Top

ये मनमोहन सिंह हैं माल्या के गारंटर, बैंक ने दो खाते कर दिए सीज

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 May 2016 8:17 PM GMT

ये मनमोहन सिंह हैं माल्या के गारंटर, बैंक ने दो खाते कर दिए सीज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पीलीभीतः बैंकों से 9 हजार करोड़ की देनदारी बकाया करके शराब कारोबारी विजय माल्या तो लंदन चले गए, लेकिन मनमोहन सिंह को उसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। ना-ना, हम फॉर्मर पीएम मनमोहन सिंह की बात नहीं कर रहे हैं। ये मनमोहन सिंह एक किसान हैं। जिसका नाम माल्या से ऐसा जुड़ा है कि वह खुद हैरत में तो है ही, अपने बैंक खाते से पैसा भी नहीं निकाल पा रहा है।

मनमोहन सिंह का क्या है माल्या कनेक्शन?

-पीलीभीत के बिलसंडा ब्लॉक के खजूरिया नवीराम गांव में मनमोहन सिंह रहते हैं।

-बैंक ऑफ बड़ौदा का मुंबई रीजनल ऑफिस कह रहा है कि माल्या ने जो लोन लिया, उसके गारंटर मनमोहन हैं।

-मनमोहन के पीलीभीत में बैंक ऑफ बड़ौदा की नांद ब्रांच में दो खाते हैं।

-माल्या का गारंटर होने की वजह से दोनों खातों को बैंक ने सीज कर दिया है।

-मनमोहन के एक खाते में 12 हजार और दूसरे में 4 हजार रुपए हैं।

परेशान हैं मनमोहन सिंह

-किसान को ये नहीं पता कि उसे कब विजय माल्या का गारंटर बनाया गया।

-वह तो माल्या का नाम तक नहीं जानते, न ही उनके पास इतनी रकम है कि किसी के गारंटर बन सकें।

-अपने सीज हुए खातों को लेकर परेशान मनमोहन सिंह रोज बैंक के चक्कर काट रहे हैं।

-नांद ब्रांच के मैनेजर ने नाम और पते की पुष्टि के लिए मुंबई के रीजनल ऑफिस को ई-मेल भेजा है।

-रीजनल ऑफिस से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है और मनमोहन के खाते भी सीज ही हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story