बिहार के शराब तस्कर! इशारे पर हत्या कर लूट लेते थे कार

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने आज एक पत्रकार वार्ता कर बताया कि बिहार के शराब तस्कर अतुल सिंह के इशारे पर गिरफ्तार किए गए अपराधियों देशराज सिंह उर्फ छोटू, कमल मिश्रा और मिथिलेश पाण्डेय ने 15 जुलाई को पॉलिटेक्निक चौराहे से हाण्डा इमेज कार को

लखनऊ: लखनऊ की क्राइम ब्रांच, सरोजनीनगर थाने की पुलिस टीम ने गुरुवार को कार लूट के लिए कार चालक की हत्या करने वाले तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

ये अपराधी कार को लूटकर बिहार के शराब तस्कर को बेच देते थे, उधर से इशारा होने पर लगातार घटनाएं कर रहे थे।

की पत्रकार वार्ता…

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने आज एक पत्रकार वार्ता कर बताया कि बिहार के शराब तस्कर अतुल सिंह के इशारे पर गिरफ्तार किए गए अपराधियों देशराज सिंह उर्फ छोटू, कमल मिश्रा और मिथिलेश पाण्डेय ने 15 जुलाई को पॉलिटेक्निक चौराहे से हाण्डा इमेज कार को चार हजार रुपये में बुक कराया और देवा रोड पर उसके चालक की हत्या कर कार लूटकर गाजीपुर जिले के भांवरकोल ले जाकर खड़ी कर दी। जहां से बाद में शराब तस्कर अतुल सिंह को यह कार दो लाख रुपये में बेच दी गई।

इसके साथ ही नैथानी ने बताया कि इसके बाद अतुल सिंह को बलिया में तस्करी के मामले में वहां की पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वाहन की जांच शुरु हुई तो तीनों अपराधियों के कुछ सहयोगी मोनू यादव, मनोज यादव और शरद सिंह महाराष्ट्र भाग गये।

इसके बाद इस मामले में लगाई गई क्राइम ब्रांच की टीम ने तार जोड़ने शुरु किये तो तीनों अपराधियों की लोकेशन सरोजनीनगर में मिल गई। इसके बाद संबंधित थाने की फोर्स की मदद से क्राइम ब्रांच ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने बताया कि शातिर किस्म के इन अपराधियों के पास से लूटी गई हाण्डा इमेज कार, लूटी गई टीयूवी वाहन, दो मोटरसाइकिलें, दो तमंचा और चार मोबाइल बरामद किया गया है।

इसके साथ ही देवा रोड की घटना का खुलासा भी हो गया है। पूरे घटनाक्रम में इसके तार गाजीपुर के भांवरकोल और बलिया के रसड़ा थानों से जुड़े हुए हैं। इससे कई और राज भी खुलेंगे।