Top

क्या हो रहा है संरक्षण गृह में? दो और मिलीं प्रेग्नेंट, सबकी होगी जांच

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 6 April 2016 3:59 PM GMT

क्या हो रहा है संरक्षण गृह में? दो और मिलीं प्रेग्नेंट, सबकी होगी जांच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: राजधानी के मोतीनगर स्थित राजकीय बालगृह (बालिका) में एक लड़की की प्रेग्नेंट होने की खबर का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि बुधवार को जांच के दौरान दो और युवतियों के प्रेग्नेंट होने की मेडिकल रिपोर्ट्स सामने आई है। इस रिपोर्ट के बाद हड़कंप मच गया है।

दोनों संवासिनियों को बरेली महिला संरक्षण गृह से कुछ दिन पहले ही लखनऊ स्थानांतरित किया गया था। वहीं इस प्रकरण के सामने आने के बाद बाल आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह ने कहा कि राजकीय बालगृह में रहने वाली सभी संवासिनियों की मेडिकल जांच के आदेश दिए गए हैं।

जांच में चार प्रेग्नेंट मिलीं

-वीरांगना आवंतीबाई महिला चिकित्सालय (डफरिन) में पांच संवासिनियों को मेडिकल जांच के लिए लाया गया था।

-मंगलवार को इनमें से दो के प्रेग्नेंट होने की पुष्टि हुई थी।

-सूत्रों के मुताबिक चार संवासिनियां प्रेग्नेंट थीं।

-अब ऐसे में सवाल उठ रहा है ऐसा कैसे संभव है?

ये भी पढ़ें... संरक्षण गृह की लड़की प्रेग्नेंट,मंत्री ने सुपरिटेंडेंट को सस्पेंड किया

बाल आयोग की अध्यक्ष ने की दो की पुष्टि

-वहीं बाल आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह ने कहा कि मामला संवेदनशील है इसलिए आयोग घटना की तह तक जाएगा।

-जूही सिंह ने बताया की मोतीनगर संरक्षण गृह में दो लड़कियां प्रेग्नेंट हैं।

-इन दोनों में एक जिसकी शादी नहीं हुई वह 22 साल की है। दूसरी लड़की अंडरऐज है और वह शादीशुदा है।

देने होंगे कई सवालों के जवाब

-अब यह जांच का विषय है कि शादीशुदा लड़की की शादी कब हुई थी?

-और वह कितने दिनों पहले बरेली से लखनऊ बालिका गृह में लाई गई थी?

-इस मामले को देखने के लिए जांच टीम गठित कर दी गई है।

बाल आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह का कहना है कि उनके पास यह रिपोर्ट आई है कि वहां नियमों के विरुद्ध 18 वर्ष से अधिक आयु की लड़कियां रह रही हैं।

दो गर्भवती लड़कियों को गुपचुप भेजा रायबरेली

-जूही सिंह ने बताया की दो अन्य लड़कियों की बात भी सामने आई है।

-वह भी प्रेग्नेंट थीं जिन्हें रायबरेली संवासनी गृह भेजा गया है।

-इस मामले पर भी नजर रखी जा रही है।

-उन लड़कियों का भी मेडिकल चेकअप करवाया जाएगा।

-दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा।

सुपरिटेंडेंट सस्पेंड, फिर भी पहुंची बालिका गृह

-घटना के सामने आने पर सुपरिटेंडेंट रुपिंदर कौर को सस्पेंड कर दिया गया था।

-मगर वह बुधवार को भी बालिका गृह में जबरन काम पर पहुंच गईं।

-इस बात की सूचना जब जूही सिंह को मिली तो उन्होंने रुपिंदर कौर को फटकार लगाई।

-रुपिंदर ने कहा कि उन्हें इस संबंध में कोई पत्र नहीं मिला है।

बाल आयोग खफा, भेजा समन

-आयोग ने रुपिंदर से बुधवार की शाम तक नौ बिंदुओं पर पूछे गए सवाल के जवाब मांगे थे।

-मगर रुपिंदर कौर ने कोई उत्तर नहीं दिया।

-इससे खफा आयोग ने रुपिंदर को बुधवार की शाम बाय हैंड समन भेजा है।

-आयोग ने रुपिंदर को गुरुवार के दोपहर 12 बजे तक का समय दिया है।

-अगर समय पर रिपोर्ट नहीं सौंपी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Newstrack

Newstrack

Next Story