Top

Zila Panchayat Election: ऊषा सिंह पर भाई के साथ शादी का आरोप लगा रहे हैं पूर्व ब्लॉक प्रमुख यशभद्र सिंह मोनू

Zila Panchayat Election UP: पूर्व ब्लॉक प्रमुख मोनू सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी भाई से ही शादी करने वाली ऊषा सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ा रही है।

Sultanpur farid ahmed

Sultanpur farid ahmedReporter Sultanpur farid ahmedShreyaPublished By Shreya

Published on 16 Jun 2021 3:06 PM GMT

Zila Panchayat Election UP: BJP भाई से शादी करने वाली ऊषा सिंह को लड़ा रही चुनाव, पूर्व ब्लॉक प्रमुख का खुलासा
X

पूर्व ब्लॉक प्रमुख मोनू सिंह (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Zila Panchayat Election UP: देश-प्रदेश में सॉफ्ट हिंदुत्व के दम पर राजनीति करने वाली बीजेपी का असली चेहरा सामने से दिखने वाले चेहरे से अलग है। यही वजह है कि मेनका गांधी के संसदीय क्षेत्र में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए उसने ऊषा सिंह को चुना है। ऊषा सिंह पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हैं और उन पर भाई के साथ शादी रचाने का आरोप है। इस बात का खुलासा पूर्व ब्लॉक प्रमुख यशभद्र सिंह मोनू ने किया है।

मोनू सिंह ने आज यानी बुधवार को आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी नेता शिव कुमार सिंह ने अपनी बहन से शादी किया है, जो हिंदू मैरिज एक्ट धारा 153 A का उल्लंघन है। हम इसे लेकर तहरीर देंगे तो क्या प्रशासन मुकदमा दर्ज करेगा? बताते चलें कि ऊषा सिंह पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष और वर्तमान में जिला पंचायत अध्यक्ष पद की बीजेपी से प्रबल दावेदार हैं।

वायरल वीडियो मामले में अब तक नहीं हुआ कोई कार्रवाई

इसके अलावा मोनू सिंह ने ये भी कहा कि हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें ऊषा सिंह की गाड़ी से एक लड़की का वीडियो लिया गया था। गाड़ी पर ऊषा सिंह बैठी थी आजतक कार्रवाई नहीं हुई। आपको बता दें कि मोनू सिंह की बहन अर्चना सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष पद की प्रबल दावेदार हैं। अर्चना सिंह जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीती हैं और वो जिला पंचायत अध्यक्ष पद की दावेदारी ठोक चुकी हैं, जिससे बीजेपी खेमे में काफी बेचैनी बनी हुई है। बीजेपी अपनी पूरी ताकत लगाए हुए है कि अध्यक्ष बीजेपी का ही बने, लेकिन मेनका गांधी के प्रचार के बाद 45 में से उसके केवल 3 सदस्य ही जीते हैं।

दरअसल, बीती रात पुलिस ने उन्हें शहर के अमहट में रोककर फिर तलाशी ली थी, इसके बाद आज मयंग स्थित अपने आवास पर उन्होंने मीडिया से बातचीत की। पूर्व प्रमुख यशभद्र सिंह मोनू ने आगे कहा कि सांसद मेनका गांधी और बीजेपी विधायक सूर्यभान सिंह और शिवकुमार सिंह के इशारे पर हमारे ऊपर प्रशासन कार्रवाई कर रहा है। इससे पूर्व 8 मई को भी लॉकडाउन के समय पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर चालान किया था।

पूर्व प्रमुख ने कहा कि जिस तरह हमारे साथ साजिश हो रही उसे देखकर हमने अपने परिवार में कह दिया है कि, अगर हमरी हत्या हुई तो एसपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाए। उन्होंने ये भी बताया कि इससे पूर्व अयोध्या-प्रयागराज और सुलतानपुर कचेहरी में हमारे ऊपर हमला हो चुका है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story