Top

पंचायत चुनाव: पीठासीन अधिकारी पद पर महिलाओं का दबदबा, कल पहले चरण का मतदान

मतदान केंद्रों पर सुरक्षा को लेकर एसपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Neena Jain

Neena JainReport By Neena JainShivaniWritten By Shivani

Published on 14 April 2021 10:03 AM GMT

पंचायत चुनाव प्रथम चरण मतदान
X

पंचायत चुनाव Photo-social media

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के प्रथम चरण के लिए गुरूवार को मतदान होने हैं। मतदान की तैयारियां पूरी हो गयीं हैं। पंचायत चुनाव सकुशल सम्पन्न कराने के लिए पोलिंग पार्टी उन जिलों के लिए रवाना हो गयीं हैं, जहां कल मतदान होने हैं। इसी कड़ी में सहारनपुर के अलग अलग बूथों के लिए पोलिंग पार्टियां कड़ी सुरक्षा के बीच रवाना हुईं।

दरअसल, सहारनपुर में कल पंचायत चुनाव के प्रथम चरण के लिए मतदान होने हैं। पुलिस प्रशासन की प्राथमिकता है सकुशल और शांतिपूर्ण तरीके से कोरोना गाइडलाइन के बीच चुनाव सम्पन्न कराना। इसके लिए पुलिस टीम ने जिले में संवेदनशील और अतिसंवेदनशील बूथों को चिन्हित कर अलग से फोर्स तैनात कर दी है। मतदान केंद्रों पर वीडियोग्राफी की भी व्यवस्था की गई है। इसके अलावा भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गयी है।

मतदान केंद्रों पर सुरक्षा को लेकर एसपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अराजक और शरारती तत्वों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने कहा कि हमारी प्राथमिकता शांतिपूर्वक ढंग से निष्पक्ष पूर्ण चुनाव संपन्न कराना है। मतदान के दौरान सभी वरिष्ठ अधिकारी मतदान केंद्रों और बूथो का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहेंगे।


बता दें कि सहारनपुर के 11 विकास खंडों में कल 1336 मतदान केंद्रों पर चुनाव होगा। पुलिस प्रशासन ने इसे 113 सेक्टर में बांटा है। 11 विकास खंडों से 3283 पोलिंग पार्टियां मतदान केंद्रों के लिए रवाना हो रही हैं। 328 पोलिंग पार्टियों को रिजर्व में रखा गया है। एक पोलिंग पार्टी में 4 सदस्य हैं, जिसमें एक पीठासीन अधिकारी और तीन साहिब पीठासीन अधिकारी हैं। पोलिंग पार्टियां अपने मतदान केंद्र पर पहुंच कर व्यवस्थाओं को संभालेंगी।

कुल 1336 मतदान केंद्र और 3283 बूथ

मतदान केद्रों की बात करें तो जिले के 11 विकास खंडो मे सढौली कदीम में 105 मतदान केंद्र और 249 बूथ हैं।

मुजफ्फराबाद ब्लॉक में 142 मतदान केंद्र और 401 बूथ हैं।

सरसावा ब्लाक में 137 मतदान केंद्र 352 बूथ हैं।

देवबंद ब्लॉक में 106 मतदान केंद्र और 295 बूथ हैं।

भूत रामपुर मनिहारान ब्लॉक में 77 मतदान केंद्र और 197 बूथ हैं।

नानौता में 79 मतदान केन्द्र और 233 बूथ हैं।

नागल मे 116 मतदान केंद्र और 307 बूथ हैं।

द्वारका में 117 मतदान केंद्र और पूर्व 323 बूथ हैं।

बलिया खेड़ी में 115 मतदान केंद्र और 302 बूथ हैं।

नकुड में 112 मतदान केंद्र और 287 बूथ हैं।

वहीं गंगोह मे 130 मतदान केंद्र और 337 बूथ है।

सहारनपुर में 18 लाख 54 हजार 991 मतदाता

जिले में 18 लाख 54 हजार 991 मतदाता इस त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अपने मतों का प्रयोग कर अपना नेता चुनेंगे। विकासखंड रामपुर मनिहारान में 113820 मतदाता, सढौली कदीम में 143336 , देवबंद में 164148 , नानौता में 131800 ,सोलह मुजफ्फराबाद में 215906 ,सरसावा में 189355, नकुड में 160825, पुवांरका में 187737, गंगोह मे 209102, बलिया खेड़ी ब्लाक में 168059, और नागल ब्लॉक में 170887 मतदाता अपने-अपने बूथों पर अपने मत का प्रयोग करेंगे।

कोरोना गाइडलाइन का पालन

कोविड-19 के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए शांतिपूर्वक ढंग से शांत मतदान संपन्न कराना जनपद के अधिकारियों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि पोलिंग पार्टियों को समय से रवाना किया जा रहा है, ताकि वे अपने बूथों पर पहुंचकर अपनी जिम्मेदारी को समझ लें। किसी भी तरह के उन्हें परेशानी ना हो। नगर मजिस्ट्रेट एसके सोनी ने बताया कि पोलिंग पार्टियों के रवाना होने में कोविड-19 के नियमों का पालन भी जा रहा है।


महिलाओं को सर्वाधिक संख्या में पीठासीन अधिकारी बनाया गया

इस बार महिलाओं को सर्वाधिक संख्या में पीठासीन अधिकारी बनाया गया है, हालांकि महिलाओं ने इसका विरोध करते हुए पीठासीन अधिकारी के पद से हटाए जाने की मांग की थी, लेकिन प्रशासन ने महिलाओं की इस मांग को मानने से इनकार कर दिया। यह पहली बार है, जब महिलाओं को इतनी बड़ी संख्या में पीठासीन अधिकारी बनाया गया है।

Shivani

Shivani

Next Story