Top

सैनी नहीं तय कर सकीं लखनऊ के SSP पद की मंजिल, ट्रांसफर रद्द

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 16 May 2016 3:15 PM GMT

सैनी नहीं तय कर सकीं लखनऊ के SSP पद की मंजिल, ट्रांसफर रद्द
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः राजधानी में लगातार बढ़ रहे अपराधों पर कंट्रोल करने में नाकाम रहे राजेश पांडेय को आखिरकार लखनऊ के एसएसपी पद से हटाकर डीजीपी ऑफिस से अटैच कर दिया गया। उनकी जगह लेडी सिंघम नाम से मशहूर इटावा की एसएसपी मंजिल सैनी को लाए जाने का फैसला किया गया, लेकिन तीन घंटे बाद ही उनके तबादले को रद्द कर दिया गया। मंजिल का तबादला रद्द करने की पुष्टि प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पंडा ने की है। बताया जा रहा है कि मंजिल को एसएसपी बनाने के फैसले का सरकार के भीतर ही विरोध हो गया था। खास बात ये है कि मंजिल का तबादला रद्द होने के बाद लखनऊ में एसएसपी के पद पर फिलहाल कोई नहीं है।

यह भी पढ़ें... कभी पुलिस ने मांगी थी रिश्वत, पहले IPS और अब IAS बनीं गरिमा सिंह

मंजिल सैनी ने newztrack.com से क्या कहा?

-मंजिल सैनी ने कहा कि उन्हें देर रात पता चला कि तबादला रोका गया है।

-फिलहाल वह इटावा का ही काम बतौर एसएसपी देख रही हैं।

#UPCM@yadavakhilesh posts Ms Manzil Saini as SSP Lucknow.

— CM Office, GoUP (@CMOfficeUP) May 16, 2016

सीएम ऑफिस ने पहले किया ट्वीट डिलीट किया

मुलायम सिंह के गढ़ इटावा से मंजिल सैनी को लखनऊ लाए जाने की सूचना भी सीएम अखिलेश यादव के ऑफिस ने ट्वीट कर दी थी। इस ट्वीट को बाद में डिलीट कर दिया गया। अमूमन इस तरह की सूचना शासन की ओर से मेल के जरिए दी जाती है। ऐसे में यह ट्वीट सियासी और ब्यूरोक्रेसी में चर्चा का विषय बन गया था। हालांकि डीजीपी जावीद अहमद की ओर से किया गया ट्वीट बना हुआ था।

यह भी पढ़ें... IAS ने दिखाई राह, बच्चों को मिल रहा ताजी सब्जियों वाला मिड-डे मील

2005 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं मंजिल सैनी

मंजिल सैनी 2005 बैच की आईपीएस हैं। वह मूलतः दिल्ली की रहने वाली हैं। 1975 में पैदा हुईं मंजिल सैनी ने इंटरनेशनल बिजनेस से मास्टर्स किया है। 30 साल की उम्र में आईपीएस बनी थीं। फिलहाल सीएम के गृह जनपद इटावा में तैनात हैं। इसके पहले वह मथुरा की एसएसपी रह चुकी हैं। वैसे, मुजफ्फरनगर में दंगे होने के बाद उन्हें वहां से हटा दिया गया था।

Newstrack

Newstrack

Next Story