Top

उन्नाव रेप केस: सवालों के घेरे में प्रशासन और CBI, तेज हो रही कार्रवाई की मांग

सीबीआई अपने गवाहों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए और क्या सीबीआई ने अपनी गवाहों को बिना पुलिस सुरक्षा के अपना स्टेशन छोड़ने की सिफारिश की।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 29 July 2019 7:19 AM GMT

उन्नाव रेप केस: सवालों के घेरे में प्रशासन और CBI, तेज हो रही कार्रवाई की मांग
X
उन्नाव रेप केस: सवालों के घेरे में प्रशासन और CBI, तेज हो रही कार्रवाई की मांग
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायबरेली: जिले में सड़क हादसे के बाद प्रदेश की सियासत में तब उबाल आ गया, जब उन्नाव रेप केस में पीड़िता के परिजन सड़क हादसे को साजिश बताने लगे। वहीं, पुलिस और सीबीआई कुछ भी बोलने से बच रही है। हाईप्रोफाइल मामला होने के कारण पुलिस और फॉरेंसिक की टीमें कई बार घटनास्थल का निरीक्षण कर चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: #InternationalTigerDay : बोले पीएम- केवल ‘टाइगर जिंदा है’ से काम नहीं चलेगा

आज एक बार फिर हादसे के 24 घंटे बीतने से पहले लखनऊ की 3 सदस्य फॉरेंसिक की टीम रायबरेली फॉरेंसिक सदस्यों के साथ घटनास्थल का जायजा लिया। लखनऊ से पहुंची टीम में वरिष्ठ वैज्ञानिक सुधीर कुमार झा के साथ 3 सदस्य और हैं जो इस हादसे से जुड़े हुए सबूतों और प्रत्यक्षदर्शियों से बातचीत कर साक्ष्य जुटा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: उन्नाव रेप केस: योगी सरकार CBI जांच के लिए तैयार, फरार हुए विधायक के परिजन

अब देखना यह है कि फॉरेंसिक जांच के बाद पुलिस की जांच में क्या निकलता है। यह हादसा है या साजिश, इसका खुलासा पुलिस और सीबीआई जांच के बाद ही हो पाएगा। इस पूरे घटनाक्रम पर सीबीआई की कार्यशैली भी कई सवालों के घेरे में है।

यह भी पढ़ें: आज होगा येदियुरप्पा की किस्मत का फैसला, विधानसभा मेें साबित करना होगा बहुमत

सीबीआई अपने गवाहों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए और क्या सीबीआई ने अपनी गवाहों को बिना पुलिस सुरक्षा के अपना स्टेशन छोड़ने की सिफारिश की। इन सबके सबसे बड़ा सवाल यह है कि सीबीआई ने इस मामले में 24 घंटे बीतने के बाद भी घटनास्थल का जायजा क्यों नहीं लिया। ऐसे कई सवाल हैं जिनका जवाब सीबीआई को देना है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story