×

UP Crime News: एक क्लिक में पढ़ें उत्तर प्रदेश की क्राइम की खबरें

उत्तर प्रदेश के कई जिलों से शनिवार को आपराधिक घटनाओं की खबरें आई हैं। इन खास खबरों को एक नजर में आप यहां जान सकते हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkRaghvendra Prasad MishraPublished By Raghvendra Prasad Mishra

Published on 31 July 2021 3:12 PM GMT

nigerian thug
X

पुलिस की गिरफ्त में नाइजीरियन ठग (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

up crime news: उत्तर प्रदेश के कई जिलों से शनिवार को आपराधिक घटनाओं की खबरें आई हैं। इन खास खबरों को एक नजर में आप यहां जान सकते हैं। तो आइए यहां देखते हैं प्रदेश की क्राइम की खबरें...

लखनऊ: क्राइम ब्रान्च के बिछाए जाल में फंस गया नाइजीरियन ठग

पूरे सूबे में लोगों को कस्टम अधिकारी बनकर ठगने वाले एक नाइजीरियन शख्स को शनिवार को सूबे की कानपुर क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। इस नाइजीरियन ठग ने लगभग 40 से ज्यादा लड़कियों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है। ये अब तक 70 से 80 लाख रुपये तक की ठगी कर चुका है। इस विदेशी ठग से पुलिस ने इनकम टैक्स का नकली आई कार्ड, एक लेपटॉप, एक पासपोर्ट व दो मोबाइल फोन भी बरामद किये हैं। सूबे में खास तौर पर अपनी ठगी का शिकार बनाने वाला यह नाइजीरियन ठग वर्ष 2019 से देश की राजधानी दिल्ली के साउथ इलाके ने रहता था। यह मेडिकल वीजा पर भारत आया था।

कानपुर क्राइम ब्रांच की टीम ने बताया कि ये शख्स पहले फेसबुक व इंस्टग्राम पर युवतियों से दोस्ती किया करता था। फिर उन्हें विदेशी मंहगे गिफ्ट भेजता था और बाद में खुद कस्टम अधिकारी बनकर उनसे ठगी किया करता था।

कानपुर क्राइम ब्रान्च ने बताया कि गत 24 जुलाई को एक युवती ने इसके खिलाफ थाना नवाबगंज में मामला दर्ज करवाया। उसमें उस युवती ने बताया कि इस नाइजीरियन ठग ने खुद को यूके का निवासी बताकर उससे दोस्ती की। फिर एक मंहगा गिफ्ट भेजा। फिर उसके बाद इस नजीरियन शख्स ने कस्टम अधिकारी बन कर उसे फोन किया। उसे गिफ्ट आने के संदर्भ में बताया और कहा कि इस गिफ्ट लेने के लिये उसे 23,500 रुपये देने होंगे। इस पर उक्त युवती ने उसके एकॉउंट में रुपया ट्रांसफर कर दिया। इसके बाद इसका फिर फोन युवती के पास पहुंचा। जिसमें उसने कहा कि गिफ्ट में पैसे भी हैं। इसके लिए उसे मनी लॉड्रिंग का प्रमाण पत्र देना होगा फिर धमकाया कि वरना आप मुश्किल में फंस जाओगी।तो घबराकर उस युवती ने फिर उसके एकॉउंट में 65 हजार रुपये भेज दिये।

इस तरह डरा धमकाकर इस नजीरियन ठग ने 4,04,787 रुपये खाते में जमा करवा लिये। इसके बाद उक्त युवती ने गिफ्ट रिसीव न करने व अपने रुपये वापस मांगे तो फिर इस नाइजीरियन ठग ने उस युवती का नम्बर ब्लॉक कर दिया।

इसके बाद कानपुर क्राइम ब्रान्च की टीम ने इस मामले की जांच शुरू की और इस नाइजीरियन ठग को गिरफ्तार करने के लिये एक जाल बिछाया जिसमें यह नाइजीरियन ठग खुद ब खुद फंस गया।

आगरा: महिला और तीन बच्चों की हत्या में वांछित इनामी अंशुल गिरफ्तार

आगरा के कोतवाली थाना क्षेत्र के कूचा साधुराम में महिला और तीन बच्चों की हत्या के मामले में वांछित तीसरे आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अंशुल की गिरफ्तारी पर पुलिस अधिकारियों ने 25 हजार का इनाम घोषित किया था। 22 जुलाई को हुई वारदात के बाद से आरोपी अंशुल फरार चल रहा था। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से मृतका रेखा राठौर के घर से लूटे गए आभूषण बरामद किए हैं। पुलिस टीम ने आरोपी अंशुल के कब्जे से मृत का रेखा राठौर और उनके बेटे वंश राठौर का आधार कार्ड बरामद किया है। आरोपी के कब्जे से 700 रुपए की नकदी भी पुलिस टीम ने बरामद किया है।

ग्राहक बनकर रेखा के घर पहुंचा था आरोपी अंशुल

पुलिस पूछताछ में अंशुल ने खुलासा किया है कि हत्या के मुख्य आरोपी संतोष राठौर ने उसे लालच देकर वारदात में शामिल कर लिया था। वारदात के दिन मुख्य आरोपी संतोष राठौर अपने दोस्त अंशुल राठौर को मकान का ग्राहक बनाकर रेखा राठौर के पास ले गया था। अंशुल ने मकान खरीदने के लिए रेखा राठौर से मोल भाव भी किया था। मकान खरीदने की बात के बहाने से आरोपी अंशुल ने महिला रेखा राठौर को उलझाये रखा। इस दौरान संतोष राठौर ने मौके का फायदा उठाकर दूध में नींद की गोलियां मिला दी। मौका मिलते ही अंशुल, संतोष और वीरू ने साथ मिलकर माँ और तीन बच्चों की बेरहमी से हत्या कर दी थी।

संतोष और वीरू को पुलिस पहले ही भेज चुकी है जेल

22 जुलाई को कोतवाली थाना क्षेत्र में हुई खौफनाक वारदात के बाद पुलिस टीम खुलासे के प्रयास में जुटी हुई थी। पुलिस ने 27 तारीख को जुलाई को वारदात का खुलासा करते हुए महिला के रिश्ते के मुंह बोले भाई संतोष राठौर और उसके दोस्त वीरू को गिरफ्तार किया। पुलिस ने खुलासा किया गया था कि रेखा राठौर से ली गई 2 लाख रुपए की उधारी को हड़पने के लिए और उनके घर में लूट करने के लिए ही संतोष राठौर, वीरू और अंशुल ने चौहरे हत्याकांड की वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस तीनों आरोपियों की लेगी कस्टडी रिमांड

दिल दहला देने वाली वारदात के तीनों आरोपियों से पुलिस टीम एक बार फिर आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करेगी। पुलिस अभी कुछ और सवालों के जवाब खोज रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि तीनों आरोपी जब आमने-सामने होंगे, तो इन सवालों के जवाब आसानी से मिल जाएंगे। तीनों आरोपियों की न्यायालय से पुलिस कस्टडी रिमांड ली जाएगी।

पीलीभीत: लूट की घटना का 12 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा

यूपी के पीलीभीत जनपद के सुनगढ़ी थाना क्षेत्र में बीते दिन हुई पर्स लूट की घटना का पुलिस ने 12 घंटों में ही खुलासा कर दिया है। बता दें कि यह खुलासा एक बार फिर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर किया है। बीते दिन कल दोपहर पैरा कमांडो की पत्नी ज्योति वर्मा अपने घर से किसी काम के लिए बाजार जाने को निकली थी कि रास्ते में तेज रफ्तार मोटरसाइकिल सवार ने उनसे पर्स लूट कर भाग निकले।


घटना की सूचना पर मौके पर पहुँची स्थानीय पुलिस सीओ सहित एसपी किरीट राठौर ने घटनास्थल का जायजा लिया। इसके बाद पुलिस ने लूट की घटना को गंभीरता से लिया और 2 टीम को इस लूट का वर्कआउट करने के लिए लगाया।

वहीं एक टीम ने शहर में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया। जिससे उनको कामयाबी हाथ लगी और इस आधार पर उन्होंने फैसल नाम के लुटेरे को धर दबोचा है।

बताया जा रहा है कि फैसल उत्तराखंड के देहरादून में रहता है और यहां पर सदर कोतवाली इलाके में अपने किसी रिश्तेदार के यहां आया था और उसने इस घटना को अंजाम दे दिया। फिलहाल पुलिस ने लूटा हुआ माल बरामद कर लिया है। इस गुड वर्क पर पीड़ित ज्योति वर्मा ने भी पुलिस की तारीफ की है।

अमेठी: संदिग्ध परिस्थितियों में सपेरे की मौत

जनपद में एक सपेरे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर जांच पड़ताल कर रही है। बताया जा रहा है कि सपेरे ने सांप पकड़ने के बाद उसे खाना शुरू कर दिया था, इसी के बाद उसकी हालत बिगड़ गई थी। वहीं सपेरे का सांप पकड़कर उसे खाते हुए का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

जानकारी के अनुसार जिले के बाजार शुकुल थाना क्षेत्र के खालिस बाहरपुर निवासी बृजमोहन पाण्डेय (30) पुत्र राम बरन पाण्डेय सांप पकड़ने का काम करता था। थोड़े ही समय में वो अपनी इस कला के लिए आसपास के क्षेत्रों में काफी मशहूर हो गया। दो दिन पूर्व भी वो जिले के तिलोई तहसील अंतर्गत शिवरतनगंज थाना क्षेत्र के अहोरवा भावनी कस्बे में भी सांप को पकड़ने पहुंचा था। स्थानीय लोगों का कहना है कि उसने सांप को पकड़कर उसे खाना शुरू कर दिया, जिस पर वहां मजमा जमा हो गया था। इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है।

जैसे-तैसे वह वहां से निकल गया, लेकिन रात में वह मंदिर के पास अचेता अवस्था में देखा पाया गया। ग्रामीणों ने 108 एम्बुलेंस से उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सिंहपुर पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसका इलाज शुरू किया लेकिन कुछ घंटों के बाद उसने दम तोड़ दिया। शिवरतनगंज थाने के प्रभारी निरीक्षक धीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि अस्पताल से शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

अंबेडकरनगर: शिक्षक को दिन दहाड़े मारी गोली, मौत

भीटी थाना क्षेत्र में दिन दहाड़े बदमाशों ने स्कूल से घर लौट रहे शिक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी। मोटर साइकिल सवार बदमाशों ने शिक्षक को कई गोलियां मारी। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश फरार होने में सफल रहे। जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत थरियाकला के पहली मिश्र का पूरा निवासी रमाशंकर मिश्र 52 पुत्र रामनायक मिश्र सुल्तानपुर जिले के जयसिंहपुर थानान्तर्गत प्राथमिक विद्यालय वेरमलपुर में सहायक अध्यापक के पद पर कार्यरत थे।


शनिवार को विद्यालय बन्द कर घर वापस आते समय जब वह इटवा गांव के जंगल के पास पंहुचे तो उसी दौरान पीछे से आये मोटर साइकिल सवार बदमाशों ने उन्हें रोक कर उन पर ताबड़तोड़ फायर झोंक दिया। बताया जाता है कि रमाशंकर मिश्र को तीन गोलियां लगीं। गोली लगते ही वह वहीं पर गिर पड़े तथा बदमाश भागने में सफल रहे। गोली की आवाज सुनकर जुटे स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पंहुची 112 डायल की गाड़ी से घायल रमाशंकर को जिला अस्पताल भेजा गया जहां जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

घटना के पीछे का कारण क्या रहा, यह तो अभी स्पष्ट नहीं हो सका है, लेकिन लोग इसके पीछे उनकी शादी से जुड़े विवाद को प्रमुख कारण मान रहे हैं। परिजनों के अनुसार अमेठी जिले के मुसाफिर खाना में तैनाती के दौरान उनकी पत्नी मोनी का निधन हो गया था। मोनी को एक पुत्र है जो ननिहाल में रहता है। पत्नी के निधन के कुछ समय उपरान्त उन्होंने सुल्तानपुर जिले के करिया बुधना गांव निवासी सुनीता पाण्डेय से शादी कर ली थी। लेकिन यह शादी भी डेढ़ दो साल के बाद टूट गई। लगभग तीन साल पूर्व उन्होंने तीसरी शादी की थी। मृतक की मौजूदा पत्नी के अनुसार करिया बुधना निवासी एक युवक लगभग एक सप्ताह पूर्व उनके स्कूल के इर्द-गिर्द काफी देर तक टहल रहा था, जिसकी जानकारी उन्होंने पत्नी को दी थी। संभावना जताई जा रही है कि घटना के तार इसी युवक से जुड़े हो सकते हैं।

शाहजहांपुर: अवैध शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़

शाहजहांपुर पुलिस ने अवैध शस्त्र फैक्ट्री का किया भंडाफोड किया है। पुलिस ने भारी मात्रा में निर्मित, अर्द्धनिर्मित शस्त्र और शस्त्र बनाने के उपकरण बरामद किये हैं। पुलिस ने अवैध शस्त्र फैक्ट्री चलने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार किया है जिसे कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।


दरअसल थाना कांट पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर राजपुर गुमटानी की ओर जाने वाले रास्ते पर झाड़ियों के पास से आरोपी शिवलाल को अवैध शस्त्र का निर्माण करते हुए गिरफ्तार किया है। उसके पास से पुलिस को मौके से तीन तमन्चे 315 बोर, 1 बन्दूक 12 बोर, 1 तमंचा 315 बोर अर्धनिर्मित, 2 बाडी अर्धनिर्मित 1 नाल 12 बोर, अर्द्धनिर्मित अवैध शस्त्र और शस्त्र बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं। आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह 315 बोर का तमंचा 4000 से 4500 रुपये में और 12 बोर का तमंचा 2000 से 2500 रुपये तक में बेचता था। फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपी को जेल भेज दिया है।

पुलिस अधीक्षक शाहजहांपुर एस आनंद ने बताया कि कांट पुलिस ने अवैध शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने फैक्ट्री चला रहे एक आरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसके पास से भारी मात्रा में बने और अधबने असलहा बरामद हुए हैं। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर राजपुर गुमटानी की ओर जाने वाले रास्ते पर जंगल में छापेमारी की। छापेमारी के दौरान पुलिस ने फैक्ट्री चला रहे शिवलाल को गिरफ्तार किया है जिसके पास से तीन तमंचा एक बंदूक और अन्य उपकरण बरामद किए। पकड़ा गया आरोपी जनपद हरदोई के थाना पचदेवरा का रहने वाला है। फिलहाल पुलिस ने पकड़े गए आरोपी के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए उसे जेल भेज दिया है।

बहराइच: पिता के साथ इलाज कराकर लौट रहे मासूम पर तेंदुए ने किया हमला, मौत

कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के मोतीपुर रेंज में पिता के साथ इलाज कराकर वापस घर लौट रहे मासूम पर खूंखार तेंदुए ने हमला कर दिया। बेटे को तेंदुए के जबड़े से बचाने के लिए पिता गुहार लगाते हुए मासूम को उससे छुड़ाने की कोशिश करता रहा। काफी प्रयास के बाद मासूम को तेंदुए के कब्जे से छुड़ाया गया लेकिन अधिक रक्त बह जाने से इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। लोगों की सूचना पर पहुंची मोतीपुर पुलिस व वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकड़ने की काम्बिंग शुरू कर दी है।


कतर्निया घाट वन्यजीव प्रभाग के मोतीपुर वन रेंज में स्थित बढैय्या ग्राम के रहने वाले राम मनोरथ अपने बीमार बेटे को निजी चिकित्सक के यहां इलाज के लिए लेकर गए जब वो लोग वापस घर लौट रहे थे, तभी सड़क किनारे लगे गन्ने के खेत से निकले तेंदुए ने छह साल के मासूम अभिनंदन पर हमला बोल दिया। तेंदुए के अचानक हमले से घबराए पिता ने बेटे को बचाने के लिए चीख पुकार मचाते हुए खुद तेंदुए को भगाने के प्रयास में जुट गया। मासूम व उसके पिता की आवाज सुनकर ग्रामीण शोर मचाते हुए मौके पर पहुंचे जिसके बाद तेंदुआ मासूम को छोड़ खेत में भाग गया। ग्रामीणों ने घटना की सूचना मोतीपुर पुलिस व वन्य रेंज कार्यालय को देने के बाद मासूम को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वन अधिकारी ने बताया की तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाने के साथ ही वन विभाग की टीम काम्बिंग कर रही है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story