Top

कल से यूपी बीएड काउंसलिंग: चार चरणों में पूरी होगी प्रक्रिया, ये डॉक्यूमेंट्स रखें पास

यूपी के बीएड कॉलेजों में एडमिशन के लिए काउंसलिंग कल यानी 19 नवंबर से शुरू हो रही है। चार चरणों में होने वाली काउंसलिंग के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 18 Nov 2020 3:29 PM GMT

कल से यूपी बीएड काउंसलिंग: चार चरणों में पूरी होगी प्रक्रिया, ये डॉक्यूमेंट्स रखें पास
X
कल से शुरू होगा यूपी बीएड काउंसलिंग, चार चरणों में पूरी होगी प्रक्रिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूपी के बीएड कॉलेजों में एडमिशन के लिए काउंसलिंग कल यानी 19 नवंबर से शुरू हो रही है। चार चरणों में होने वाली काउंसलिंग के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कोरोना वायरस महामारी के कारण अभ्यर्थियों की काउंसलिंग की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। प्रवेश परीक्षा में मेरिट के हिसाब से काउंसलिंग की प्रक्रिया चार चरणों में पूरी की जाएगी। पहले चरण में रैंक 01 से 50 हजार तक, दूसरे चरण में 50001 से 01 लाख 40 हजार तक, तीसरे चरण में 1,40,001 से 02 लाख 40 हजार तक तथा चैथे चरण में 2, 40,001 से अंत तक के सफल अभ्यर्थियों की काउंसलिंग की जायेगी।

अभ्यर्थियों के शैक्षिक दस्तावेज का सत्यापन कराना होगा

काउंसलिंग के लिए सबसे पहले अभ्यर्थियों के शैक्षिक दस्तावेज का सत्यापन कराना होगा। दस्तावेज सत्यापन के बाद अभ्यर्थियों के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जायेगा। इस ओटीपी की सहायता से अभ्यर्थी अपने कोर्स व कालेज के लिए विकल्प का आनलाइन चुनाव कर सकेंगे। इसके बाद अभ्यर्थियों की रैंक व उनके द्वारा दिए गए विकल्पों के आधार पर सीटों का आवंटन किया जायेगा। परीक्षा के पंजीकरण के लिए 500 रुपये तथा प्रवेश के लिए 5000 रुपये का शुल्क जमा करना होगा। काउंसलिंग के बाद अगर किसी अभ्यर्थी को सीट आवंटित नहीं होती है तो उसका प्रवेश शुल्क वापस कर दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें: सेना पर गिरे बम: धमाके से हिल उठा कश्मीर, आतंकी हरकतों से खौला खून

सितम्बर में होनी थी काउंसलिंग

बता दे कि लखनऊ विश्वविदयालय द्वारा यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा- 2020, बीती 09 अगस्त को राज्य के 73 जिलों में बनाये गए 1571 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित हुई थी। इसकी पात्रता सूची जारी होने के बाद सितम्बर में काउंसलिंग आयोजित होनी थी लेकिन कुछ विश्वविद्यालयों में कोरोना महामारी के कारण वार्षिक परीक्षाएं नहीं आयोजित हो पायी थी, जिसके कारण काउंसलिंग स्थगित कर दी गई थी। इसके बाद 19 अक्टूबर से काउंसलिंग होनी थी लेकिन स्नातक अंतिम वर्ष परीक्षा का परिणाम नहीं घोषित होने के कारण इसे भी आगे बढ़ा दिया गया था।

मनीष श्रीवास्तव

यह भी पढ़ें: सबसे सुंदर पुरुष: इन्हें मिला सेक्सिएस्ट मैन का खिताब, एक्टर ने जताई खुशी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story