×

शहीदों का बलिदान अनमोल है, उसे व्यर्थ न जाने दे सरकार - चिदानन्द सरस्वती

स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि भारत के सैनिक किसी संत से कम नहीं है। हमारी सीमाओं पर सैनिक हैं तो हमारी सीमायें सुरक्षित है; सैनिक है तो हम हैं, हमारा अस्तित्व है इसी वजह से आज हम जिंदा है और हमारा देश भी जिंदा है। सैनिक अपनी जान को हथेली पर रखकर अपने देश की रक्षा करते हैं। सियाचिन ग्लेशियर जैसे स्थानों पर रहकर अपने राष्ट्र को सुरक्षित रखते है।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 15 Feb 2019 9:47 AM GMT

शहीदों का बलिदान अनमोल है, उसे व्यर्थ न जाने दे सरकार - चिदानन्द सरस्वती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

आशीष पाण्डेय

कुम्भ नगर: स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि भारत के सैनिक किसी संत से कम नहीं है। हमारी सीमाओं पर सैनिक हैं तो हमारी सीमायें सुरक्षित है; सैनिक है तो हम हैं, हमारा अस्तित्व है इसी वजह से आज हम जिंदा है और हमारा देश भी जिंदा है। सैनिक अपनी जान को हथेली पर रखकर अपने देश की रक्षा करते हैं। सियाचिन ग्लेशियर जैसे स्थानों पर रहकर अपने राष्ट्र को सुरक्षित रखते है।

यह भी पढ़ें......पुलवामा घटना से सदन आहत: सबने दी श्रद्धांजलि,25-25 लाख की अनुग्रह राशि-नौकरी का एलान

परमार्थ निकेतन शिविर प्रयागराज में कश्मीर, पुलवामा आंतकी हमले में शहीद हुये भारत के वीर सपूतों को स्वामी चिदानन्द सरस्वती,साध्वी भगवती सरस्वती,परमार्थ गुरूकुल के ऋषिकुमार और विश्व के अनेक देशों से आये श्रद्धालुओं ने शहीदों की आत्मा की शान्ति हेतु, हमले में घायल हुये जवानों के स्वास्थ्य लाभ के लिये तथा शहीदों के सभी पारिवारिक जनों को भगवान शक्ति प्रदान करें तद् हेतु आहूतियां समर्पित की तथा मौन रखकर भारत के वीर सपूतों को सभी ने भावभीनी श्रदांजलि अर्पित की।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा अटैक में कानपुर के प्रदीप यादव शहीद ,परिवार समेत पूरा शहर शोक में डूबा

स्वामी चिदानन्द ने कहा कि धन्य है वे माता-पिता जिन्होनें भारत को ऐसे बहादुर सपूत दिये जिनके कारण भारत आज गर्व से खड़ा है। इस दुखःद घड़ी में हम उन सभी शहीदों के परिवार वालों के साथ है, वे अकेले नहीं है पूरा भारत उनके साथ है। ईश्वर शहीदों के पारिवारिक जनों को शक्ति प्रदान करें ताकि वे इस हृदयविदारक असहनीय वेदना को सहन कर सके। उन्होने कहा कि कश्मीर पुलवामा में शहीद हुये वीर सपूतों का बलिदान अनमोल है। शहीद जवानों के परिवारजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुये कहा कि हम सभी एक परिवार के सदस्य है, एक है और हमेशा एक रहेंगे तथा पूरा देश शहीदों, सैनिकों और उनके परिवार के साथ खड़ा है।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा अटैक: शहीद राम वकील ने वादा किया था- मैं लौटकर आऊंगा, अपना मकान बनवाऊँगा

चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि देश के भीतर छिपे गद्दारों, षडयन्त्रकारियों, साजिश रचने वाले तथा अपने स्वार्थो के लिये देश को नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों की बुद्धि-शुद्धि हेतु भी यज्ञ किया। उन्होने कहा कि आज सभी दल, दल नहीं बल्कि देश के साथ खड़े हो जायें। राष्ट्र के लिये एक जुट होकर पूरे विश्व को एकजुटता और सुदृढ़ता का संदेश देना चाहिये।

यह भी पढ़ें......पुलवामा आतंकी घटना में शहीद हुए अजित आज़ाद, मातम में डूबा उन्नाव

सभी ने परमार्थ निकेतन शिविर में विशेष रूप से आयोजित श्रद्धांजलि यज्ञ में आहूतियाँ प्रदान कर शहीदों की आत्मा की शान्ति हेतु प्रार्थना की। शाम 5:30 बजे परमार्थ निकेतन शिविर अरैल क्षेत्र में शहीदों के लिये विशेष आरती एवं दीपदान से उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जायेगी। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने सभी को दीपदान हेतु आमंत्रित किया।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story