×

Baghpat News: बागपत में फिर बड़ा राजनीतिक उलटफेर, सुबह BJP ज्वाइन करने वालीं ममता किशोर ने की घर वापसी

Baghpat News: शनिवार सुबह भाजपा का दामन थामने वाली ममता किशोर ने एक बार फिर से रालोद में वापसी कर ली है।

Paras Jain

Paras JainReport Paras JainShreyaPublished By Shreya

Published on 26 Jun 2021 9:27 AM GMT

Baghpat News: बागपत में फिर बड़ा राजनीतिक उलटफेर, सुबह BJP ज्वाइन करने वालीं ममता किशोर ने की घर वापसी
X

सांसद डॉ सत्यपाल सिंह के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष ममता किशोर (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Baghpat News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जिले बागपत (Baghpat) में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को लेकर एक बार फिर राजनीतिक उलटफेर देखने को मिला है। दरअसल, यहां पर शनिवार सुबह भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थामने वालीं पंचायत अध्यक्ष उम्मीदवार ममता किशोर (Mamta Kishore) ने फिर से राष्ट्रीय लोकदल (RLD) में वापसी कर ली है। ममता अब रालोद से ही जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ेंगीं।

ममता ने घर वापसी पर प्रेस कॉन्फ्रेंस बयान दिया कि उन्हें भाजपा की सदयस्ता जबरन दिलाई गई थी। वहीं, बागपत में पल-पल बदल रही बाजी से राजनीतिक पंडित भी हैरान हैं। सुबह के समय भले ही राष्ट्रीय लोकदल को झटका लगा था लेकिन अब कही न कही भाजपा को भी बड़ा झटका लगा है। बता दें कि ममता किशोर ने बागपत कलक्ट्रेट में अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। वहीं भाजपा की ओर से बबली ने नामांकन कर दिया है।

सुबह बीजेपी की थी ज्वाइन

आपको बता दें कि शनिवार सुबह खबर आई कि रालोद की जिला पंचायत अध्यक्ष उम्मीदवार भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गई हैं। वार्ड 13 से जिला पंचायत सदस्य ममता किशोर पत्नी जय किशोर ने दिल्ली जाकर भाजपा का दामन थामा था। भाजपा सांसद डॉ सत्यपाल सिंह (Dr. Satyapal Singh) ने उन्हें भाजपा ज्वाइन कराई थी। डॉ सत्यपाल सिंह के साथ उनकी फोटो भी सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हुई थी, जबकि अब ममता का कहना है कि उन्हें जबरदस्ती सदयस्ता दिलाई गई थी।

ममता ने भाजपा नेताओं पर लगाए गंभीर आरोप

ममता किशोर व जय किशोर का कहना है कि जबरन उन्हें भाजपा की सदस्यता दिलवाई गयी थी लेकिन अब वो अपने घर वापसी आ गयी हैं। राष्ट्रीय लोकदल की ही वो उम्मीदवार हैं और क्षेत्र का विकास करेगी। बकायदा ममता किशोर ने बागपत में पार्टी कार्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और भाजपा नेताओं पर भी कई आरोप लगाए हैं। वहीं रालोद से पूर्व विधायक वीरपाल राठी का कहना है कि ममता किशोर को जबरन वहां ले जाया गया, उन्हें भाजपा की सदस्यता दिलाई गई। वहां उन्हें प्रताड़ित भी किया गया।

उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन व कुछ भाजपा नेताओं ने इन्हें जबरन बीजेपी का पट्टा पहनाकर तस्वीर लीं और इनका मोबाइल तक इनसे छीन लिया गया। जैसे तैसे ये लोग वहां से भागकर यहां तक आये। इनकी आस्था राष्ट्रीय लोकदल में ही है और इन्होंने आज लोकदल की तरफ से ही पर्चा दाखिल किया है।

शनिवार सुबह से बागपत की राजनीति में हो रही उथल पुथल से हर कोई हैरान है। ममता किशोर पत्नी जय किशोर वार्ड-13 से जिला पंचायत सदस्य हैं। सपा और रालोद ने ममता किशोर को सांझा उम्मीदवार घोषित किया था और ममता किशोर का भाजपा में जाने से निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा था। जिला पंचायत सदस्य चुनाव में भाजपा के 20 में से चार प्रत्याशी ही जीते थे। बागपत में जिला पंचायत अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित है।

भाजपा को बड़ा झटका

रालोद से ममता जयकिशोर और सपा से बबली देवी ही इस वर्ग से जीती थी। भाजपा के पास अध्यक्ष पद का प्रत्याशी भी नहीं था। लेकिन भाजपा सांसद ने बागपत में ऐसा चक्रव्यूह रचा कि कुछ दिन पहले सपा की बबली देवी भी भाजपा में शामिल हो गई थी। इसके बाद भाजपा और विपक्ष के बीच जमकर खींचतान चली। लेकिन शनिवार को नामांकन से ठीक पहले रालोद की प्रत्याशी ममता जयकिशोर भी पार्टी को एक बड़ा झटका देकर भाजपा में शामिल हो गई थी। अब लेकिन ममता द्वारा रालोद में घर वापसी होने पर बागपत की राजनीति एक बार फिर गर्मा गयी है और राष्ट्रीय लोकदल में ममता की घर वापसी से भाजपा को एक बड़ा झटका लगा है ।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story