Top

उमा भारती ने की नमामि गंगे के तहत प्रोजेक्ट की शुरूआत, कहा- अब गंगा होंगी निर्मल

By

Published on 19 Aug 2016 12:45 PM GMT

उमा भारती ने की नमामि गंगे के तहत प्रोजेक्ट की शुरूआत, कहा- अब गंगा होंगी निर्मल
X
uma bharati started namami gange project in kanpur
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: पीएम नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट नमामि गंगे की कानपुर में शुक्रवार से शुरुआत की गई। केंद्र सरकार के 13 मंत्रालयों के सहयोग से चलाए जाने वाले इस प्रोजेक्ट की शुरुआत जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने की। 607 करोड़ की लागत से इस परियोजना के अंतर्गत गंगा की सफाई, सीवेज वाटर के शुद्धिकरण और घाटों के सुंदरीकरण जैसे काम होंगे।

कानपुर के माथे पर हमेशा से गंगा मैया को मैली करने का कलंक लगता रहा है। शुक्रवार को वहीं से गंगा की साफ सफाई और सुंदर नज़ारों को भरने की शुरूआत हुई। केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने नमामि गंगे की कानपुर में शुरूआत की, नमामि गंगे के तहत यहां हर रोज करोड़ो लीटर सीवेज वाटर को सीधे गंगा में गिराने से रोका जा सकेगा।

uma bharti namami gange

घाटों के विकास के लिए मिला 47.39 करोड़ का बजट

इसके लिए 63 करोड़ की लागत से सीसामऊ नाले को डायवर्ट करके सीवेज वाटर को साफ किया जाएगा। वैसे पूरे शहर के सीवेज नेटवर्क को सुधारने के लिए 397 करोड़ रूपए खर्च किए जायेंगे। पौराणिक नगरी बिठूर के रिवर फ्रंट डेवलपमेंट के लिए 100 करोड़ और कानपुर के घाटों के विकास के लिए 47.39 करोड़ रूपए का बजट रखा गया है। इस मौके पर उमा भारती के साथ डॉ मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद थे।

uma bharti namami gange

गंगा सफाई के लिए बदले जाएंगे डीपीआर

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जल संसाधन मंत्री ने माना कि गंगा सफाई के लिए इससे पहले चलाए गए कार्यक्रमों में व्यवहारिक कमियां थी। राज्यों द्वारा जो डीपीआर बनाई गई थी उनमें साफ जल गिराया जाना था। उमा भारती ने कहा कि गंगा की सफाई के लिए अब डीपीआर बदली जा रही है। अब घरेलू सीवेज वाटर शोधन के बाद खेती में प्रयोग किया जाएगा और उद्योगों से निकलने वाला रासायनिक जल शोधन के बाद इंडस्ट्री रिसाइलिंग करेंगी। इसे किसी भी हाल में गंगा में नहीं गिराया जाएगा।

uma bharti namami gange

केंद्र सरकार उठाएगी 700 करोड़ का खर्च

इसके अलावा केंद्र सरकार ने अब राज्य सरकार के अंशदान का आसरा न देखने का फैसला किया है। कानपुर के चमड़ा कारखानों को एक बड़ी राहत देते हुए उमा भारती ने एलान किया कि अब केंद्र सरकार कॉमन ट्रीटमेन्ट प्लान्ट की पूरी 700 करोड़ की लागत का खर्च उठाएगी। केवल रखरखाव का खर्च कारखाना मालिकों को उठाना होगा लेकिन इस पर अभी सहमति न बन पाने पर जल संसाधन मंत्री ने खेद जताया।

uma bharti namami gange

दाह संस्कार की होगी व्यवस्था

उन्होंने कहा कि 20 से अधिक घाटों का सुंदरीकरण कराया जाएगा वहीं शव के दाह संस्कार के लिए हम आस्था से खिलवाड़ नहीं करेंगे। इसके लिए हम दोनों प्रकार की व्यवस्थाएं रखेगें। इलेक्ट्रॉनिक शव दाह संस्कार का भी और कम लकड़ी में शव का दाह संस्कार हो जाए।

uma bharti namami gange

साक्षी और संधू को दी बधाई

सांसद उमा भारती ने रियो ओलंपिक में ब्राउन्स मेडल जीतने वाली साक्षी को बधाई दी तो वहीं आज पी बी संधू के होने वाले मुकाबले को लेकर उनको शुभकामना देते हुए कहा की आने वाली सदी महिलाओं की है। जहां अब तक रियो ओलंपिक में खाता नहीं खुला था वहीं महिलाओं ने मेडल जित कर देश का नाम रोशन किया है, हम उन सबको बधाई देते हैं।

Next Story