ननिहाल में भी नहीं बक्शा इस वृद्ध को, हत्या कर फांसी पर लटकाया

अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि श्यामवीर 18 तारीख को अपने घर की छत पर सो रहा था जहां  से वह रहस्यमय तरीके से गायब हो गया और आज वह गांव के पास ओमप्रकाश के खेत पर एक पेड़ से संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी पर लटका मिला है।

file photo

एटा : जनपद के थाना जैथरा क्षेत्र के ग्राम दतौली में 48 घंटे पूर्व घर की छत से अपहृत हुए 55 वर्षीय श्यामवीर का शव गांव के पास स्थित जंगल में ओमप्रकाश के खेत में फांसी पर लटका मिला है । पेड़ पर लटके वृद्ध का शव खून से लथपथ था और उसके दोनो हाथ टूटे हुए थे।

अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि श्यामवीर 18 तारीख को अपने घर की छत पर सो रहा था जहां  से वह रहस्यमय तरीके से गायब हो गया और आज वह गांव के पास ओमप्रकाश के खेत पर एक पेड़ से संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी पर लटका मिला है।

ये भी देखें : कांग्रेस ने विवादित बयान देने वाले अपने विधायक को कारण बताओ नोटिस भेजा

घटना की सूचना पर पुलिस ने मृतक के शव को घटना स्थल से बरामद कर पोस्टमार्टम हेतु भेजा है। पुलिस घटना की जांच कर रही है।मृतक के छोटे भाई सत्यवीर ने बताया कि मेरे भाई श्यामवीर की अपहरण के बाद हत्या की गई है।

हमारी जमीन पर नींव लगाने को लेकर हुए झगड़े के विवाद में पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की इसके बाद भी होली पर गेहूं भरते समय भी इन लोगों ने हमारे भाई श्यामवीर के साथ मारपीट की थी जिसमें श्यामवीर के मुंह के दांत भी तोड़ दिये थे। रिपोर्ट दर्ज कराने पर भी पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की गई।

अपहरण की रिपोर्ट नीरू पुत्र राजन, दलवीर पुत्र युधिष्ठिर रनवीर पुत्र युधिष्ठिर, सर्वेश पुत्र राजपाल के विरुद्ध दर्ज कराई गई है।

ये भी देखें : यूपी: इस अद्भुत फूल और पौधे को देखने के लिए उमड़ रही लोगों की भीड़

पुरानी रंजिश में अब तक हो चुकी है पांच हत्या

सत्यवीर ने बताया कि रनवीर के परिजनों ने जबरन हमारी 40 बीघा जमीन घेर रखी है और जमीन के विवाद में अब तक यह लोग हमारे परिवार के साहब सिंह, जमादार सिंह, बहुरन सिंह, नेत्रपाल सिंह, ओमपाल सिंह की हत्या कर चुके हैं।
आज तक पुलिस द्वारा किसी भी हत्यारों के विरुद्ध कोई कार्यवाही न करने से हमारा परिवार पलायन को मजबूर हैं।हमें भी इन लोगों से जान व माल का खतरा है यह लोग हमारी भी हत्या कर सकते हैं।

हमारा अब पुलिस और कानून व्यवस्था से विश्वास उठ गया है।अब इन्हीं लोगों ने हमारे भाई की भी हत्या कर दी है। पुलिस हमारी अब भी नहीं सुन रही है। पुलिस ने घटना की रिपोर्ट नामजद दर्ज कर जांच कर कार्रवाई में जुटी है।