×

दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री सोनम चिश्ती के नेतृत्व में किन्नरों ने जमाया थाने पर कब्ज़ा, रायबरेली सम्मेलन में गद्दी का था मामला

किन्नरों का नेतृत्व करने वाली किन्नर भी वीआईपी होने के चलते पुलिस को खुद नहीं समझ में रहा था कि वह क्या करे।

Narendra Singh
Updated on: 2 July 2022 1:54 PM GMT
Transgenders in Rae Bareilly
X

Transgenders in Rae Bareilly (Image Credit: Newstrack)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Transgenders in Rae Bareilly: रायबरेली का एक थाना बारह घंटे से ज़्यादा समय तक किन्नरों का अभ्यारण बना रहा। यहां सैकड़ों की संख्या में किन्नर थाने पर कब्ज़ा जमाये रहे। थाने आने वाले फरियादी भी थाने के भीतर किन्नरों की इतनी भारी तादाद देख कर अपनी फरियाद भूल गए। तड़के से थाना घेर कर बैठे किन्नर आखिरकार शाम होते होते थाने से रवाना हुए तो एसओ ने राहत की सांस ली।

किन्नरों का नेतृत्व करने वाली किन्नर भी वीआईपी होने के चलते पुलिस को खुद नहीं समझ में रहा था कि वह क्या करे। दरअसल गुरु गद्दी को लेकर किन्नरों का आपसी विवाद हो गया था। रायबरेली के प्रस्तावित किन्नर सम्मेलन में अयोध्या के किन्नर गुरु को नहीं बुलाया गया था।


अयोध्या के किन्नर गुरु किन्नर कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त सोनम चिश्ती के भी गुरु हैं। सोनम चिश्ती को जब मालूम हुआ कि उनके गुरु को रायबरेली सम्मेलन में गद्दी नहीं दी जा रही है तो वह सैकड़ों की संख्या में किन्नरों को लेकर यहां पहुंच गयीं। सोनम चिश्ती ने मिल एरिया थाना में डेरा जमा दिया। उसी समय रायबरेली का भी किन्नर समाज थाने पहुंच गया।

दोनों पक्ष वाद विवाद करते 12 घंटे से ज़्यादा समय तक थाने पर कब्ज़ा जमाये रहा। आखिरकार शाम को यह तय हुआ कि अखिल भारतीय किन्नर समाज की बैठक गुरु गद्दी का मामला रखा जाएगा।

Rakesh Mishra

Rakesh Mishra

Next Story