Top

Modi Go Back का नारा लगाने वाले छात्रों का लखनऊ में हुआ सम्मान

शुक्रवार को बीबीएयू में दीक्षांत समारोह के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी के सामने Modi Go Back का नारा लगाने वाले स्टूडेंट्स को लखनऊ में सम्मानित किया गया। इन सभी छात्रों ने बीबीएयू से एलएलएम की पढ़ाई पूरी की थी और डिग्री लेने पहुंचे थे।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 23 Jan 2016 1:43 PM GMT

Modi Go Back का नारा लगाने वाले छात्रों का लखनऊ में हुआ सम्मान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ- जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर पीएम मोदी के खिलाफ नारे लगाने वाले छात्रों का हुआ सम्मान लखनऊ- जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर पीएम मोदी के खिलाफ नारे लगाने वाले छात्रों का हुआ सम्मान

लखनऊ. शुक्रवार को बीबीएयू में दीक्षांत समारोह के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी के सामने Modi Go Back का नारा लगाने वाले स्टूडेंट्स को लखनऊ में सम्मानित किया गया। इन सभी छात्रों ने बीबीएयू से एलएलएम की पढ़ाई पूरी की थी और डिग्री लेने पहुंचे थे। इन छात्रों की इस हरकत पर यूनिवर्सिटी के वाईस-चांसलर आरसी सोबती ने खेद भी जताया था।

रिहाई मंच ने किया सम्मानित

शुक्रवार को इस घटना के सामने आने के बाद ही लखनऊ की एक संस्था रिहाई मंच ने इन स्टूडेंट्स को सम्मानित करने का एलान किया था। संस्था का मानना है कि इन स्टूडेंट्स ने अंबेडकरवादी प्रतिरोध की परंपरा का झंडा बुलंद किया है। संस्था के शाहनवाज आलम और राजीव यादव ने कहा कि ‘मोदी गो बैक’ का नारा देकर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय के छात्रों ने पूरी दुनिया को यह संदेश दिया है कि तर्कशील समाज इस फासिस्ट निजाम को बर्दास्त नहीं करेगा चाहे वह इसे रोकने के लिए कितने भी सुरक्षा प्रबंध कर ले।

कुत्ते के पिल्ले से ज्यादा अहमयित नहीं दलित और मुस्लिमों की

* संस्था के मुताबिक़ मोदी और उनके मंत्री फासिस्ट पॉलिटिक्स करते हैं।

* उनके लिए दलित और मुस्लिमों की कुत्ते के पिल्ले से ज्यादा अहमयित नहीं।

* मोदी ने कहा रोहित की मौत की वजह जो भी रही हो

* इससे मोदी की दलित विरोधी सरकार की संलिप्तता को उजागर हुई

* चाहे कितने भी रोहित मर जाएं मोदी की सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ता।

* मोदी ने ‘मां भारती’ के लाल कहकर अपनी चिंता व्यक्त की

* तो उन्होंने क्यों नहीं दोषियों को सजा देने की बात कही।

* ‘मोदी गो बैक’ के नारे से तिलमिलाए मोदी

* असफलताओं से सीखने की बात कह रहे हैं मोदी

* मोदी रोहित के लिए न्याय के लिए लड़ने वालों को साथियों को नैतिकता न समझाएं।

* मोदी अच्छे-बुरे का भेद सिखाने वाली शिक्षा के बारे में कहते हैं

* उसी संविधान सम्मत चेतना से लैस होकर रोहित लड़ रहा था

* उसकी मौत के बाद, इंसाफ के लिए उसके साथियों ने ‘मोदी गो बैक’ का नारा दिया।

Newstrack

Newstrack

Next Story