×

UP में डेंगू और वायरल का कहर: रोजाना मौतें, जिलों के हाल खराब, KGMU, SGPGI और लोहिया संस्थान से भेजे गए डॉक्टर्स

UP Mein Dengue Aur Viral Ka Kahar: उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल से आधा प्रदेश जूझ रहा है। प्रदेश में लगातार मौते हो रही है। आइए जानते है क्या हैं जिलों के हालात?

Shashwat Mishra
Report Shashwat MishraPublished By Chitra Singh
Updated on: 7 Sep 2021 7:17 AM GMT
Dengue Aur Viral Fever
X

डेंगू और वायरल फीवर का कहर (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Mein Dengue Aur Viral Ka Kahar: उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल से आधा प्रदेश जूझ रहा है। लगभग हर जिले के अस्पतालों में रोगियों की लंबी कतारें हैं। कई जगहों से तो दिल को दहलाने वाले दृश्य सामने आ रहे हैं। प्रदेश में मौतों का सिलसिला भी नहीं रुक रहा। फिरोजाबाद, एटा, आगरा, बागपत, मैनपुरी और मथुरा में हालात बेहद खराब हैं। इसी के मद्देनजर सारे जिलों में टीमों का गठन किया गया है। राजधानी के भी वरिष्ठ डॉक्टरों की टीमें बनाकर अलग-अलग जिलों में भेजा गया है। क्या हैं जिलों के हालात? पेश है यह रिपोर्ट...

फिरोजाबाद में चार की मौत

डेंगू की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन सख्त हो गया है। जगह-जगह फॉगिंग,छिड़काव का कार्य हो रहा है। फॉगिंग गाड़ियों को डीएम, नगर आयुक्त और महापौर ने हरी झंडी दिखा दिया है। लेकिन, पिछले 20 दिनों से मरीजों की संख्या में कमी नहीं हुई है। वहीं, पिछले 24 घण्टों में चार लोगों की मौत हुई। स्थानीय लोगों के अनुसार- 'मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं मिल पा रहीं। कहीं 1 तो कही 2 बेड पर PHC संचालित हो रहे, जिसमें सुविधाएं नहीं हैं। 100 शैय्या में भीड़ है।' बता दें कि, लापरवाही पर 2 केंद्र प्रभारी बर्खास्त हो चुके हैं। वहीं, गंभीर मरीजों को जिला अस्पताल भेजा जा रहा है।

बागपत में 6 मौतें

बागपत जिले में तेजी से वायरल-बुखार बढ़ रहा है। बागपत में बुखार से अब तक 6 मौतें हुई हैं। सिंगोली तगा में बुखार से बच्चे की मौत हुई। फैजल्लापुर में बुखार के कई मरीज चिन्हित हुए। जिसके बाद, कैंप में मरीजों को दवाएं वितरित की गई।

लखीमपुर में मिले 300 मरीज़

लखीमपुर के फरधान सीएचसी में तीमारदारों और CHC स्टाफ में जमकर मारपीट हुई। इलाज में देरी का आरोप लगाते हुए मारपीट की घटना हुई। मामले में 5 लोगों के खिलाफ तहरीर दी गई। वहीं, कई इलाकों में बुखार से लोग परेशान हैं। तो, जांच के लिए जिले में 1357 टीमें लगाई गईं हैं। अस्पताल में एक दिन में 300 मरीज मिले।

अंबेडकर नगर में बेड फुल

अम्बेडकर नगर जिले में संक्रामक बीमारियों का कहर बढ़ गया है। अस्पतालों में मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है।बुखार के साथ दस्त के रोगियों से बेड फुल हो गए हैं। बढ़ते मरीजों से जिला अस्पताल में संकट आ गया।

अलीगढ़ में डेंगू और मलेरिया का कहर

अलीगढ़ के अस्पतालों में बुखार के मरीजों की लंबी कतारें लगी मिली। बता दें कि, अलीगढ़ जिले में 678 लोग बुखार से पीड़ित हैं। वहीं, 8 डेंगू और मलेरिया के 80 मरीज सामने आए।

अमेठी में मिला मरीज़

अमेठी के जंगल रामनगर गांव में डेंगू का मरीज मिलने से हड़कंप मच गया। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया और गांव में जांचें व दवा का छिड़काव कराने का काम हुआ।

लखनऊ में अब तक मिले 88 केस

राजधानी लखनऊ में डेंगू के 12 नए केस मिले हैं। बता दें कि, राजधानी में डेंगू के अबतक 88 केस सामने आए। जिनकी एलाइजा जांच के लिए मरीजों के नमूने भेज दिए गए हैं।

बदायूं में बुखार का कहर ढाई सौ बच्चे बीमार

जिले की ओपीडी में वायरल बुखार पीड़ितों की भीड़ बढ़ती जा रही है। जिला पुरुष अस्पताल में 1 हजार से अधिक पर्चा बने। महिला अस्पताल में बुखार के मरीजों की कतारें लग गई हैं। वहीं, दो गांवों में फिर फैल्सीपेरम के केस निकले। बता दें कि, बदायूं में 250 से ज्यादा बच्चे बीमार हैं। 906 जांचें RDT किट से हुई। इसमें 1159 लोगों की मलेरिया की जांच की गई। जिसमें से 39 लोगों की रिपोर्ट में पीवी मलेरिया पाया गया।

बाराबंकी में 1168 टीमें लगाई गई

बाराबंकी जिले में डेंगू और वायरल फीवर को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। अब बुखार के लक्षणों वाले मरीजों की स्क्रीनिंग होगी। जिले में स्वास्थ्य विभाग की 1168 टीमें लगाई गईं हैं। रैपिड रिस्पांस के लिए 150 टीमें निगरानी में जुटी हुई हैं। जिला अस्पताल में 14 बेडों के डेंगू वार्ड बनाए गए हैं। सभी CHC में 2-2 बेडों के वार्ड तैयार किए जा चुके हैं।

आगरा में नहीं घट रही संख्या

जिले के जिला अस्पताल में मरीजों की भारी भीड़ है। बुखार से कराहते बच्चों से अस्पताल भरा पड़ा है। करीब 3 हजार मरीजों को परामर्श दिया गया है। 2135 नए मरीज आए। करीब 900 पुराने मरीज हैं। आलम यह है कि बच्चों के लिए परिजनों को घंटों लाइन लगाना पड़ रहा है।

इन जिलों का रहा ये हाल:-

• मथुरा में डेंगू से 2 लोगों की हुई मौत।

• एटा और मैनपुरी में 2-2 मासूमों की हुई मौत।

• रायबरेली में 5 मरीज मिलने से हड़कंप।

• फर्रुखाबाद में 100 से ज्यादा बच्चे बीमार। तीन बच्चों की मौत।

केजीएमयू, एसजीपीजीआई और लोहिया संस्थान से भेजी गई टीमें

डेंगू के बढ़ते मामलों को देखते हुए शासन द्वारा टीमें गठित कर अलग-अलग जिलों में भेजी गई हैं। राजधानी के लोहिया संस्थान, एसजीपीजीआई और केजीएमयू से तीन-तीन डॉक्टरों की टीम बनाकर फिरोजाबाद, मथुरा और आगरा जिलों में भेजा गया है। स्वास्थ्य टीमें प्रभावित क्षेत्रों में स्क्रीनिंग का काम कर रही हैं।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story