एसटीएफ ने कई शहरों में छापेमारी की, करोड़ों रुपए के जीएसटी धोखाधड़ी का पर्दाफाश

एसटीएफ और सेल्स टैक्स विभाग ने फर्जी बिल बनकर धनराशि में हेरफेर करने वाली एक कपंनी की दो सहायक कंपनियों में 13 करोड़ रुपए की कर धोखाधड़ी के एक मामले का भंडाफोड़ किया है।

Published by Vidushi Mishra Published: April 14, 2019 | 11:21 am
Modified: April 14, 2019 | 11:32 am

नोएडा: यूपी विशेष कार्यबल (एसटीएफ) और सेल्स टैक्स विभाग ने फर्जी बिल बनकर धनराशि में हेरफेर करने वाली एक कपंनी की दो सहायक कंपनियों में 13 करोड़ रुपए की कर धोखाधड़ी के एक मामले का भंडाफोड़ किया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों के मुताबिक, आरोपी कंपनी राउंडपे टेक्नो मीडिया और राउंडपे वायस टेक लखनऊ में एक ही पते पर पंजीकृत हैं और वे उपयोगिता सेवाओं के लिए ई-भुगतान में शामिल थी।

यह भी देखे:जेडीयू आज जारी करेगी अपना घोषणापत्र

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया के वे सर्कुलर ट्रेडिंग में शामिल थीं और उनके बीच 72.7 करोड़ रुपए मूल्य का लेन-देन दिखाया गया जिस पर उन्होंने 18 प्रतिशत जीएसटी की दर से 13.09 करोड़ रुपए इनपुट टैक्स क्रेडिट का दावा किया था।

एसटीएफ नोएडा के पुलिस उपाधीक्षक राजकुमार मिश्रा ने बताया, ‘‘एसटीएफ और सेल्स टैक्स विभाग को संयुक्त रूप से मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई जो उत्तर प्रदेश में अपने तरह का पहला मामला है। इस व्यापार प्रणाली का 45 दिनों का अध्ययन किया गया। यह पाया गया कि उनकी गतिविधियां लखनऊ, प्रतापगढ़, नोएडा और खीरी से भी चलाई जा रही हैं।’’

यह भी देखे:बड़ी खबर: यूपी के बागपत में कच्चे तेल के बड़े भंडार मिलने के संकेत

उन्होंने बताया, ‘‘कंपनियों की पहचान की गई, उनके स्थान की पुष्टि की गई। इस अभियान में 100 से अधिक अधिकारियों को शामिल किया गया।’’

भाषा