Top

आरती और अवधेश की मदद के लिए आगे आ रहे लोग, सोशल मीडिया पर उमड़ा प्यार

न्यूजट्रैक परिवार ने आरती के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। प्रयागराज में न्यूज ट्रैक प्रतिनिधि विशाल ओझा ने अस्पताल में आरती और उसके पति अवधेश को पुष्पगुच्छ देकर जल्द स्वस्थ होने की कामना की है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 21 Dec 2020 11:05 AM GMT

आरती और अवधेश की मदद के लिए आगे आ रहे लोग, सोशल मीडिया पर उमड़ा प्यार
X
आरती के इलाज के लिए अवधेश ने अपना छोटा सा खेत भी गिरवी रख दिया है। उसने बताया कि मौर्य बिरादरी का होने की वजह से उन लोगों के पास खेती भी ज्यादा नहीं है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: अवधेश और आरती की शादी और उनकी दर्द भारी दास्तान के बारें में जो कोई भी सुन रहा है, उसकी आंखें आंसुओं से नम हो जा रही है।

हादसे में घायल पत्नी आरती के साथ विवाह करने के बाद प्रयागराज के अस्पताल में अवधेश बीते कई दिनों से उनका इलाज करा रहे हैं।

डॉक्टरों ने बताया है कि आरती को तीन से चार महीने तक बिस्तर पर ही रहना होगा। इसके बाद ही उसके ठीक होने की उम्मीद है। पूरे इलाज में भी चार से पांच लाख खर्च होंगे।

ऐसे में कर्ज के तले डूब चुके अवधेश को अब रास्ता नहीं सूझ रहा है। यही वजह है शादी के कई दिन बीत जाने( 8दिसम्बर) के बाद भी सोशल मीडिया पर न केवल उनके विवाह की चर्चा हो रही है, बल्कि तमाम लोग मदद के लिए आगे भी आ रहे हैं।

Newstrack.com ने रविवार को अस्पताल में पुष्पगुच्छ देकर आरती के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। तो आइये जानते हैं सोशल मीडिया में अवधेश और आरती की शादी को लेकर किस तरह की बातें चल रही हैं।

यहां पढ़ें किसने क्या कहा?

अशोक राम पटेल

अवधेश भाई और उनकी पत्नी आरती जैसे लोग ही देश और समाज के गौरव है...! सच्चा प्रेम, एक दूसरे के प्रति समर्पण कुछ है तो वो ये ही है...!

आरती जी जल्दी से जल्दी पूरी तरह स्वस्थ हो और ये प्यारी जोड़ी सदैव खुश रहे...ईश्वर से ये ही प्राथना रहेगी...!

awdhesh

श्रीमान डेरवाल

एक शख्स ने इंसानियत और मोहब्बत की ऐसी मिसाल पेश की है, जिसे लोग बरसों तक याद रखेंगे शादी के फेरों से महज 8 घंटे पहले एक हादसे में दुल्हन आरती के पूरी तरह अपंग हो जाने के बाद भी दूल्हे अवधेश ने न सिर्फ रिश्ता कबूल किया, बल्कि स्ट्रेचबार पर ही रचाई शादी।



वंशिका जनचेतना फाउंडेशन

जो महिलाएं पति के बुरे दिनों में उन्हें गैर पुरुष के साथ छोड़कर फरार हो जाती हैं ऐसी महिलाओं के लिए एक युवक का प्यार बना मिसाल। उत्तर प्रदेश के जनपद प्रतापगढ़ के एक शख्स ने इंसानियत और मोहब्बत की ऐसी मिसाल पेश की है, जिसे लोग बरसों तक याद रखेंगे।



गौतम कुशवाहा

फिल्मों में बहुत देंखे है ऐसे सीन।पर समाज में मानवीय मूल्यों और प्रेम को दर्शाता"फिल्म-विवाह"के तर्ज पर ही हुआ सच में यूपी की आरती - अवधेश मौर्य की शादी। *महादेव आप दोनों पर अपनी असीम अनुकम्पा बनाए* और अभी से ज्यादा बेहतर करें आरती जी को। मिसाल है आप अवधेश

awdhesh

शैलेन्द्र

आज के दौर में जब अधिकतर युवाओं के लिए प्रेम शब्द का अर्थ सिर्फ वासना और हवस की पूर्ति है, इस अंधकार में अवधेश एक सूर्य समान हैं



पत्नी आरती के इलाज के लिए अवधेश पर आया आर्थिक संकट

जीवन का आदर्श प्रस्तुत करने वाले अवधेश का आर्थिक संकट बढ़ता जा रहा है। रिश्तेदारों से कर्ज व जमीन गिरवी रखने के बाद व बमुश्किल डेढ़ लाख रुपये का इंतजाम कर पाया है। डॉक्टरों के अनुसार आरती के इलाज पर लगभग पांच लाख रुपये खर्च होंगे। इस दौरान अगले तीन से चार महीने तक वह बिस्तर पर ही पड़ी रहेगी। ऐसे में अवधेश को ही उसकी देखभाल करनी होगी। वह अगले कई महीनों तक घर से बाहर रोजगार की तलाश में भी नहीं जा सकेगा।

खेत रखा गिरवी, तीन से चार महीने तक बिस्तर पर ही रहेगी आरती

आरती के इलाज के लिए उसने अपना छोटा सा खेत भी गिरवी रख दिया है। अवधेश ने बताया कि मौर्य बिरादरी का होने की वजह से उन लोगों के पास खेती भी ज्यादा नहीं है।

छोटे से खेत में सब्जी उगाकर घर का खर्च चलाया करते थे। पिता का साया नहीं होने से परेशानियां बढ़ गई थीं। इसी वजह से उसने फरीदाबाद जाकर नौकरी तलाशने की कोशिश भी की।

स्नातक की शिक्षा हासिल करने के बावजूद उसे आज तक कोई अच्छा काम नहीं मिल पाया है। उसने सोचा था कि शादी के बाद दोनों लोग मिलकर खेत के छोटे से टुकड़े पर मेहनत करेंगे लेकिन अब आरती के बिस्तर पर होने और उसकी देखभाल की जिम्मेदारी होने की वजह से खेती करना भी मुमकिन नहीं रह गया।

जीवन का आदर्श प्रस्तुत करने वाले अवधेश को मदद की आस

अस्पताल में मिलने और हाल -चाल पूछने के लिए कई लोग आए। मीडिया संस्थान से भी लोग पहुंचे लेकिन किसी से अब तक मदद नहीं मिली। अवधेश का कहना है कि बगैर समाज की मदद मिले अब उसके लिए अपनी पत्नी का इलाज कराना मुश्किल हो रहा है।

pratapgarh news avdesh-aarti-2 आरती और अवधेश के लिए सोशल मीडिया पर उमड़ा प्यार, पढ़े किसने क्या कहा? (फोटो:सोशल मीडिया)

न्यूजट्रैक ने की आरती के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना

न्यूजट्रैक परिवार ने आरती के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। प्रयागराज में न्यूज ट्रैक प्रतिनिधि विशाल ओझा ने अस्पताल में आरती और उसके पति अवधेश को पुष्पगुच्छ देकर जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। न्यूज ट्रैक ने आरती को इलाज में मदद दिलाने का भी भरोसा दिलाया है।

दूसरी ओर न्यूज ट्रैक को रीडर्स के ऐसे संदेश भी मिले हैं जिसमें लोगों ने उसकी मदद करने की इच्छा जताई है। ऐसे लोगों के लिए न्यूज ट्रैक ने आरती के पति अवधेश के बैंक खाते की जानकारी भी जुटाई है।

ये भी पढ़ेंः मिसाल बनी बिटिया: बलिया की नेहा के हुनर से हिली दुनिया, वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज

Newstrack

Newstrack

Next Story