×

UP Assembly: नए विधायकों को मिलेंगे 'Tablet', कितने दिन सदन में रहे उपस्थिति अब होगा मालूम

UP News Today: उत्तर प्रदेश की विधानसभा शनिवार को क्लास रूम से कम नहीं दिख रही थी। सभी विधायक छात्र की भूमिका में थे तो आईटी क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञ, अध्यापक की भूमिका में नजर आए।

Shreedhar Agnihotri
Updated on: 21 May 2022 2:30 PM GMT
up assembly new mla will get tablet session proceedings paperless
X

up assembly 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP News Today: उत्तर प्रदेश की विधानसभा (Uttar Pradesh Legislative Assembly) शनिवार को क्लास रूम से कम नहीं दिख रही थी। सभी महिला और पुरुष विधायक छात्र-छात्राओं की भूमिका में थे और आईटी क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञ, अध्यापक की भूमिका में। फिर, चाहे वह संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना (Suresh Kumar Khanna) हों अथवा कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही (Agriculture Minister Surya Pratap Shahi) हों। सदन के सभी सदस्य विपक्ष से लेकर सत्ता पक्ष तक टैबलेट (Tablet) कैसे चलाना है, इसकी जानकारी ले रहे थे।

जब विधायक पूछे- सवाल कैसे लगाए जाएंगे?

सोमवार यानी 23 मई से शुरू होने जा रही उत्तर प्रदेश विधानसभा सत्र की कार्यवाही पेपरलेस (Paperless) किए जाने की दिशा में आज से सभी विधायकों का प्रशिक्षण शुरू हुआ। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना पूरे कार्यक्रम को अपने आसन पर बैठकर संचालन करते रहे। किसी सदस्य ने सवाल किया, कि लैपटॉप लॉग इन कैसे होगा? तो किसी ने पूछा, सवाल कैसे लगाए जाएंगे? इस पर विशेषज्ञों की टीम उनके हर सवाल का जवाब सहजता से देती रही।


घर बैठे भी होगा काम

आईटी क्षेत्र के विशेषज्ञों ने बताया, कि सदन के सदस्य घर में बैठकर भी इसे ऑपरेट कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें एक एप्लीकेशन अपने टैबलेट पर अपलोड करनी पड़ेगी। जिससे वह घर पर बैठकर अपनी टिप्पणियों और सवालों को लगा सकते हैं। इसके अलावा, इसी टैबलेट से वह 'ई वोटिंग' भी कर सकेंगे। इसके अलावा किस मंत्री ने किस सदस्य के सवाल का जवाब कितनी देर तक दिया, यह सब कुछ टैबलेट पर और विधानसभा मंडप में लगी एलइडी स्क्रीन पर आ जाएगा।


अभी प्रशिक्षण पूरा नहीं हुआ

इस पर, समाजवादी पार्टी के विधायक राकेश सिंह ने कहा, कि 'बहुत से सदस्यों के पास टैबलेट नहीं है।' इस पर विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने कहा, कि नए सदस्यों को टैबलेट दिए जाएंगे। कार्यक्रम खत्म होने के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना बोले, 'अभी प्रशिक्षण पूरा नहीं हुआ है। सेवा केन्द्र में एक साथ साठ सदस्यों को प्रशिक्षण देने का काम होता रहेगा। जब भी कोई सदस्य विधानसभा स्थित इस केंद्र पर जाएगा, उसे पूरी तकनीकी जानकारी दी जाएगी।'

aman

aman

Next Story