×

पट्टा धारकों ने अधिकारियों पर लगाया गंभीर आरोप, दी आत्मदाह की धमकी

औरैया के विकास खंड भाग्य नगर के ग्राम दौलतपुर में देखने को मिला। जिसमें पट्टाधारको ने जिला प्रशासन के समक्ष प्रार्थना पत्र देकर आत्मदाह तक की धमकी दे डाली है। ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारियों से कई बार शिकायत की गई मगर आज तक उन्होंने उनकी शिकायत की मगर उस ओर कोई भी ध्यान नहीं दिया है।

Monika
Published on: 4 Nov 2020 3:22 PM GMT
पट्टा धारकों ने अधिकारियों पर लगाया गंभीर आरोप, दी आत्मदाह की धमकी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

औरैया: सरकारी नुमाइंदों की इस समय इतनी तूती बोल रही है कि वह गरीबों को अपने आसपास तक नहीं भटकने दे रहे हैं। ऐसा ही एक मामला जनपद औरैया के विकास खंड भाग्य नगर के ग्राम दौलतपुर में देखने को मिला। जिसमें पट्टाधारको ने जिला प्रशासन के समक्ष प्रार्थना पत्र देकर आत्मदाह तक की धमकी दे डाली है। ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारियों से कई बार शिकायत की गई मगर आज तक उन्होंने उनकी शिकायत की मगर उस ओर कोई भी ध्यान नहीं दिया है। इसलिए वह लोग अब सिर्फ आत्मदाह करने को मजबूर है।

समस्याओं से जूझ रहे लोग

विकासखंड भाग्यनगर की ग्राम पंचायत दौलतपुर के लोग इस समय समस्याओं से जूझ रहे हैं। उनका आरोप है कि जिला प्रशासन को कई बार इसकी जानकारी दी गई। मगर उनके द्वारा मामले का निस्तारण नहीं कराया गया। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि उन्हें शीघ्र न्याय न मिला तो वह तहसील परिसर में आत्मदाह करने को मजबूर होंगे।

[video width="640" height="352" mp4="https://newstrack.com/wp-content/uploads/2020/11/VID-20201104-WA0250.mp4"][/video]

1996 में संख्या 528 में कुछ लोगों को आवासीय पट्टे दिए गए

विकासखंड भाग्यनगर की ग्राम पंचायत दौलतपुर के कुछ ग्रामीण पट्टा धारकों ने तहसील परिसर में जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 1996 में गाटा संख्या 528 में कुछ लोगों को आवासीय पट्टे दिए गए थे। जिन पर उनका कब्जा भी हो गया था। मगर गांव के ही कुछ दबंगों द्वारा उन्हें वहां से भगा दिया गया और उसी स्थान पर अपना कब्जा जमा लिया है। जब वह लोग उस पर कब्जा पाने के लिए पहुंचे तो दबंगों ने उन्हें मारपीट कर वहां से भगा दिया। इसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा कई बार उच्चाधिकारियों से भी की गई। मगर उनकी शिकायत का आज तक निस्तारण नहीं हो सका।

एक मुकदमा भी न्यायालय में चला

पट्टा धारकों ने बताया कि इसका एक मुकदमा भी न्यायालय में चला जो वर्ष 2005 में खारिज हो गया और मुकदमे का फैसला उनके पक्ष में आया। जब वह लोग कब्जा करने के लिए पहुंचे तो दबंगों ने उन्हें मारपीट करते हुए धमकी देकर वहां से भगा दिया। उनका आरोप है कि कब्जा करने वाला व्यक्ति दबंग है और वह आपराधिक किस्म का व्यक्ति भी है। जबकि वह लोग सीधे-साधे व मजदूरी करने वाले लोग हैं।

उप जिलाधिकारी सदर को प्रार्थना पत्र

बुधवार की देर शाम वृद्ध महिलाओं के साथ आए पट्टा धारकों ने उप जिलाधिकारी सदर को प्रार्थना पत्र दिया। जिसमें शिवकुमार, रामकिशोर, रामवती व समुद्री देवी ने बताया कि यदि उन्हें अति शीघ्र न्याय न मिला और उनकी भूमि पर उन्हें कब्जा न दिलाया गया तो वह आगामी दिनों में तहसील परिसर में आकर आत्मदाह कर लेंगी।

रिपोर्टर प्रवेश चतुर्वेदी औरैया

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story