कलयुगी शिक्षक: हरकते जान हो जाएंगे हैरान, ऐसे पहुंचा जेल

देश मे कैसे बच्चियों को सुरक्षित रखा जाय जब बेटियों को शिक्षा देने वाले शिक्षक ही हैवानियत पर है। जी हां एक तरफ शिक्षा के केंद्र को मंदिर कहा गया है…

जौनपुर- देश मे कैसे बच्चियों को सुरक्षित रखा जाय जब बेटियों को शिक्षा देने वाले शिक्षक ही हैवानियत पर है। जी हां एक तरफ शिक्षा के केंद्र को मंदिर कहा गया है, और मोदी सरकार कहती है पढ़े बेटियां और बढ़े बेटियां जब वो शिक्षा के मंदिर में ही नही सुरक्षित है तो कैसे कहा जाए कि बेटियां सुरक्षित है।

ये भी पढ़ें- झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) नेता अभय सिंह ने हेमंत सोरेन की सरकार से समर्थन लिया वापस

ताजा मामला जौनपुर का है, विद्यालय में ही बच्चियों के संग शिक्षक के छेड़खानी की शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है । हलांकि शिक्षक अब सलाखों के पीछे कैद हो गया है और उसकी नौकरी पर तलवार लटक रही है। प्रथमदृष्टया आरोपी शिक्षक को निलम्बित कर दिया गया है।

अभिभावकों ने विद्यालय पहुंचकर शिक्षक को घेर लिया

आप को बतादें कि घटना के बाद बच्चियों के आक्रोशित अभिभावकों ने विद्यालय पहुंचकर आरोपित शिक्षक को घेर लिया। तहरीर लेकर पुलिस ने आरोपित शिक्षक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर जब उसे गिरफ्तार कर लिया तो अभिभावकों का गुस्सा शांत हुआ।

उधर, खंड शिक्षा अधिकारी की आख्या पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। आरोप है कि विद्यालय में तैनात सहायक अध्यापक शैलेंद्र दुबे कई दिनों से शिक्षारत बच्चियों के साथ अध्यापन के दौरान छेड़खानी व बैड टच करते थे।

ये भी पढ़ें-भ्रष्टाचार पर योगी सरकार का कड़ा एक्शन, लिया ये फैसला

शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया

मामले की गंभीरता को देखते हुए क्षेत्राधिकारी मछलीशहर विजय सिंह ने भी आकर घटना के बारे में छानबीन की। उन्होंने बताया कि मुकदमा पंजीकृत कर आरोपित शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. राजेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी की आख्या पर आरोपित शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App