×

UP MLC Election 2022: सपा 'स्वामी' को देगी प्रसाद, अरविंद राजभर भी जा सकते हैं विधान परिषद

UP MLC Election 2022: सपा प्रमुख अखिलेश यादव बीजेपी छोड़कर उनके साथ आए पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और राम गोविन्द चौधरी को विधान परिषद भेज सकते हैं।

Rahul Singh Rajpoot
Published on: 4 Jun 2022 2:18 PM GMT
UP MLC Election 2022: सपा स्वामी को देगी प्रसाद, अरविंद राजभर भी जा सकते हैं विधान परिषद
X

स्वामी प्रसाद मौर्य-अरविंद राजभर (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP MLC Election 2022: उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की 13 सीटों पर 20 जून को मतदान होना है। प्रत्याशियों को लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) और मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) मंथन कर रही है। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) बीजेपी छोड़कर उनके साथ आए पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) और राम गोविन्द चौधरी (Ram Govind Chaudhary) को विधान परिषद भेज सकते हैं। इसके साथ ही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर (Arvind Rajbhar) को भी विधान परिषद भेज सकते हैं। यह दोनों नेता विधानसभा का चुनाव हार गए थे।

बता दें ओम प्रकाश राजभर इस बार सपा के साथ मिलकर विधानसभा का चुनाव लड़े थे। उनकी पार्टी के 9 विधायक हैं बाकी सपा के सहयोग से अरविंद राजभर विधान परिषद जा सकते हैं। जबकि समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य कुशीनगर की फाजिलनगर सीट से चुनाव हार गए थे. विधानसभा चुनाव घोषित होने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़कर साइकिल की सवारी कर ली थी. चुनाव नतीजों आए तो उन्हें करारी शिकस्त मिली। उसके बाद से स्वामी प्रसाद मौर्य साइड लाइन हो गए हैं। अब उन्हें विधानपरिषद भेजने की खबरें आ रही हैँ। कहा जा रहा है कि अखिलेश यादव उन्हें एमएलसी बनाकर उनका सम्मान बढ़ा सकते हैं।

केंद्रीय चुनाव आयोग ने यूपी में 11 राज्यसभा, 2 लोकसभा उपचुनाव के साथ ही 13 विधान परिषद सीटों पर चुनाव का शेड्यूल जारी कियाथा। राज्यसभा में सभी उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए हैं। अब रामपुर, आजमगढ़ सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान होंगे उसके साथ ही 13 विधान परिषद सीटों पर भी वोटिंग 20 जून होगी और शाम को नतीजे भी घोषित किए जाएंगे।

यूपी विधानसभा का समीकरण

13 विधान परिषद की सीटों पर होने वाले मतदान में 8 पर बीजेपी और 4 पर समाजवादी पार्टी की जीत तय है। 13वीं सीट को लेकर दोनों दलों में जोर आजमाइश होगी। बीजेपी जहां नौवीं सीट जीतना चाहेगी तो वहीं सपा पांचवीं सीट के लिए दमखम भरेगी। 403 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी गठबंधन के साथ 273 और सपा गठबंधन के 125 विधायक हैं। इस हिसाब से 8-4 आंकड़ा तय है। 13वीं सीट के लिए दोनों दल गणित बैठएंगे। एमएलसी चुनाव में एक सीट के लिए करीब 31 विधायकों की जरूरत होती है।

बीजेपी-सपा के अलावा जनसत्ता दल के दो, कांग्रेस के दो और एक बहुजन समाज पार्टी का विधायक है। इन 5 विधायकों का रोल भी अहम होगा कि यह किसके पक्ष में मतदान करते हैं। सपा को क्रॉस वोटिंग का भी डर है। हालांकि राजा भैया की पार्टी पहले भी बीजेपी के पक्ष में मतदान कर चुकी है ऐसे में उनका बीजेपी के साथ रहना लगभग तय है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story