×

UP Election 2022: आप की 'बिजली' ने भाजपा समेत सभी दलों की नींद उड़ाई

UP Election 2022: दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्ता में आने पर आम आदमी पार्टी की सरकार राज्य के सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली देगी।

Shreedhar Agnihotri
Written By Shreedhar AgnihotriPublished By Monika
Updated on: 17 Sep 2021 9:37 AM GMT
UP Election 2022: आप की बिजली ने भाजपा समेत सभी दलों की नींद उड़ाई
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव ( UP Vidhansabha chunav) के पहले विपक्षी दलों सपा (SP) , बसपा (BSP) व कांग्रेस (Congress) के अलावा आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की 'बिजली' (Bijli) की कड़कड़ाहट ने सत्ताधारी भाजपा (BJP) की नींद हराम कर दी है। मध्यम वर्ग के लिए मंहगी बिजली की समस्या के निदान के लिए राज्य में सरकार बनने पर सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने के अलावा 38 लाख परिवारों पर बकाया बिजली का बिल (electricity bill) माफ करने की आप की घोषणा ने विपक्ष को भाजपा पर हमलावर होने का एक बड़ा हथियार दे दिया है। उम्मीद की जा रही है कि आम आदमी पार्टी की तरह ही अब सपा बसपा और कांग्रेस भी कुछ इसी तरह की 'लालीपाप' अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल कर सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्ता में आने पर आम आदमी पार्टी की सरकार राज्य के सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली (300 unit free electricity) देगी। इसके अलावा सरकार छोटी-बड़ी सभी तरह की जोत वाले किसानों को मुफ्त बिजली उपलब्ध कराएगी। खास बात यह कि देश के अन्य राज्यों के मुकाबले सबसे महंगी बिजली उत्तर प्रदेश में ही है।

पिछले एक साल से विकास दुबे कांड (vikas dubey scandal) के बाद से आम आदमी पार्टी लगातार सशक्त विपक्ष की भूमिका में दिख रही है। एक साल से यूपी में डेरा जमाए राज्य सभा सदस्य डॉ. संजय सिंह लगातार संगठन को मजबूत करने का काम कर रहे हैं। पिछले साल तो विधानसभा में उस समय हडकम्प मच गया था, जब उत्तर प्रदेश में कथित रूप से ब्राम्हणों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाने को लेकर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने गुपचुप ढंग से विधानसभा पहुंचकर विधानसभा की कार्यवाही देखने के बाद कहा था, "एसटीएफ स्पेशल टास्क फोर्स न होकर 'स्पेशल ठाकुर फोर्स' बन गयी है।" इसके बाद काफी हो हल्ला हुआ था।

सीएम योगी (फोटो : Newstrack)

संजय सिंह की बढ़ती दखलंदाजी पर सीएम योगी ने दिया था जवाब

आम आदमी पार्टी के राज्य सभा सांसद तथा प्रदेश प्रभारी संजय सिंह की बढ़ती दखलंदाजी को लेकर ही विधानसभा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) कह चुके हैं कि दिल्ली (Delhi) से आए कुछ नमूने इन दिनों प्रदेश की राजनीति में सक्रिय होकर राज्य सरकार पर अनावश्यक टीका टिप्पणी कर रहे है। अब हम उन्हें क्या बताए हमने क्या-क्या किया। मुख्यमंत्री योगी अपनी सरकार के काम काज पर दिल्ली और यूपी के आंकड़ों के साथ ही पिछले साल विधानसभा में कई अन्य उदाहरण भी पेश कर चुके हैं।

उधर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) पहले भी कई बार कह चुके हैं कि यूपी ने अब तक गंदी राजनीति देखी है। ऐसे में अब उसे नया मौका मिलना चाहिए। देश के सबसे बड़े राज्य में अच्छी सुविधाएं क्यों नहीं हो सकती हैं। केजरीवाल ने सवाल किया है कि आखिर यूपी में मोहल्ला क्लीनिक, मुफ्त बिजली, मुफ्त पानी क्यों नहीं मिल सकता है। इसलिए कहा जा रहा है कि केजरीवाल की इस घोषणा का उन्हे विधानसभा चुनाव में लाभ मिल सकता है।

गठबंधन को अपना समर्थन देने को तैयार

आप के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह (Sanjay Singh) भी कह चुके हैं कि उनकी पार्टी भाजपा को हराने के लिए किसी भी गठबंधन को अपना समर्थन देने को तैयार है। यूपी में अगर सपा-बसपा और आरएलडी का गठबंधन बनता है तो आम आदमी पार्टी उसे समर्थन करेगी।

यहां यह भी बताना जरूरी है कि प्रदेश में योगी सरकार (Yogi Sarkar) के गठन के बाद जब नगर निकाय के चुनाव हुए थें तो आम आदमी पार्टी ने नगर निगम पार्षद की तीन, नगर पंचायत अध्यक्ष की दो नगर पंचायत सदस्य की 18 और नगर पालिका परिषद सदस्य की 13 सीटों पर दर्ज की थी।

Monika

Monika

Next Story