×

आखिर क्यों आगरा में ही हुआ सपा का राष्ट्रीय अधिवेशन, ये है बड़ी वजह

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 5 Oct 2017 7:59 AM GMT

आखिर क्यों आगरा में ही हुआ सपा का राष्ट्रीय अधिवेशन, ये है बड़ी वजह
X
सपा का राज्य स्तरीय सम्मलेन आज, मुलायम बना सकते है दूरी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

आगरा: यूपी के आगरा स्थित जीआईसी ग्राउंड में गुरुवार को समाजवादी पार्टी का 10वां राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ है। इस मौके पर अखिलेश यादव को एक बार फिर पार्टी अध्यक्ष चुन लिया गया है। इससे पहले विधान सभा चुनाव से पहले सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के आंगन में मचे घमासान के बीच अखिलेश को तीन वर्ष के लिए अध्यक्ष चुना गया था। भले ही सपा में अभी भी तू-तू-मैं-मैं चल रही हो लेकिन आगरा में अधिवेशन होने के बाद नेताजी की पार्टी में कुछ अच्छा होने के संकेत है। ये इसलिए कहा जा रहा है क्यों कि आगरा में है ही ऐसी बात।

यह भी पढ़ें...समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश यादव अध्यक्ष घोषित

आगरा में अधिवेशन होना एक संयोग नहीं बल्कि ये समाजवादी पार्टी को एक बार फिर से जिंदा करने की एक कवायद है। इतिहास ये कहता है कि जब भी ताजनगरी में सपा का कोई भी कार्यक्रम हुआ है तब सपा और मुलायम के लिए खुशियां लेकर आया है।

कब-कब आगरा सपा के लिए रहा शुभ

-1993 में सपा की आगरा में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति के बाद समाजवादी पार्टी सत्ता में आई।

-2003 में सपा अधिवेशन होने के बाद एक बार फिर सपा सत्ता में आई।

-2009 के लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय अधिवेशन के बाद चुनावों में पार्टी के अच्छे नतीजे आए।

-2012 में सपा अधिवेशन के बाद सपा सत्ता में आई और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बने।

-2017 में हुआ सपा का पांचवा राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश यादव 5 सालों के लिए मुलायम के आशीर्वाद से अध्यक्ष चुन लिए गए।

-मुख्यमंत्री रहते अखिलेश यादव सूबे में सबसे ज्यादा आगरा के दौरे पर रहे है।

यह भी पढ़ें...यूं ही आगरा में नहीं जुटी अखिलेश की सपा, जानिए इसकी खास वजह

अब जब पिछले 15 महीने से मुलायम सिंह यादव अपने बेटे अखिलेश यादव से नाराज चल रहे थे और आगरा में होने वाले अधिवेशन से दो दिन पहले ही उन्होंने सरे गिले-शिकवे दूर कर उन्हें आशीर्वाद दे दिया साथ ही अखिलेश के धुर विरोधी बन चुके चाचा शिवपाल ने भी उन्हें अध्यक्ष चुने जाने की बधाई दे दी और क्या आगे भी एक बार फिर से आगरा अखिलेश यादव के लिए कोई शुभ साबित होगा। ये तो आने वाला समय ही बताएगा।



Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story