×

Yogi Adityanath News: CM योगी के कड़े निर्देश, इस बार लीक हुआ टीईटी परीक्षा का पर्चा तो खैर नहीं

Yogi Adityanath News: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 23 जनवरी को प्रस्तावित शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के व्यवस्थित आयोजन के लिए सभी तैयारियों की परख कर ली जाए।

Network
Updated on: 20 Jan 2022 8:16 AM GMT
UP CM Yogi Adityanath
X

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फोटो : सोशल मीडिया )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Yogi Adityanath News: पिछले महीने रद्द हुई टीईटी परीक्षा (TET exam canceled ) के 23 जनवरी को होने वाले आयोजन के पहले राज्य सरकार (State government) इसकी व्यापक तैयारियों में लगी हुई है। साथ ही कोरोना (Coronavirus) को देखते हुए अलग से भी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इस बीच आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा कि शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) की शुचिता को देखते हुए सुरक्षा सभी आवश्यक बंदोबस्त किए जाएं। पर्चा लीक जैसी घटना कतई स्वीकार्य नहीं होगी। किसी अव्यवस्था अथवा अप्रिय घटना के लिए संबंधित जिलाधिकारी, बीएसए, परीक्षा केंद्र प्रभारी, सभी की जिम्मेदारी तय होगी। संदिग्ध एवं अराजक तत्वों पर नजर रखी जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 23 जनवरी को प्रस्तावित शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के व्यवस्थित आयोजन के लिए सभी तैयारियों की परख कर ली जाए। यदि कोई कोविड पॉजिटिव अभ्यर्थी परीक्षा देना चाहता है तो उसके लिए अलग से कक्ष की व्यवस्था दी जाए। हर केंद्र पर एक कोविड केयर सेंटर (covid care center) स्थापित रहे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब तक कोविड टीके (covid vaccines) की 24 करोड़ से अधिक डोज लगाई जा चुकी है, साथ ही 9 करोड़ 72 लाख से अधिक सैम्पल की जांच भी हो चुकी है। यह देश के किसी एक राज्य में हुआ सर्वाधिक टेस्टिंग-टीकाकरण है। उन्होेंने कहा कि अब हम औसतन 25 लाख लोगों को हर दिन टीकाकवर दे रहे हैं, इस क्षमता को बढ़ाकर 30 लाख दैनिक किया जाए। टीकाकरण में धीमी गति वाले जिलों से संवाद बनाएं। यहां विशेष प्रयास किए जाने की जरूरत है।

डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग अभियान

उन्होंने कहा कि आगामी सप्ताह में प्रस्तावित प्रदेशव्यापी डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग अभियान के लिए स्वास्थ्यकर्मियों का विधिवत प्रशिक्षण कराया जाए। अपनी निगरानी समितियों के सहयोग से हमने पिछली लहर में घर-घर स्क्रीनिंग का कार्य किया, जिससे कोविड नियंत्रण में सहायता मिली। इस बार भी ऐसे ही प्रयास की जरूरत है। इस कार्यक्रम में निगरानी समितियां एवं स्वास्थ्यकर्मी घर-घर पहुंचें।

योगी ने कहा कि प्रत्येक जिले में कम से कम एक बड़ा अस्पताल डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के रूप में आरक्षित किया जाए। अन्य अस्पताल नॉन कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध रहें।

कोरोना डोस

वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के 96 से अधिक लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। 62 प्रतिषत से अधिक लोग कोविड टीके की दोनों डोज ले चुके हैं। विगत दिवस तक 15-17 आयु वर्ग के लगभग 48 प्रतिषत किशोरों ने टीका कवर प्राप्त कर लिया है और 45 से अधिक पात्र लोगों को प्री-कॉशन डोज भी मिल चुकी है।

विगत 24 घंटों में 2 लाख 47 हजार 845 कोरोना टेस्ट किए गए, जिसमें 18,554 नए कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसी अवधि में 19,328 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। वर्तमान में कुल एक्टिव केस की 97 हजार 329 है। यह संक्रमण वायरल फीवर की तरह है।

Monika

Monika

Next Story