Top

प्रबंधक करा रहा था खुलेआम नकल, DIOS के पहुंचते ही कॉलेज छोड़कर भागा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 24 Feb 2016 12:14 PM GMT

प्रबंधक करा रहा था खुलेआम नकल, DIOS के पहुंचते ही कॉलेज छोड़कर भागा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: शेरगढ़ क्षेत्र में स्थित महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज हौंसपुर में सामूहिक रूप से नक़ल कराए जाने का खुलासा हुआ है। यह खुलासा उस वक्त हुआ जब स्कूलों के जिला निरीक्षक (डीआईओएस) ने हाईस्कूल के गृह विज्ञान की परीक्षा के दौरान कॉलेज में छापेमारी की। डीआईओएस गजेंद्र कुमार ने शेरगढ़ थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया है। इसके अलावा परिसर में डीआईओएस को कई और अनियमितता भी दिखीं।

thanashergadh

क्या हुआ था डीआईओएस के पहुंचने पर ?

-डीआईओएस के कॉलेज पहुंचने पर एक व्यक्ति भागता नजर आया।

-बताया गया, भागने वाला व्यक्ति कॉलेज प्रबंधक था।

-हालांकि, व्यक्ति भागने में कामयाब रहा इसलिए पुष्टि नहीं हो सकी कि प्रबंधक किस कॉलेज का था।

-यहां तीन अन्य कॉलेजों के सेंटर भी आए हैं।

-नियम के अनुसार, परीक्षा केंद्र में नहीं रह सकते प्रबंधक।

-विद्यालय में बगैर पंजीकरण के विद्यार्थियों द्वारा परीक्षा देने की शिकायत पर भी जांच बैठी है।

छात्रा से पूछताछ के बाद हुआ खुलासा

-कक्ष संख्या-24 में छात्रा लक्ष्मीकुमारी के पास प्रश्न पत्र नहीं था।

-डीआईओएस द्वारा पूछने पर बगल में बैठी छात्रा का प्रश्नपत्र उठाकर दिखाया।

-बगल में बैठी छात्रा चिल्लाते हुए बोली, “यह मेरा प्रश्न पत्र है।”

-कड़ाई से पूछताछ करने पर छात्रा ने खुलासा किया।

-बताया, प्रबंधक ने मेरा प्रश्न पत्र बाहर भेजा है।

बोर्ड एग्जाम स्लिप

बदले गए कॉलेज के केंद्र व्यवस्थापक और अतिरिक्त प्रभारी

-डीआइओएस ने केन्द्र व्यवस्थापक और अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापक को हटाकर दूसरे की तैनाती की है।

-प्रश्नपत्र बाहर भेजने में सहयोग देने वाले कक्ष निरीक्षकों को भी हटाया।

प्रश्नपत्र पढ़ते मिले कक्ष निरीक्षक

-नियमों के विपरीत कक्ष निरीक्षक प्रश्नपत्र पढ़ते मिले।

-मामला संदिग्ध लगने पर डीआइओएस नें तत्काल प्रभाव से कक्ष निरीक्षक को हटाया।

नक़ल के नाम पर पहले से बदनाम है कॉलेज

-आसपास के लोगों का कहना है कि यहां बहुत नक़ल होती है।

-जिला मुख्यालय से काफी दूर स्थित होने की वजह से यहां कभी उड़नदस्ता नहीं जाता।

-इसका अभी तक केंद्र फायदा उठाता रहा है।

-केंद्र पहुंचने का मुख्य रास्ता भी कटवा दिया जाता है, ताकि उड़नदस्ता कॉलेज न पहुंच सके।

-सेटिंग न होने पर नक़ल का भंडाफोड़ हो गया।

क्या कहना है डीआईओएस गजेंद्र कुमार का ?

-परिसर में जांच के दौरान कई स्तर पर गड़बड़ियां मिली हैं।

-कॉलेज परिसर से भागने वाले व्यक्ति के बारे में पता किया जा रहा है कि किस कॉलेज का प्रबंधक है।

-उसके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

केंद्र व्यवस्थापक सियाराम गंगवार ने किया नक़ल होने का खंडन

-केंद्र व्यवस्थापक का कहना है, हमारे कॉलेज में नक़ल नहीं हो रही थी।

-छात्रा के टेबल से पेपर गिर गया था।

-अधिकारी परिसर को बदमान कर रहे हैं।

-मैं बेक़सूर हूं।

Newstrack

Newstrack

Next Story