श्री श्री रविशंकर और पैनल से अभी नहीं हुई कोई बात: इकबाल अंसारी

अंसारी ने कहा कि मुझे भी श्रीश्री के नाम पर आपत्ति है। कोर्ट की ओर से उनका नाम पैनल में शामिल किया गया है। कोर्ट से और भी नाम पैनल में शामिल होने चाहिए। इससे साधु-संतों की आपत्ति को दूर किया जा सके और बातचीत की स्थिति बने।

Published by Dhananjay Singh Published: March 12, 2019 | 8:19 pm

लखनऊ: अयोध्या में राम मंदिर बनाम बाबरी मस्जिद मामले में बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी ने मंगलवार को कहा कि मस्जिद मंदिर मामले की मध्यस्थता के लिए अयोध्या पहुंचे श्रीश्री रविशंकर सहित पैनल से अभी तक कोई बात नहीं हुई है।

मंगलवार को अयोध्या से लखनऊ के नदवां कॉलेज में बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी की बैठक में आये मुद्दई इकबाल अंसारी ने मीडिया से बातचीत की। इकबाल अंसारी ने कहा कि अयोध्या के साधु-संतो के बीच मेरा रहना होता है। संतों को अयोध्या मामले में बने पैनल में श्रीश्री रविशंकर के नाम पर आपत्ति है। यही कारण है कि श्रीश्री रविशंकर के नाम पर विवाद की स्थिति बनी हुई है।

ये भी पढ़ेें— कई दलों के नेता सपा में हुए शामिल, RLD के प्रदेश अध्यक्ष ने BJP पर बोला करारा हमला

अंसारी ने कहा कि मुझे भी श्रीश्री के नाम पर आपत्ति है। कोर्ट की ओर से उनका नाम पैनल में शामिल किया गया है। कोर्ट से और भी नाम पैनल में शामिल होने चाहिए। इससे साधु-संतों की आपत्ति को दूर किया जा सके और बातचीत की स्थिति बने।

अपराह्न में नदवा कॉलेज के महदुल सभागार में आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक हुई। बैठक में अध्यक्ष मौलाना राबे हसनी नदवी, महासचिव मौलाना वाली रहमानी, सचिव वकील जफरयाब जिलानी, बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी, मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली, मौलाना अशहद रशीदी, मौलाना अतीक बस्तवी ने मध्यस्थता की कार्रवाई और पूर्व के निर्णयों पर अपनी अपनी बातों को रखा।

ये भी पढ़ेें— GST अधिकरण प्रयागराज में स्थापित करने की मांग, बार एसोसिएशन ने किया विरोध

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App