एक किलो चावल में इतने बच्चों को खिलाया खाना, अब भुगतेंगे ये परिणाम

एक बार फिर प्राथमिक स्कूल में बच्चो के मिड-डे मील में लापरवाही सामने आयी है। एक किलो चावल व 400 ग्राम दूध में 32 बच्चो को भोजन कराने मामला सरकारी अधिकारी…

मिर्जापुर। एक बार फिर प्राथमिक स्कूल में बच्चो के मिड-डे मील में लापरवाही सामने आयी है। एक किलो चावल व 400 ग्राम दूध में 32 बच्चो को भोजन कराने मामला सरकारी अधिकारी द्वारा स्कूल के निरीक्षण के दौरान सामने आया है। प्रकरण के सामने आने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

ये भी पढ़ें-सरकार का बड़ा ऐलान: अब महिलायें भी पी सकेंगी खुल कर शराब, इन शहरों में खुलेगा…

मिर्ज़ापुर में प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चो को मिलने वाले मिड डे मील भोजन में शासन द्वारा तमाम सख्ती के बाद भी सुधार नही आ रहा है। मामला मझवां ब्लाक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय बरैनी का है जहाँ पर 26 फरवरी को मिड डे मील भोजन की जाँच करने मंडलीय समन्वयक राकेश तिवारी के नेतृत्व में पहुची टीम खुद उस समय हैरान रह गयीं।

अधिकारियों को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा

जब स्कूल में बच्चो के लिए बन रहे भोजन की जानकारी रसोइया से लिया तो पता चला कि वहाँ पर एक किलो चावल में 32 बच्चो को खाना खिलाया जाना है। वहीं 32 बच्चो को दूध बाटने के लिए महज एक पैकेट दूध लाया गया था। निरीक्षण के दौरान मिली इस लापरवाही पर उन्होंने अधिकारियों को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा।

 

वही खबर सामने आने के बाद अब शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। डीएम ने पूरी घटना पर जांच के आदेश दिए है। डीएम का कहना है कि इसमें कोई दोषी होता है तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं स्कूल में मिड-डे मील में गड़बड़ी को लेकर ग्रामीण भी आक्रोशित है।

ये भी पढ़ें-महाराष्ट्र में बड़ा एलान: उद्धव सरकार ने भीमा कोरेगांव पर लिया ये फैसला

ग्रामीणों का कहना है कि बच्चो के मिड-डे मील भोजन में लंबे समय से इस तरह लापरवाही हो रही है शिकायत करने के बाद भी अधिकारी इस पर कार्रवाई नही कर रहे है। फिलहाल डीएम ने जांच के आदेश के साथ इस पूरे प्रकरण में खुलासा करने वाले मंडलीय समन्वयक से भी स्पस्टीकरण मांगा है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App