×

UP Election 2022: बुढ़ाना में टिकैत का फैक्टर भी करेगा काम, देखें Newstrack की चुनाव रिपोर्ट

UP Election 2022: बुढ़ाना सीट पर राष्ट्रीय लोक दल ने अपने पुराने सिपहसालार और दो बार के विधायक रहे राजपाल सिंह बालियान (Rajpal Singh Balyan) को उतारा है। जबकि भाजपा (BJP) ने एक बार फिर से उमेश मलिक पर भरोसा जताया है।

UP Election 2022: Tikait factor will also work in Budhana
X

मुजफ्फरनगर: रालोद प्रत्याशी राजपाल सिंह बालियान, चौधरी नरेश टिकैत

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Election 2022: इस विधानसभा चुनाव (UP Vidhansabha Chunav 2022) में पश्चिमी यूपी की बुढ़ाना सीट (West UP Budhana seat) काफी हॉट सीट मानी जा रही है। बुढ़ाना सीट पर राष्ट्रीय लोक दल ने अपने पुराने सिपहसालार और दो बार के विधायक रहे राजपाल सिंह बालियान (Rajpal Singh Balyan) को उतारा है। जबकि भाजपा (BJP) ने एक बार फिर से उमेश मलिक पर भरोसा जताया है।

रालोद प्रत्याशी राजपाल सिंह बालियान (RLD candidate Rajpal Singh Balian) को भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत (BKU National President Chaudhary Naresh Tikait) ने समर्थन देने का ऐलान किया है और लोगों से उन्हें जिताने का आह्वान किया है। टिकैत के समर्थन के बाद अब बुढ़ाना सीट पर टिकैत परिवार की प्रतिष्ठा भी दांव पर लग गई है। इस संसदीय क्षेत्र से सांसद हैं भाजपा के संजीव कुमार बालियान। उन्होंने राष्‍ट्रीय लोक दलके अजित सिंह को हराया था।

पिछले विधानसभा चुनाव में बुढ़ाना विधानसभा सीट पर 67.14 फीसदी मतदान

बुढ़ाना विधानसभा सीट मुजफ्फरनगर जिले (Muzaffarnagar District) की छह विधानसभा सीटों में से एक है। पिछले विधानसभा चुनाव में यहां पहले चरण में मतदान हुआ था, जिसमें 67.14 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाले थे। 2017 के चुनाव में भाजपा के उमेश मलिक ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सपा के प्रमोद त्‍यागी को 13,201 मतों से हराया था। 2017 के चुनाव में भाजपा का वोट शेयर 40.6 प्रतिशत था, जबकि सपा का वोट शेयर 35.8 प्रतिशत था। तीसरे नंबर पर रही बसपा का वोट शेयर 12.46 प्रतिशत और चौथे नंबर पर रही रालोद का वोट शेयर 9.85 प्रतिशत था। यहां करीब 5 लाख मतदाता हैं।

यहीं है सिसौली गांव

बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र में सिसौली गांव भी आता है। सिसौली को किसानों की राजधानी भी कहा जाता है। सिसौली में ही किसान नेता महेंद्र सिंह टिकैत का जन्म हुआ था। बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र गन्ने की पैदावार के लिए भी पहचान रखता है। बजाज हिन्दुस्थान शुगर मिल भी इस इलाके में है। यहां से हिंडन नदी गुजरती है।बुढ़ाना सीट 2012 में अस्तित्व में आई थी और उसी साल पहली बार इस विधानसभा सीट के लिए चुनाव हुए थे।

पहले चुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नवाजिश आलम जीते थे जिन्होंने राष्ट्रीय लोक दल के राजपाल बालियान को हराया था। बहुजन समाज पार्टी के योगराज सिंह तीसरे स्थान और भारतीय जनता पार्टी के उमेश मलिक चौथे स्थान पर रहे थे। बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र का एक छोर बागपत और दूसरा शामली जिले से मिलता है। इस क्षेत्र में मुस्लिम, दलित, जाट, कश्यप, सैनी, त्यागी और पाल मतदाताओं की बहुलता है।

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2022, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2022

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story