×

पुलवामा घटना से सदन आहत: सबने दी श्रद्धांजलि,25-25 लाख की अनुग्रह राशि-नौकरी का एलान

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा क्षेत्र में कल हुई आतंकी घटना के शोक में आज विधानसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गयी। इससे पहले सत्ता पक्ष और विपक्ष की तरफ से शहीदों को श्रद्धाजंलि देकर, दो मिनट का मौन रखा गया।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 15 Feb 2019 8:32 AM GMT

पुलवामा घटना से सदन आहत: सबने दी श्रद्धांजलि,25-25 लाख की अनुग्रह राशि-नौकरी का एलान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा क्षेत्र में कल हुई आतंकी घटना के शोक में आज विधानसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गयी। इससे पहले सत्ता पक्ष और विपक्ष की तरफ से शहीदों को श्रद्धाजंलि देकर, दो मिनट का मौन रखा गया।

शुक्रवार को पूर्वान्ह 11 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने शोक प्रस्ताव रखते हुए जम्मू-कश्मीर के पुलवामा क्षेत्र में हुई आतंकी घटना के बारे में सदन को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि कल पुलवामा में जो घटना घटी उसमें सीआरपीएफ के 41 जवान शहीद हो गए हैं। कई समाचार पत्रों में शहीदों की संख्या 44 भी बताई गयी है परन्तु मेरे पास उपलब्ध सूचना के अनुसार यह संख्या इतनी ही है। इसके अलावा 40 जवान उस आतंकी घटना में घायल भी हुए है।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा आतंकी हमलाः महराजगंज के लाल पंकज त्रिपाठी शहीद, शोक में डूबा पूरा जिला

इस आतंकी घटना में पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का नाम सामने आया है। श्री खन्ना ने बताया कि जबसे पाकिस्तान प्रत्यक्ष लड़ाई में हारा है, तबसे वह ऐसी ही कायराना हरकतें कर अपनी खीझ निकालता रहता है। हालांकि समय-समय पर इसका जवाब भी दिया जाता है। कल की घटना में लगभग 2000 लोगों का काफिला जा रहा था। इसी काफिले में एक गाड़ी आकर टकराई, जिसमें लगभग 300 किलो विस्फोटक था। काफिले की एक गाड़ी में भारतीय सेना के जवान बैठे थे और यह विध्वंसक घटना हो गयी।

घटना की जितनी भी निन्दा की जाए उतनी कम है - सुरेश खन्ना

संसदीय कार्यमंत्री खन्ना ने इस घटना को कायराना हरकत बताते हुए सदन को बताया कि घटना की जितनी भी निन्दा की जाए उतनी कम है। पूरा सदन शहीदों के परिजनों के साथ है। संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि इस आतंकी घटना में सबसे अधिक उत्तर प्रदेश के 11 जनपदों के 12 जवान शहीद हुए है। जिनमें अवधेश कुमार(चंदौली), पंकज कुमार (महराजगंज),अमित कुमार (शामली), विजय मौर्या (देवरिया), रामवकील (मैनपुरी), महेश कुमार (प्रयागराज), प्रदीप कुमार(शामली), रमेश यादव (वाराणसी), कौशल कुमार रावत(आगरा), प्रदीप सिंह (कन्नौज), श्यामबाबू (कारपुर देहात) तथा अजीत (उन्नाव) शाामिल है। उन्होंनें बताया कि शहीदों के परिजनों को 25 लाख की अनुग्रह राशि तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा अटैक: देवरिया के लाल शहीद विजय कुमार मौर्य को सलाम, इलाके पसरा मातम

श्री खन्ना ने बताया कि इन शहीदों का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा और अंतिम संस्कार में प्रदेश सरकार का एक मंत्री, जिलाधिकारी तथा एक पुलिस अधीक्षक शामिल होगा। इसके अलावा शहीदों के गृह नगर को जोड़नेवाले सम्पर्क मार्ग का नाम शहीद के नाम पर रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि इस घटना की जितनी निन्दा की जाए कम है। उन्होंने कहा विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह है कि वह सदन की भावनाएं शहीदों के परिजनों तक पहुंचाने का काम करें।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा अटैक में कानपुर के प्रदीप यादव शहीद ,परिवार समेत पूरा शहर शोक में डूबा

अब पानी सिर से ऊपर हो रहा है- रामगोविन्द चौधरी

इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने अपनी शोक व्यक्त करते हुए कहा कि मैं अपने दल की तरफ से शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं। अब पानी सिर से ऊपर हो रहा है, इसलिए अब पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देने का समय आ गया है। इस दुःखद घड़ी में पूरा विपक्ष साथ है। नेता प्रतिपक्ष चौधरी ने कहा कि जैसे अमेरिका ने लादेन को ढूंढकर मारा था, वैसे ही आतंकवादियों को जवाब दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कि जब भी इस तरह की घटना होती है, तो सबसे अधिक जवान उत्तर प्रदेश के ही शहीद होते हैं। पहले भी इस तरह की घटनाएं होती रही है। सांत्वना और अनुग्रह राशि से अब काम चलने वाला नहीं है। इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित करने का आग्रह किया।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा अटैक: शहीद राम वकील ने वादा किया था- मैं लौटकर आऊंगा, अपना मकान बनवाऊँगा

पूरा देश एक साथ खड़ा है- लालजी वर्मा

बहुजन समाज पार्टी विधानमंडल दल के नेता लालजी वर्मा ने कहा कि पुलवामा की घटना बहुत ही दुःखद है। आतंकियों की इस हरकत की पूरा देश निंदा कर रहा है। पूरा देश एक साथ खड़ा है। अपने दल की तरफ से श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कुदरत से प्रार्थना करता हूं कि मृत आत्मा को शांति मिले तथा परिवार के सदस्यों को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा आतंकी घटना में शहीद हुए रमेश, मातम में डूबा वाराणसी

बेहद दुखदायी और मर्माहत करने वाली घटना है- अजय कुमार सिंह लल्लू

अपने दल की तरफ से शहीदों को श्रृद्वाजंलि अर्पित करते हुए कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार सिंह लल्लू ने कहा कि यह घटना बेहद दुखदायी और मर्माहत करने वाली घटना है। अजय कुमार ने कहा कि पाकिस्तान को उसी तरह से जवाब देना चाहिए, जैसे कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान में घुसकर जवाब दिया था। विधानमंडल के नेता ने कहा कि पाकिस्तान पर कब्जा कर उसे मुंहतोड़ जवाब देना होगा। यही शहीदों के प्रति सच्ची श्रृद्वाजंलि होगी। उन्होंने सरकार से मांग की कि शहीदों के परिजनों को 25 लाख की जगह एक करोड़ तथा घायलों को 50 लाख की अनुग्रह राशि देनी चाहिए। यह दुःख की पराकाष्ठा है। अपने दल की तरफ से शहीदों को श्रृद्वाजंलि अर्पित करते हुए, घायलों की शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा आतंकी घटना में शहीद हुए अजित आज़ाद, मातम में डूबा उन्नाव

दुश्मन देश को सजा मिलनी ही चाहिए- नीलरतन पटेल

इस मौके पर अपना दल के नेता नीलरतन पटेल ने कहा कि पाकिस्तान की यह कायराना हरकत है। पाकिस्तान को जवाब देने का समय आ गया है। दुश्मन देश को सजा मिलनी ही चाहिए। मैं अपनी पार्टी की तरफ से शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं और ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि शहीदों की आत्मा को शांति मिले।

यह भी पढ़ें.....गृह सचिव राजीव गौबा के साथ श्रीनगर के लिए रवाना हुए राजनाथ सिंह

पाकिस्तान में कोई संवैधानिक संस्था भी कारगर नहीं है- हृदय नारायण दीक्षित

अंत में विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने अपनी तरफ से शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि दलीय नेताओं की संवेदनाओं से स्वयं को सम्बद्ध करते हुए मुझे पुलवामा की घटना पर बेहद दुःख है। पूरा देश इस घटना से आहत है। पाकिस्तान प्राकृतिक राष्ट्र नहीं है। जिस तरह से संस्कृतियों से मिलकर राष्ट्र का निर्माण होता है, पाकिस्तान के साथ ऐसा नहीं है। पाकिस्तान में कोई संवैधानिक संस्था भी कारगर नहीं है। पूरा देश आतंकवाद की छावनी है। संकट के इस क्षण में शहीदों के परिजनों के दुःख में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, विपक्षी दल से लेकर पूरा देश उनके साथ है।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story