साथ कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठ गई।

- इन्हे स्थानीय सपा विधायक राकेश सिंह मऊ, एमएलसी शैलेंद्र प्रताप का समर्थन मिल रहा है।

- यहां विधायक ने कहा कि जब सरकार गूंगी हो जाये, बहरी हो जाये तो उन्हें जगाने का काम करना चाहिए।

- यही कारण है के इस समय ज़्यादातर सांसद, एमएलसी, विधायक सड़क पर हैं। अब ये लड़ाई सदन में भी शुरु होगी।

बीते सोमवार को डीएम को सौंपा था 5 सूत्रीय ज्ञापन

- बीते सोमवार को अमेठी की जिलाधिकारी शकुंलता गौतम से गौरीगंज के विधायक राकेश सिंह मऊ ने पीड़ित परिवार और ग्रामीणोंं को लेकर मुलाक़ात की।

- इस दौरान जिलाधिकारी अमेठी को अपनी प्रमुख मांगों से अवगत कराते हुए ज्ञापन भी दिया था।

- विधायक ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए प्रशासन को 7 दिन का समय दिया था।

- समय अवधि में कार्रवाई न किए जाने पर ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी भी दी। जिसमें खुद विधायक भी शामिल होंगे।

15 जनवरी की रात हुई थी हत्या

- 15 जनवरी की रात मुंशीगंज थाना क्षेत्र के टंडवा गांव में दलित ग्राम प्रधान औऱ प्रधान संघ के अध्यक्ष सुनील कोरी देर शाम बाजार के लिये निकले थे।

- रात के समय तक वह घर वापस नहीं लौटे। देर रात गांव के कुछ लोगों ने गांव से कुछ दूर पर प्रधान की लाश को देखा।

- मृतक के शरीर पर धारदार हथियार के चोट के गहरे निशान मिले। पुलिस प्रशासन ने पोस्टमार्टम के बाद लाश परिजनों को सौंप दी। लेकिन सीबीआई जांच की मांग को लेकर उन्होंने अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story