×

Ban On Plastic: प्लास्टिक के प्रयोग से बचने के लिए 29 से शुरू होगी रेस, अवैध कारखानों की कटेगी बिजली

Ban On Plastic: प्रदेश को प्रदूषण मुक्त बनाने तथा जनजीवन को बचाने के लिए राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक एवं पॉलीथीन के प्रयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया जायेगा।

Shreedhar Agnihotri
Updated on: 28 Jun 2022 3:05 PM GMT
Race will start from 29th to avoid the use of plastic, power will be cut in illegal factories
X

प्लास्टिक के प्रयोग पर प्रतिबन्ध: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Ban on Plastic: प्रदेश को प्रदूषण मुक्त बनाने तथा पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन (Environment and Climate Change) से होने वाले दुष्प्रभावों से जनजीवन को बचाने के लिए राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक एवं पॉलीथीन के प्रयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया जायेगा। लोगों को जनजागरूक करने के लिए 29 जून को प्रातः छह बजे से लखनऊ के चटोरी गली, गोमतीनगर एवं गोमती नदी (gomti river) के किनारे पर प्रदेश स्तरीय सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त उत्तर प्रदेश कैम्पेन के अंतर्गत प्लॉग रन का आयोजन किया जायेगा।

इसमें प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा (Urban Development and Energy Minister AK Sharma) तथा पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ अरूण कुमार सक्सेना मुख्य अतिथि होंगे तथा प्रदेश के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री केपी मलिक एवं मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।

प्लास्टिक रोकने के लिए जागरुकता

इसे लेकर आज एक लोगो भी जारी किया गया और इसे रेस नाम दिया गया। जिसका मतलब है रिडक्शन अवेयरनेस सर्कलुर और इंगेजमेंट यानी प्लास्टिक को कम करना, प्लास्टिक को रोकने के लिए जागरुकता, प्लास्टिक का पुनर्चक्रण करना और जनसहभागिता के माध्यम से प्लास्टिक प्रदूषण से मुक्त करना।

प्रदेश के वन राज्यमंत्री (स्वतंत्रप्रभार) डा अरुण सक्सेना आज पत्रकार वार्ताके दौरान कहा कि प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने के लिए जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। प्रदेश में सिंगल यूज प्लास्टिक के एकत्रीकरण, पुनर्चक्रण तथा इसके प्रतिबंध को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए की 29 जून से 3 जुलाई, तक वृहद जन जागरूकता अभियान आयोजित किया जा रहा है।

प्लास्टिक एवं पॉलीथीन का प्रयोग न करने की अपील

इस दौरान से आमजन से प्रतिबंधित प्लास्टिक एवं पॉलीथीन का प्रयोग न करने की अपील की जायेगी तथा प्रतिबंधित पॉलीथीन रखने वाले दुकानदारों, ठेले व खोमचे वालों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है कि अभियान के दौरान सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग को रोकने के लिए संबंधित विभागों के साथ मिलकर जमीनी स्तर पर कार्य करेंगे तथा इस पर पूर्णतया रोक के लिए पर्यावरण को संरक्षित करने की अपील भी करेंगे।

इस मौके पर अपर मुख्य सचिव वन डा मनोज कुमार सिंह ने बताया कि सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ चलने वाले अभियान को 'रेस फॉर प्लास्टिक फ्री उत्तर प्रदेश'की थीम पर चलाया जायेगा। इसमें नगरीय निकायों के साथ जिला प्रशासन, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन तथा प्रदूषण नियंत्रण के अधिकारी भी सहयोग करेंगे। साथ ही स्वयं सेवी संस्थाएं तथा आमजन का भी सहयोग लिया जायेगा। अभियान के दौरान लोगों को प्रोत्साहित किया जायेगा कि वे अपनी जरूरतों के लिए प्लास्टिक के स्थान पर कपड़े के बैग का स्तेमाल करें। प्लास्टिक समानों का प्रयोग बंद कर सरकार का सहयोग करें तथा प्रदेश के पर्यावरण को बचायें।

प्लास्टिक मुक्त लखनऊ

निदेशक नगरीय निकाय नेहा शर्मा ने आज प्रदेश के सभी नगरीय निकायों के अधिकारियों के साथ वर्चुअल मीटिंग कर कहा है कि प्रदेश में सिंगल यूज प्लास्टिक के पूर्ण प्रतिबंध के लिए 29 जून से चलाये जा रहे वृहद जन जागरूकता अभियान रेस कार्यक्रम को सभी नगरीय निकायों में प्रभावी रूप से चलाया जायेगा। साथ ही प्लास्टिक अपशिष्ट को एकत्रित कराते हुए उसे री-साईक्लिंग कराते हुए निस्तारित कराया जयेगा।

इस दौरान व्यापक स्तर पर सार्वजनिक स्थलों, बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों, बाजार, मंडी, कार्यालय परिसरों, शैक्षिक संस्थानों, खाली प्लाटों एवं भूमि, नदी, तालब, घाटों, नदी, नालों व नालियों आदि स्थलों को व्यापक जन सहयोग के माध्यम से साफ-सफाई के साथ प्लास्टिक मुक्त कराने के प्रयास भी किये जायेंगे।

नेहा शर्मा ने बताया कि अभियान के दौरान 29 जून को राज्य स्तर पर लखनऊ में रेस कार्यक्रम की लांचिंग, प्लाग रन का आयोजन, स्वच्छता शपथ कार्यक्रम एवं प्लास्टिक एकत्रीकरण अभियान आदि कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे, वहीं नगरीय निकाय स्तर पर प्रतिबंधित प्लास्टिक एवं पॉलीथीन के प्रभावी रोक के लिए स्कूलों, कार्यस्थलों, आरडब्ल्यूए, पार्कों एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर महाशपथ अभियान एवं जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story